चित्तौड़गड़ फोर्ट फेस्टिवल-विरासत को सहेजने एवं अधिकाधिक पर्यटकों को आकर्षित करने का संकल्प

चित्तौड़गड़ फोर्ट फेस्टिवल-विरासत को सहेजने एवं अधिकाधिक पर्यटकों को आकर्षित करने का संकल्प

Sun 10 Feb 19  6:08 pm

चित्तौड़गढ़, हलचल। । विश्व विरासत स्थल चित्तौड़गढ़ दुर्ग की एतिहासिक थाति के साथ स्थानीय संस्कृति के अंग, लोककलाओं, हस्तशिल्प, गीत-संगीत, नृत्य एवं प्राकृतिक पर्यटन स्थलों के संरक्षण-संवर्धन और अधिकाधिक पर्यटकों को चित्तौड़गढ़ आकर्षित करने के संकल्प के साथ तीन दिवसीय चित्तौड़गढ़ फोर्ट फेस्टिवल का शुभारंभ रविवार को शहर के गोरा बादल स्टेडियम में हुआ। इस मौके पर राजस्थान सरकार के सहकारिता एवं इंदिरा गांधी नहर परियोजना मंत्री उदयलाल आंजना खास मेहमान के रूप में उपस्थित थे। 

शुभारंभ के मौके पर सहकारिता मंत्री श्री आंजना सहित जिला कलक्टर श्रीमती शिवांगी स्वर्णकार, जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल, चित्तौड़गढ़ विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या, पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत ने दीप प्रज्जवलन के बाद बड़ी संख्या में उपस्थित विदेशी पर्यटकों का मोली बंधनकर, पगड़ी पहनाई एवं उपरना ओढ़ाकर स्वागत किया। अतिथियों ने गोरा बादल स्टेडियम में ही लगाये गये मेवाड़ उद्योग एवं हस्तशिल्प मेले का फीता काटकर उद्घाटन किया। इसके बाद मेवाड़ी आन-बान-शान के प्रतीकों से सजी विशाल शोभायात्रा को मुख्य अतिथि ने मोली बंधन खोलकर रवाना किया। मंत्री आंजना ने कब्बडी के खिलाडि़यो से परिचय प्राप्त किया। पद्मश्री महेश सोनी एवं एवरेस्ट पर्वतारोही दल के सदस्य रहे मगन बिस्सा एवं डॉ. सुषमा बिस्सा फोर्ट फेस्टिवल के उद्घाटन के अवसर पर खासतौर से उपस्थित थे। 
समारोह में अतिरिक्त कलक्टर (प्रशासन) दीपेन्द्र सिंह राठौर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंकित कुमार सिंह, प्रशिक्षु आईएएस सुशील शर्मा, अतिरिक्त कलक्टर (भू.अ.) चन्द्रभान सिंह भाटी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपीन शर्मा, उपवन संरक्षक एस.पी. सिंह, यूआईटी सचिव सी.डी. चारण, जिला रसद अधिकारी ज्ञानमल खटीक, उपखण्ड अधिकारी विनोद कुमार, सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी, चित्तौड़गढ़ नगर परिषद् सभापति सुशील शर्मा सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधिगण, विभिन्न समाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि एवं शहर व जिलावासी उपस्थित थे। 
पर्यटन और रोजगार को मिलेगा बढ़ावा - आंजना 
फोर्ट फेस्टिवल के मौके पर मीडिया के साथ अनौपचारिक बातचीत करते हुए सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि चित्तौड़गढ़ विश्व धरोहर है। चित्तौड़गढ़ दुर्ग की ख्याति पूरे विश्व में है। इस आयोजन से यहां की विरासत की ख्याति और बढ़ेगी, जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। जब पर्यटन बढ़ेगा तो स्थानीय आमजन, व्यापार, व्यवसाय को भी इसका फायदा होगा। उन्होंने चित्तौड़गढ़ जिले के व्यवसायियों से अपील करते हुए कहा कि अपनी होटलों आदि को देशी-विदेशी पर्यटकों की सुविधाओं के अनुकुल बनाए ताकि पर्यटक कुछ घंटों में चित्तौड़गढ़ घुमकर लौट जाने की बजाय यहां ठहरे। 
उन्होंने कहा कि हमें जिले के प्राकृतिक एवं पुरातात्विक महत्व के स्थलों, स्मारकों का भी समूचित विकास करने की और ध्यान देना चाहिए। इससे सैलानी दुर्ग के साथ-साथ जिले के विभिन्न स्थलों का लुफ्त उठा सकेंगे। पर्यटकों की संख्या में वृद्धि से हमारी ख्याति तो बढ़ेगी ही हमारे रोजगार में वृद्धि से आर्थिक समृद्धि भी संभव होगी। पहलीे बार हो रहे इस आयोजन का बड़ा महत्व है। उन्होंने जिला प्रशासन की इस अच्छी शुरूआत की प्रशंसा की।  
हॉट एयर बेलुन में अतिथियों ने की आसमान की सैर
फोर्ट फेस्टिवल के मौके पर पर्यटकों एवं शहरवासियों को हॉट एयर बेलुन में बैठकर आसमान की सैर करने का अद्भुत मौका मिला। गोरा बादल स्टेडियम में बड़ी संख्या में पहुँचे लोगों ने बेलुन में बैठकर आसमान की उड़ने की अपनी हसरत पुरी की। समारोह में आए सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, जिला कलक्टर श्रीमती शिवांगी स्वर्णकार, जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल भी बेलुन में उड़ने का लोभ, संवरण न कर पाए और उन्होंने भी उड़ान भरी। हॉट एयर बेलुन में उड़ने का यह मौका फोर्ट फेस्टिवल के तहत अगले 2 दिनों तक और मिलता रहेगा।
 

11 फरवरी को फेस्टिवल के मुख्य आकर्षण 
चित्तौड़गढ़ हलचल। । चित्तौड़गढ़ फोर्ट फेस्टिवल के दुसरे दिन सोमवार को रन फोर फोर्ट के साथ चित्तौड़गढ़ की प्रतिभाओं से सजी सांस्कृतिक संध्या का आयोजन मुख्य आकर्षण होगा। इसके साथ ही पहले दिन शुरू हुए कबड्डी एवं कुश्ती प्रतियोगिता के मुकाबले गोरा बादल स्टेडियम में, विदेशी पर्यटकों के लिए मनोरंजक प्रतियोगिताएं, टैलेन्ट ऑफ चित्तौड़गढ़ के तहत एकल नृत्य के सर्वश्रेष्ठ तीन प्रतिभागियों के चयन हेतु आयोजन, पतंगबाजी फतह प्रकाश में व आतिशबाजी के साथ हॉट एयर बेलुन में सैर का आकर्षण गोरा बादल स्टेडियम में जारी रहेगा। 

रन फोर फोर्ट मैराथन
सोमवार को रन फोर फोर्ट प्रातः 8ः30 बजे दुर्ग स्थित विजय स्तंभ से प्रारंभ होगी। करीब 9 किलोमीटर की यह मैराथन कालिका माता मंदिर, पद्मिनी पैलेस, नाग चंडेश्वर मंदिर, चतरंग तालाब, मृगवन, भीमलत, सूरजपोल, कीर्ति स्तंभ, लाखोटा बारी, रामपोल, फतह प्रकाश होती हुई विजय स्तंभ पर सम्पन्न होगी। पंजीकृत प्रथम एक हजार धावकों को प्रातः 7 बजे आयोजन समिति द्वारा टी-शर्ट वितरण किये जाएंगे। धावकों को कलक्ट्रेट से दुर्ग पर ले जाने के लिए प्रातः 7 बजे से कलक्ट्रेट पर वाहन सुविधा उपलब्ध रहेगी। मैराथन के पुरूष एवं महिला वर्ग में प्रथम, द्वितीय व तृतीय विजेता को क्रमशः 5 हजार, 3 हजार व 2 हजार रुपये का नकद ईनाम दिया जायेगा। 

स्थानीय प्रतिभाओं से सजेगी सांस्कृतिक संध्या टैलेन्ट ऑफ चित्तौड़गढ़ के तहत जिले के 11 ब्लॉकों से एवं जिले पर चयनित एकल एवं समूह नृत्य के सर्वश्रेष्ठ 6 प्रतिभागी अपनी प्रस्तुति 11 फरवरी को गोरा बादल स्टेडियम में सायं 7 बजे आयोजित सांस्कृतिक संध्या में देंगे। उल्लेखनीय है कि 11 ब्लॉकों के 46 समूह नृत्य प्रतिभागियों में से सर्वश्रेष्ठ तीन प्रतिभागी समूहों का चयन फतह प्रकाश मंच पर 10 फरवरी को किया गया है, जबकि एकल नृत्य के 48 प्रतिभागियों में से सर्वश्रेष्ठ तीन का चयन 11 फरवरी को ही दिन में फतह प्रकाश में किया जायेगा। इनके साथ ही विभिन्न संस्थाओं की 8 प्रस्तुतियां भी चित्तौड़गढ़ की विरासत का प्रदर्शन करेंगी। इनमें शास्त्रिय नृत्य के माध्यम से सरस्वती वंदना, राजस्थानी गीत-संगीत के जरिए पधारो म्हारे देश द्वारा स्वागत, पन्नाधाय के महान बलिदान पर आधारित नाटिका, मीरा के भजनों पर नृत्य एवं कृष्ण के विविध स्वरूपों के साथ मीरा का नृत्य, चित्तौड़गढ़ के वीर-विरांगनाओं पर आधारित नाटिका, राजस्थान की लावण्यमयी धरा का स्तुति गान धरती धोरा री, महाराणा प्रताप के जीवन पर आधारित नृत्य नाटिका और बाबा रामदेव को समर्पित लोकनृत्य तेरह ताली का प्रदर्शन भी होगा। सांस्कृतिक संध्या के बाद रात्रि 9ः30 बजे गोरा बादल स्टेडियम में भव्य आतिशबाजी भी होगी।