boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

प्रदेश में कोरोना से 155 की गई जान ओर 17155 नए निकले सकर्मित,10034 ने जीती जंग

प्रदेश में कोरोना से 155 की गई जान ओर 17155 नए निकले सकर्मित,10034 ने जीती जंग

जयपुर: राजस्थान में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 17155 नए मामले सामने आए, 10034 रिकवर हुए और 155 मौतें हुईं हैं। सक्रिय मामले 1,76,485 हैं। कुल 4,17,277 रिकवर हुए। कोरोना से अब तक प्रदेश में 4239 लोगों की मौत हुई है। इससे पहले वीरवार को प्रदेश में कोरोना के 17269 पॉजिटिव केस मिलने के साथ ही 158 लोगों की मौत हुई है। एक दिन में 10,964 मरीज स्वस्थ हुए। वर्तमान में एक्टिव केसों की संख्या एक लाख 69 हजार 519 है। प्रदेश में अब तक कुल पांच लाख 80 हजार 846 संक्रमित मिले, वहीं कुल 4084 लोगों की मौत हुई। प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार ने राज्य सरकार के सभी अनुमानों को फेल कर दिया।

सरकार ने दवाओं और ऑक्सीजन को लेकर जो अनुमान लगाए थे, उससे कहीं ज्यादा जरूरत पड़ रही है। पहली लहर के दौरान पिछले साल सितंबर से नवंबर तक कोरोना पीक पर था, तब तीनों महीनों में ऑक्सीजन की खपत 3810 मैट्रिक टन हुई थी, लेकिन दूसरी लहर में अप्रैल में अब तक 3000 मैट्रिक टन से ज्यादा खपत हो चुकी है। सरकार का अनुमान अप्रैल में 2740 मैट्रिक टन का था। चिकित्सा सचिव सिद्धार्थ महाजन ने बताया कि तीन माह पहले प्रतिदिन 6500 सिलेंडर खपत प्रतिदिन थी, जो अब बढ़कर 31 हजार 425 सिलेंडर प्रतिदिन हो गई। उन्होंने बताया कि आगामी दिनों में प्रतिदिन 10 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत होगी। सरकार अप्रैल में 36 हजार से ज्यादा इंजेक्शन भेज चुकी है। इसके साथ ही 1.75 लाख इंजेक्शन के कंपनियों को ऑर्डर दिए गए हैं। वैक्सीनेशन को लेकर भी सरकार की तैयारी तेजी पर है। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि एक मई से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का काम जारी है। इस चरण के लिए सात करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की जरूरत आंकी गई है। उधर, भाजपा विधायक दल के उप नेता राजेंद्र राठौड़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर सरकार समय रहते एहतियातन कदम उठा लेती तो कोरोना का कम्यूनिटी स्प्रेड नहीं होता।