सिर्फ भाईचारे का नारा लगाना काफी नहीं है, बल्कि इसे व्यावहारिक रूप देना इस वक़्त की ज़रूरत है।

सिर्फ भाईचारे का नारा लगाना काफी नहीं है, बल्कि इसे व्यावहारिक रूप देना इस वक़्त की ज़रूरत है।

Sun 01 Jul 18  11:56 pm

भीलवाड़ा(हलचल) आज गजाधर मानसिंहका धर्मशाला भीलवाडा में जमाअत-ए-इस्लामी हिन्द व स्टूडेंट्स इस्लामिक आर्गेनाईजेशन ऑफ़ इंडिया (एस. आई. ओ.) भीलवाडा की ओर से ईद मिलन समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मोहम्मद ज़ैद ने पवित्र क़ुरान से की। इसके बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुवे हाकिम अली (अध्यक्ष, जमाअत-ए-इस्लामी हिन्द, जिला भीलवाडा) ने बताया कि सभी धर्म के लोग सम्मानीय हैं। इस जहां में कोई छोटा या बड़ा नहीं है। सभी इंसान आपस में भाई-भाई है। वहीं समारोह के मुख्य अतिथि मुसद्दीक़ मुबीन (केन्द्रीय सलाहकार समिति सदस्य एस. आई.ओ.) ने अपने विचार व्यक्त करते हुवे बताया कि सिर्फ भाईचारे का नारा लगाना काफी नहीं है, बल्कि इसे व्यावहारिक रूप देना इस वक़्त की ज़रूरत है। जहां अत्याचार होता दिखाई दे वहां हमें आगे बढ़कर इसके खि़लाफ़ आवाज़ उठानी चाहिए। समाज मे आज हिंसा, भीड़ द्वारा हत्या, ओर मीडिया के व्यवसायिक रूप ने समाज को पीछे धकेल दिया है जिससे सांप्रदीयकता व घृणा को बढ़ावा मिला है । ऐसे में हमे एक सद्भावना मंच बनाकर इन्हें रोकना होगा। उन्होंने ये भी बताया कि भारत के संविधान में सभी नागरिकों को समान अधिकार दिए हैं जिसके अनुसार कानून को स्थापित करना नागरिको का नहीं प्रशासन का काम है, हमारा काम नैतिक मूल्यों की रक्षा करना है। इसके अलावा सैयद नासिर हसन (प्रदेश सहसचिव एच आर डी, जमाअत इस्लामी हिन्द राजस्थान) ने बताया कि ईश-भय ही समाज मे इन्सानियत कायम करने में सहायक है। इंसानो से आपस मे मुहब्बत करनी चाहिए तथा समाज में प्रेम तथा न्याय के मार्ग पर आदर्श रूप से चलना होगा। आखिर में जमाअत इस्लामी हिन्द भीलवाडा शहर के अध्यक्ष शाकिर हुसैन ने तमाम लोगों का आभार व्यक्त करते हुवे प्रोग्राम का समापन किया। समारोह में भीलवाडा के सभी धर्म के लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम में गोपाल मंदिर सांगानेर से महंत गोपाल शास्त्री, सोशियल वेलफेयर सोसायटी के चैयरमैन रमजान खान, डगर संस्थापक व दलित समाजसेवी भंवर मेघवंशी, समाजसेवी जगदीश मानसिंहका, ब्रह्मकुमारी विश्वविद्यालय कि बी के इन्द्रा बहन, पूर्व सभापति नगर परिषद भीलवाडा ओम नराणीवाल ने भी कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त किये और आपसी सद्भाव पर जोर दिया। भीलवाडा शहर के कई गणमान्य लोग तथा वंचित लोक अधिकार मंच से विजय बारेसा, अम्बेडकर युवा मंच के अशोक गहलोत, सद्भाव मंच से फारूख़ पठान कार्यक्रम में उपस्थित रहे। मंच का संचालन राष्ट्रीय कवि रशीद निर्मोही ने किया।