boltBREAKING NEWS
  • जयपुर : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की प्रदेश के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- दोषियों को बख्शेंगे नहीं
  • भीलवाड़ा : जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने लोगों से की शांति की अपील, बोले- अफवाहों पर न दें ध्यान  
  • भीलवाड़ा : एसपी आदर्श सिधू ने की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- पुलिस का सहयोग करें और कानून व्यवस्था बनाए रखें 
  •  

 बिजली उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए भीलवाड़ा में 18 सहित प्रदेश के 11 जिलों में 189 हैल्प डेस्क की शुरुआत 

 बिजली उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए भीलवाड़ा में 18 सहित प्रदेश के 11 जिलों में 189 हैल्प डेस्क की शुरुआत 

 भीलवाड़ा/ अजमेर।  अजमेर डिस्कॉम ने उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए भीलवाड़ा में 18  सहित प्रदेश के 11 जिलों में 189 हैल्प डैस्क की शुरुआत की है। इन हैल्प डैस्क का संचालन हैल्प डैस्क एजेंट के माध्यम से किया जाएगा। उपभोक्ता अब अपनी शिकायत दर्ज, ट्रैक, नए कनेक्शन के लिए आवेदन, मीटर शिफ्टिंग, लाइन शिफ्टिंग, पोल शिफ्टिंग तथा अन्य किसी भी प्रकार की समस्या के लिए हैल्प डैस्क का उपयोग कर सकेंगे। प्रबंध निदेशक एन.एस.निर्वाण ने 21 जून को मदार स्थित उपखंड कार्यालय से हैल्प डैस्क का उद्धघाटन किया। उन्होंने इस मौके पर कहा कि विभाग आम उपभोक्ताओं से सीधा जुड़ा विभाग है। हमारी प्राथमिकता उपभोक्ताओं की संतुष्टि है। इसलिए डिस्कॉम क्षेत्र के लगभग हर उपखंड में उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए कुल 189 हैल्प डैस्क खोले हैं।

 इस दौरान निर्वाण ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे ये सुनिश्चित करे कि हैल्प डैस्क एजेंट उपभोक्ता की शिकायत को शालीनता से सुनें। आवश्यकता पडऩे पर गरीब व अनपढ़ व्यक्तियों की एप्लीकेशन लिखने में मदद करे। हैल्प डेस्क बनाने का उद्देश्य ही उपभोक्ता की सेवा करना है। जरूरत पढऩे पर उपभोक्ता को दस्तावेजों की फोटोकॉपी तथा स्कैन की सुविधा भी उपलब्ध कराएं। इस मौके पर मदार स्थित उपखंड कार्यालय में निदेशक तकनीकी ए. के.जागेटिया, मुख्य अभियंता एम.एल.मीणा, एम .एस. झाला, अधीक्षण अभियंता ए. के.भटनागर, अधिशासी अभियंता आर.सी.बारहठ, बी.एस. शेखावत, प्रशांत पंवार सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

भीलवाड़ा में 18, राजसमंद 13 व चित्तौडग़ढ़ में 15 हेल्प डेस्क 
अजमेर सिटी सर्किल तथा जिला सर्किल में 20, भीलवाड़ा सर्किल में 18, उदयपुर सर्किल में 24, राजसमंद सर्किल में 13, चित्तौडग़ढ़ सर्किल में 15, प्रतापगढ़ सर्किल में 7, डूंगरपुर सर्किल में 8, नागौर सर्किल में 28, बांसवाड़ा सर्किल में 8, झुंझुनू सर्किल में 19, सीकर सर्किल में 27 तथा आईटी सेल कार्यालय में 2 हैल्प डैस्क सहित कुल 189 हैल्प डैस्क की स्थापना की गयी है।

यह होगी कार्य प्रणाली

उपभोक्ता हेल्पडेस्क पर अपनी शिकायतों एवं अनुरोधों के पंजीकरण के लिए सीधे संपर्क कर सकते हैं।
हेल्पडेस्क के कर्मचारी सिस्टम में पूर्व-निर्धारित प्रारूप में अपनी शिकायतें दर्ज करेंगे। इसके लिए हेल्पडेस्क एजेंट द्वारा उपभोक्ताओं को सभी प्रकार की सहायता की जाएगी ।
हेल्पडेस्क एजेंट, डिस्कॉम आरएपीडीआरपी पोर्टल तक पहुंचेगा जहां उपभोक्ताओं द्वारा अनुरोध एवं शिकायतें दर्ज की जाती हैं और आवेदन में स्थिति को अपडेट करेगा।
शिकायत दर्ज करने के तुरंत बाद एजेंट शिकायतकर्ताओं को पंजीकरण संख्या (सिस्टम उत्पन्न या निर्देशानुसार) प्रदान एवं सूचित करेगा।
हेल्पडेस्क एसएमएस या अन्य माध्यम से ट्रैक रिकॉर्ड के साथ उपभोक्ता शिकायतों के समाधान के लिए त्वरित कार्रवाई के लिए संबंधित उप-मंडलों और उपभोक्ताओं के बीच समन्वय करेगा।
उन मामलों में, जहां उपखंड में एफआरटी तैनात नहीं है, हेल्पडेस्क संबंधित उप-मंडल एईएन, जेईएन, डिस्कॉम व्यक्तियों को नो-करंट शिकायतों को भी अग्रेषित करेगा और सॉफ्टवेयर में स्थिति को अपडेट करेगा।
हेल्पडेस्क एजेंट नियमित रूप से अनुरोधों के समय पर समाधान के लिए एसडीओ (उप-मंडल अधिकारी) के साथ सिस्टम के माध्यम से आगे बढ़ेंगे और संबंधित अधिकारियों, जेईएन, एईएन, एक्सईएन को समग्र स्थिति और वृद्धि के बारे में रिपोर्ट करेंगे।
हेल्पडेस्क के एजेंट को जरूरत पडऩे पर फोन कॉल के माध्यम से उपभोक्ताओं के अनुरोधों पर अपडेट देने के लिए उनसे संपर्क करने की भी आवश्यकता हो सकती है।
हेल्पडेस्क के एजेंटों को मोबाइल ?प टेलीफोन के माध्यम से डिस्कॉम, सीसीसी और उपभोक्ताओं कोए से कॉल करना और प्राप्त करना होगा।
सिस्टम के माध्यम से शिकायत प्राप्त होने पर, उप-मंडल के अनुसार अलग-अलग, हेल्प डेस्क कार्यकारी शिकायत के समाधान तक संबंधित फील्ड स्टाफ के साथ अनुवर्ती कार्रवाई करेगा।
उपभोक्ता द्वारा विधिवत रूप से स्वीकार की गई शिकायत के समाधान के बाद, डेटा बेस को तदनुसार अद्यतन किया जाएगा।
हेल्पडेस्क को शिकायत दर्ज करने की अनुमति होगी लेकिन उपभोक्ता की पुष्टि के बाद ही सीसीसी अजमेर से शिकायत को बंद किया जाएगा।
शिकायत के समाधान के बाद हेल्पडेस्क एजेंट शिकायत के समाधान में लगने वाले कुल समय को अपडेट और रिकॉर्ड करेगा।