पटरियों के बाद अब गुर्जर सड़क पर, कई जिलों में फैला आंदोलन

पटरियों के बाद अब गुर्जर सड़क पर, कई जिलों में फैला आंदोलन

Mon 11 Feb 19  8:26 pm

जयपुर,  । पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर आंदोलनकारी लगातार सोमवार को चौथे दिन भी सवाई माधोपुर के मलारना डूंगर में दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर डटे रहे। इसी के साथ आंदोलन अब पटरियों से सड़क पर आ गया और जयपुर-आगरा हाइवे के साथ ही गुर्जरों ने राजस्थान के कई जिलों में सड़कें जाम कर सड़क यातायात भी रोक दिया।

राजस्थान के जयपुर, दौसा, सवाई माधोपुर, करौली, धौलपुर, भरतपुर, अलवर, अजमेर, भीलवाडा, बूंदी आदि जिलों में अब इस आंदोलन का असर नजर आ रहा है। रविवार को धौलपुर में आंदोलन के हिंसक होने के बाद एहतियात के तौर पर भरतपुर जिले में भी धारा-144 लगा दी गई है। दौसा और करौली में धारा-144 पहले ही लागू की जा चुकी है।

गुर्जर समाज और सरकार में शनिवार को हुई वार्ता के बाद अभी तक वार्ता की कोई सूरत नजर नहीं आ रही है। गुर्जर नेता कर्नल किरोडी सिंह बैंसला अपने आंदोलनकारियों के साथ मलारना डूंगर में ही पटरियों पर जमे हुए हैं। उधर, आंदोलन की रणनीति के तहत सोमवार को विभिन्न जिलों में गुर्जर समाज की पंचायतें हुईं और रास्ते रोके गए। इस मामले में सबसे बड़ा असर जयपुर-‘आगरा हाइवे पर दिखा। दौसा के पास सिंकदरा चौराहे पर गुर्जरों ने जाम लगा दिया। इसके चलते अब जयपुर से आगरा के बीच सड़क याातायात बंद हो गया है और लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसकी घोषणा रविवार को ही कर दी गई थी। सोमवार को दोपहर बाद गुर्जरों ने यहां बाजार बंद करवा कर जाम लगा दिया। 

 

इन जगहों पर भी लगा जाम 

- धौलपुर के पास भूतेश्वर पुल पर गुर्जर समाज के लोगों ने बाड़ी-बसेड़ी मार्ग जाम कर दिया। इन लोगों ने हाइवे पर बैठकर लोग प्रदर्शन किया।र - करौली-हिंडौन मार्ग पर भी लगातार तीसरे दिन जाम जारी रहा, जिससे इस मार्ग पर यातायात पूरी तरह से ठप रहा।

- सवाई माधोपुर के कुशालीधरा पर गुर्जरों ने सड़क को जाम कर आवागमन ठप कर दिया।

- टोंक शिवपुरी स्टेट हाईवे पर पेड डाल कर यातायात रोक दिया गया।

- नागौर जिले के बाड़ी घाटी में गुर्जर आंदोलनकारियों ने भारी जाम लगा दिया।

- नीमकाथाना सीकर में रायपुर मोड़ पर दिल्ली कुचामन हाईवे पर भी सड़क को भी रोक दिया गया।

- टोंक में आंदोलनकारियों ने जयपुर-टोंक-कोटा हाइवे 12 पर आवागमन बाधित कर दिया। बनास पुल के पास जमा प्रदर्शनकारियों ने जाम लगा दिया।- बूंदी में गुर्जर समाज के लोगों ने नैनवां के पास जाम लगा दिया।

रोडवेज बसों का संचालन हुआ प्रभावित

 

राज्य में चल रहे गुर्जर आंदोलन के कारण रोडवेज बसों का संचालन भी प्रभावित हो रहा है। इस दौरान यूपी, आगरा, हिंडौन और करौली की बसों का आवागमन रद कर दिया गया है।

आंदोलन रोकना मेरे बस में नहींः किरोड़ी सिंह बैंसला  

पटरियों पर धरना दे कर बैठे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने साफ कहा है कि सरकार उन्हें उनका हक दे, नहीं तो आंदोलन और बढ़ेगा। उन्होंने कहा ये आंदोलन उन्होंने शुरू नहीं किया। समाज के उन लोगों ने शुरू किया है, जो अपने हक से वंचित रहे है। शांति की अपील करने के साथ ही उन्होंने कहा कि इन्हें रोकना मेरे बस की बात नहीं है। उन्होंने कहा है कि समाज के जो भी विधायक हैं सदन में सरकार के सामने उनका पक्ष रखें, नहीं तो उनके समर्थन में मलारना डूंगर में धरना दें। बैंसला ने समाज के लोगों से शांति बनाए रखने और किसी भी हिंसा से दूर रहने की अपील भी की। बैंसला ने कहा है कि सरकार उन्हें उनका हक दे दे। अब चाहे राज्य सरकार दे चाहे केंद्र दे उन्हें पांच फीसदी आरक्षण से मतलब है। किरोड़ी बैंसला ने कहा कि हम अनपढ़ गुर्जर हैं, इतनी ही मांग है कि हमे आरक्षण दो तो हम यहां से उठें।

सरकार लाए बिल तभी तो केंद्र कुछ करेगाः गुलाबचंद कटारिया 

गुर्जर आरक्षण मामले में भाजपा के नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का कहना है कि सरकार इस समस्या का समाधान चाहती है तो विधानसभा सत्र के दौरान ही गुर्जर सहित पांच जातियों के आरक्षण का बिल लेकर आए और उसे पास कराए ताकि उसे केंद्र सरकार के पास भेजा जाए। कटारिया के अनुसार भाजपा सरकार इस मामले में सहयोग करेगी। कटारिया ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार के मंत्री इस मामले में गुर्जर समाज को भ्रमित करने वाले बयान दे रहे है।

ट्रेन यातायात हुआ प्रभावित

पटरी पर बैठे गुर्जरों के धरने के चलते कई ट्रेनों का रूट डायवर्ट किया गया है और कई ट्रेनों को रद्द भी किया गया हैं। इसके साथ ही कल भी कई ट्रेने रद्द की गई है। रेलवे के अनुसार 12 फरवरी को जन शताब्दी एक्सप्रेस,कोटा-यमुनाब्रिज-कोटा पैसेंजर, मथुरा-सवाईमाधोपुर-मथुरा एक्सप्रेस को रद किया गया है।

बैंसला के निवास पर नोटिस

दूसरी तरफ सवाई माधोपुर के मलारना डूंगर में दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर कब्जा जमाए बैठे गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के करौली के हिंडौन सिटी में वर्धमान नगर स्थित आवास पर जिला प्रशासन ने नोटिस चस्पा करवाया है। करौली जिला प्रशासन की ओर से जारी इस नोटिस में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की पालना के निर्देश दिए गए हैंघ्। नोटिस में सड़क और रेल मार्ग जाम होने से हो रही न्यायालय की अवमानना का हवाला दिया गया है। नोटिस में कहा गया है न्यायालय के आदेश की अवमानना पर कर्नल बैंसला उत्तरदायी होंगे।

सीएम गहलोत बोले, भाजपा गुर्जरों को भड़का रही है
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर गुर्जर समुदाय से अपील की है कि वे शांति बनाए रखें। लोगों को जो तकलीफ हो रही है और देश की अर्थव्यस्था को नुकसान हो रहा है, उसे आंदोलन का नेतृत्व कर रहे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला को देखना चाहिए। सोमवार को मीडिया से बातचीत में गहलोत ने भाजपा पर भी निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा की फितरत लोगों को भड़काना है और वे इसी के जरिए यहां तक पहुंचे हैं। गुर्जर आंदोलन भी भाजपा ही भड़का रही है। गहलोत ने कहा कि पूरा गुर्जर समाज जानता है कि पिछली बार जब वो मुख्यमंत्री थे तो जो फैसला किया 1 फीसदी आरक्षण का उसके कारण सैकड़ों युवाओं को नौकरी मिली है। गहलोत ने कहा जो उनके हाथ में था वह उन्होंने कर दिया। 5 फीसद की जो मांग थी, वह उन्होंने पूरी कर दी, लेकिन हाईकोर्ट ने उसे स्वीकार नहीं किया। विधानसभा के अंदर नोटिफाई किया पर मंजूर नहीं हो पाया। गहलोत ने कहा कि गुर्जर अपनी मांग को केंद्र सरकार के सामने रखें वह उनके ऊपर फैसला कर सकते हैं।