‘’ गुण्‍डागिर्दी के सहारे राजनीति में आगे बढ़ना है असंभव - कालू लाल गूर्जर ’’

‘’ गुण्‍डागिर्दी के सहारे राजनीति में आगे बढ़ना है असंभव - कालू लाल गूर्जर ’’

Tue 15 Aug 17  7:03 pm

भीलवाडा (ओम कसारा) । ‘’ एक न एक दिन ऐसा अवश्‍य आएगा जब गूर्जर समाज को एसटी के हिस्‍से का आरक्षण मिलकर ही रहेगा। ‘’ यह बात सरकारी मुख्‍य सचेतक कालू लाल गूर्जर ने ‘’रूबरू’’ कार्यक्रम के दौरान कही।

           सरकारी मुख्‍य सचेतक ने कहा कि एसटी आरक्षण का लगभग तमाम हिस्‍सा अकेले मीणा समाज के खाते में चला जाता है जबकि भील एवं गरासिया के हाथ खाली रह जाते हैं। कालू लाल गूर्जर ने यह भी कहा कि कोई भी छोटी-मोटी घटना होने पर मीणा समाज के लोग एक्‍ट्रोसिटी एक्‍ट का दुरूपयोग करते हुए गुर्जरों के खिलाफ झूठे मुकद्दमे दर्ज करवा देते हैं। इससे गूर्जर समाज में व्‍याप्‍त रोष की परिणिति गूर्जर आंदोलन के रूप में हुई थी और गूर्जरों ने मीणाओं के समान ही सामाजिक और आर्थिक स्थिती होने से एस.टी में शामिल करने की मांग की है।

              कांग्रेस विधायक धीरज गूर्जर को सहयोग करने सम्‍बन्धि आरोप का जवाब देते हुए पूर्व काबीना मंत्री कालू लाल ने कहा कि गुण्‍डागिर्दी के सहारे कोई भी व्‍यक्ति लम्‍बे समय तक राजनिति में आगे नहीं बढ़ सकता। उन्‍होनें कॉग्रेस के समर्थन में शपथ दिलाने जैसे कार्यक्रमों की भी आलोचना करते हुए कहा कि ऐसे आयोजन व्‍यक्ति की ओछी मानसिकता को दर्शाते हैं।

              माण्‍डल विधानसभा क्षैत्र से विधायक कालू लाल गूर्जर ने एक अन्य प्रश्‍न के उत्‍तर में कहा कि उनकी दिली ईच्‍छा है कि बांसवाडा के माही डेम का पानी यदि मेवाड में ले आया जाए तो इससे उदयपुर,राजसमंद, एवं भीलवाडा सहित अजमेर जिले को भी काफी फायदा पहुंच सकता हैं। इस कार्य के लिए मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे भी सहमत है और जल्‍द ही योजना की क्रियान्विति के लिए सर्वे कार्य शुरू कर दिया जाएगा। सरकारी मुख्‍य सचेतक ने बेहद दु:खी मन से कहा कि राजस्‍थान में विपक्ष पूरी तरह मर चुका है। कांग्रेस के जो विधायक हैं उनमें ज्ञान का बेहद अभाव है इसलिए वो न तो सरकार को किसी मुद्दे पर घेर पाते हैं और न ही जनसमस्‍याओं को प्रभावी ढंग से सदन में रख पाते हैं। भाजपा नेता कालू लाल ने विधानसभा चुनाव के दौरान जारी किए गए घोषणा पत्र की क्रियान्विति संबंधि प्रश्‍न के उत्तर में कहा कि मुख्‍यमंत्री इस मामले में बहुत सजग है ओर जो भी घोषणाऐं अभी तक भी पूरी होना बाकी है उन्‍हें चुनाव से पहले पूरा कर लिया जाएगा।