boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ

अनियमितता पर ई-मित्र केन्द्रों पर कार्यवाही

अनियमितता पर ई-मित्र केन्द्रों पर कार्यवाही

चित्तौड़गढ़ । सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित बैठक में प्रतापसिंह खाचरियावास द्वारा ई-मित्र केन्द्रों की समीक्षा की गई। जिला कलक्टर ने इसे अभियान के तौर पर लेते हुये जिले के समस्त ई-मित्र केन्द्रो के निरीक्षण हेतु उपखण्ड अधिकारी से लेकर लगभग 233 ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को दायित्व सौंपा। निरीक्षण दलों ने अवकाश के दिनों में भी निरीक्षण किया। निरीक्षण में ग्राम पंचायत स्तर तक के 1977 कियोस्कों का निरीक्षण किया गया है जो जिले के कुल कियोस्क का 98 प्रतिशत है। 

नवीन रेट-लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही लगाने पर ई-मित्र केन्द्र पर कार्यवाही

 निरीक्षण मापदण्डों अनुसार कियोस्क पर नवीन दर-सूची व ई-मित्र का अधिकृत को-ब्रांडेड बैनर प्रदर्शित होना आवश्यक है यदि कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर प्रदर्शित नहीं है तो नियमानुसार 1000 रू की पेनल्टी प्रति कियोस्क लगाई जाती है। इसके तहत 360 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नहीं होने पर 1000 रूपये प्रति कियोस्क पेनल्टी लगाई गई है।

अतिरिक्त राशि वसूलने पर ई-मित्र केन्द्र पर कार्यवाही

निर्धारित दर से अतिरिक्त शुल्क लेने वाले ई-मित्र कियोस्क पर कार्यवाही हेतु संबंधित उपखण्ड अधिकारी को अधिकृत किया गया है। इसी क्रम में एक ई-मित्र कियोस्क श्री भंवरसिंह देवड़ा, हर्ष फोटो कॉपी एंड कम्प्युटर, डूंगला को प्रथम बार अतिरिक्त राशि वसूल करने का दोषी पाये जाने के फलस्वरूप उपखण्ड अधिकारी डूंगला द्वारा 15 दिन के लिये निलम्बित किया गया एवं साथ ही 3000/- अक्षरे तीन हजार रू. शास्ति भी आरोपित की गई। 

सेवाएं नही देने वाले ई-मित्र केन्द्रो पर कार्यवाही

48 ई-मित्र केन्द्रों द्वारा विगत तीन माह से आमजन को सेवाएं नही दी जा रही है, उन्हें स्थाई रूप से बंद किया जायेगा एवं 12 ई-मित्र कियोस्क जिन्होनें विगत एक माह से आमजन को सेवाएं नही दी है उन्हें अस्थाई रूप से बंद किया जायेगा।

ई-मित्र निरीक्षण रिपोर्ट

जिला कलक्टर के.के. शर्मा ने भी पिछले दिनों ई-मित्र कियोस्क का निरीक्षण कर वहां पर व्यवस्था सुधार के निर्देश प्रदान किये। जिले में 1000 से अधिक आबादी तक के ग्रामों में कुल 2008 कियोस्क कार्यरत हैं। जिला कलक्टर के निर्देश पर दिनांक 25 दिसम्बर, 2020 से 27 दिसम्बर, 2020 तक सघन निरीक्षण अभियान चलाया गया। जिसमें बड़ीसादड़ी, बेगंू, भदेसर, भैंसरोड़गढ़, भूपालसागर, चित्तौड़गढ़, डूंगला, गंगरार, कपासन, निम्बाहेड़ा एवं राशमी ब्लॉकों के ई-मित्र केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। 

 ब्लॉक बड़ीसादड़ी में कुल 131 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 8 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 2 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक बेंगू में कुल 178 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 21 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 8 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक भदेसर में कुल 152 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 24 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 2 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक भैंसरोड़गढ़ में कुल 144 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 28 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 5 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। 

ब्लॉक भूपालसागर में कुल 96 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 23 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 1 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक चित्तौड़गढ़ में कुल 437 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 74 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 3 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक डूंगला में कुल 136 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 40 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 18 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक गंगरार में कुल 145 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 16 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 19 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक कपासन में कुल 172 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 28 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 1 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक निम्बाहेड़ा में कुल 273 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 84 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये व 1 ई-मित्र को सेवा ना देने के कारण बंद किया गया है। ब्लॉक राशमी में कुल 113 ई-मित्र इंस्पेक्शन किये गये, जिसमें से 14 कियोस्क पर रेट लिस्ट/को-ब्रांडेड बैनर नही पाये गये।

1000 से अधिक आबादी वाले ग्रामों में भी स्थापित होंगे ई-मित्र कियोस्क

मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के क्रम में राज्य सरकार ने ई-मित्र केन्द्रों का विस्तार करते हुए ग्राम पंचायत से अब 1000 से अधिक आबादी वाले ग्रामों में भी ई-मित्र कियोस्क स्थापित करने के आदेश जारी किये हैं। इस क्रम में अधिकांश क्षेत्रों में कियोस्क स्थापित किये जा चुके हैं। अब मात्र 16 राजस्व ग्रामों में ई-मित्र कियोस्क स्थापित किया जाना शेष है। ई-मित्र कियोस्क हेतु 12वीं कक्षा उत्तीर्ण, कम्प्यूटर प्रशिक्षित युवक एवं युवतियां आवेदन कर सकते हैं।

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu