भीलवाड़ा संसदीय क्षेत्र 1952 से 2009 तक की एक झलक

भीलवाड़ा संसदीय क्षेत्र 1952 से 2009 तक की एक झलक

Fri 26 Oct 18  4:14 pm

भीलवाड़ा (हलचल)   ।  भीलवाड़ा संसदीय क्षैत्र के लिये 1952 से 2009 तक हुये 15 आम चुनावों व 1964 में हुये उपचुनाव में कांग्रेस के 9 तथा एक-एक बार रामराज्य परिषद, जनसंघ, भारतीय जनतादल, जनता दल एवं 3 बार भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार ने सफलता हांसिल की।

      भीलवाड़ा लोकसभा क्षेत्र में अबतक सर्वाधिक मतों से जीत 1984 के आम चुनाव में आईएनसी के गिरधारी लाल व्यास की रही। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी भाजपा के अर्जुन लाल चेचाणी को 1 लाख 51हजार 636 मतों से पराजित किया। वहीं सबसे कम अन्तर से 1991 के लोकसभा चुनाव में आईएनसी के शिवचरण माथुर ने भाजपा के रामस्वरुप गुप्ता को 10 हजार 761 मतों से पराजित किया था।

1952 में भीलवाड़ा क्षै़त्र से रामराज्य परिषद के उममीदवार हरीराम ने चुनाव जीता था । उन्होंने कांग्रेस के रमेश चन्द को 13,201 मतों से पराजित किया। हरिराम को 51,562 तथा रमेशचन्द्र को 38,361 मत प्राप्त हुए।

 1957 में भीलवाड़ा से कांग्रेस के उम्मीदवार रमेशचंद्र व्यास ने चुनाव जीता। उन्होंने रामराज्य परिषद के मोदी होमी फिरोज शाह को 28,601 मतों से पराजित किया। रमेश चन्द्र को 74,149 तथा शाह को 45,548 मत प्राप्त हुए।

 1962 में कांग्रेस के ही कालू लाल श्रीमाली ने निर्दलीय श्योदान सिंह को 42,170 मतों से पराजित किया। कालूलाल श्रीमाली को 82,388 तथा श्योदान सिंह को 40,212 मत प्राप्त हुए।

1964 में हुये उप चुनाव में कांग्रेस के शिवचरण माथुर ने स्वतंत्र पार्टी के एन. सिंह को 42,857 मतों से पराजित किया। माथुर को 70,167 तथा सिंह को 27,310 मत प्राप्त हुए।       

1967 के लोकसभा चुनाव में भीलवाड़ा से कांगे्रस प्रत्याशी रमेशचन्द्र व्यास ने भारतीय जनसंघ के उमाशंकर को 79,436 मतों से पराजित किया। रमेश चन्द्र को 1,35,466 तथा उमाशंकर को 56,030 मत प्राप्त हुए।     

 1971 में जनसंघ के हेमेन्द्र सिंह ने कांगे्रस (जे.) के रमेश चन्द्र को 19,459 मतों से पराजित किया।  हेमेन्द्र सिंह को 1,42,824 तथा रमेश चन्द्र को 1,23,365 मत प्राप्त हुए।         

  1977 में भारतीय जनतादल के उम्मीदवार रुपलाल सोमानी ने कांगे्रस के रामप्रसाद लढा को 1,28,392 मतों से पराजित किया। सोमानी को 2,27,649 तथा लढा को 99,257 मत प्राप्त हुए।        

  1980 में कांग्रेस के गिरधारी लाल व्यास ने जनता दल के रुपलाल सोमानी को 74,349 मतों से पराजित किया। व्यास को 1,70,671 तथा सोमानी को 96,322 मत प्राप्त हुए। के अर्जुन चुनाव जीता तब यहां से 7 लाख 3 हजार 496 मतदाता थे इनमें से इस बार 3 लाख 55 हजार 785 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया उस समय यहां से 50.57 प्रतिशत मत पडे थे जिनमें 3 लाख 4 हजार 316 वेैध मत थे।

      1984 में कांग्रेस के उम्मीदवार गिरधारी लाल व्यास ने यहां से भाजपा के अर्जुन लाल चेचाणी को 1 लाख 51 हजार 636 मतों से हराया था उस समय यहां से 15  उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। तब  व्यास को 2 लाख 50 हजार 254 व  चेचाणी को 98 हजार 618 मत मिले थे। 

       1989 के लोकसभा आम चुनाव में यहां से जनता दल के हेमेन्द्र सिंह ने कांग्रेस के गिरधारी लाल व्यास को 1 लाख 32 हजार 97 मतों से हराया।   सिंह को 2 लाख 90 हजार 952 तथा  व्यास को एक लाख 58 हजार 855 मत मिले थे।   

       1991 में कांग्रेस के शिवचरण माथुर ने भाजपा के रामस्वरुप गुप्ता को 10 हजार 761 मतों से हराया।  माथुर को 2 लाख 17 हजार 117 व गुप्ता को 2 लाख 6 हजार 356 मत मिले थे। 

      1996 में भीलवाड़ा संसदीय क्षै़त्र से भाजपा के सुभाष बहेड़िया ने कांगे्रस के महेन्द्र सिंह मेवाड़ को को 17,209 हराया था।  बहेड़िया को 2,12,731 तथा महेन्द्र सिंह को 1,95,522 मत प्राप्त हुए।  इस बार यहां से 21 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा। 96 में भीलवाड़ा संसदीय क्षैत्र में 11 लाख 25 हजार 517 मतदाता थे।  

 1998 में कांग्रेस के रामपाल उपाध्याय ने भाजपा के सुभाष बहेड़िया को 79,951 मतों से पराजित किया था। उपाध्याय को 3,56,914 तथा बहेड़िया को 2,76,963 मत प्राप्त हुए।  इस चुनाव में यहां से 8 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे।  इस बार यहां के 11 लाख 11 हजार 830 मतदाताओं में से 6 लाख 75 हजार 987 लोगों ने मतदान किया जिनमें 6 लाख 64 हजार वैध मत थे।    

      1999 के आम चुनाव में अपना भाग्य आजमा रहे 6 उम्मीदवारों में से भाजपा के वी0पी0 सिंह ने  कांगे्रस के रामपाल उपाध्याय को 14 हजार 229 मतों से हराया था।   सिंह को 2 लाख 87 हजार 858 व  उपाध्याय को 2 लाख 73 हजार 629 मत मिले थे । वर्ष  1999 के लोकसभा चुनाव में 11 लाख 36 हजार 772 मतदाताओं में से 6 लाख 7 हजार 629 मतदाताओं ने मतदान किया था जिनमें से 7 हजार 384 मत रद्द हो गये थे व 6 लाख 245 वैध मत थे।  

       वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव में पुनः भाजपा के प्रत्याशी वी0पी0 सिंह ने कांगे्रस के कैलाश व्यास को 60,652 मतों से पराजित किया।   वी.पी. सिंह को 3,17,292 तथा व्यास को 2,56,640 मत प्राप्त हुा।

गत लोकसभा आम चुनाव 2009 में भीलवाड़ा संसदीय क्षेत्र में 10 उम्मीदवारों ने चुनाव लडा जिसमें इण्डियन नेशनल कांग्रेस के प्रत्याशी डा0 सी0पी0 जोशी ने भाजपा के विजयेन्द्र पाल सिंह को 1 लाख 35 हजार 368 मतों से पराजित किया है।  सी.पी. जोशी को 4 लाख 13 हजार 128 मत, विजयेन्द्र पाल सिंह को 2 लाख 77 हजार 760, बहुजन समाज पार्टी के हरिश गुर्जर को 28 हजार 141, भारतीय बहुजन समाजपार्टी के रामेश्वर लाल को 2 हजार 456, अखिल भारतीय कांग्रेस दल (अम्बेडकर) के प्रत्याशी लक्ष्मीनारायण परमार को 1376, जागोपार्टी के विनित कुमार माहेश्वरी को 1604, निर्दलीय प्रत्याशी ओमप्रकाश मीणा को  2111,  रतन लाल धोबी को 4185, रामपाल सोनी को 6488 तथा रामप्रसाद सिरोठा को 17208 मत प्राप्त हुए।