boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

पुनर्गठन के बाद मंत्रिपरिषद की पहली बैठक आज, संसदीय सचिवों की नियुक्ति पर लगेगी मुहर

पुनर्गठन के बाद मंत्रिपरिषद की पहली बैठक आज, संसदीय सचिवों की नियुक्ति पर लगेगी मुहर

जयपुर। मंत्रिमंडल के पनर्गठन के बाद अब मंत्रिपरिषद की पहली बैठक आज शाम 4 बजे मुख्यमंत्री आवास पर होने जा रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में कैबिनेट और मंत्रिपरिषद के सदस्य एक साथ शामिल होंगे। बैठक संसदीय सचिवों की नियुक्ति, प्रशासन गांवों के संग और शहरों के संग अभियान की प्रगति और सरकार के तीन साल पूरे होने पर जिला लेवल पर होने वाले आयोजनों को लेकर चर्चा होगी। इसके साथ ही मिशन 2023 को लेकर बैठक में चर्चा होगी कि 2 साल के बाद होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी फिर से सत्ता में लौटे।

संसदीय सचिवों के प्रस्ताव पर लगेगी मुहर
वहीं प्रदेश में एक दर्जन से ज्यादा संसदीय सचिव बनाए जाने का प्रस्ताव भी मंत्रिपरिषद की बैठक में लाया जाएगा। संसदीय सचिवों के प्रस्ताव पर मंत्रिपरिषद की बैठक में मुहर लगने के बाद माना जा रहा है कि एक या 2 दिन में संसदीय सचिव बनाए जा सकते हैं।

गौरतलब है कि 21 नवंबर को ही मंत्रिमंडल पुनर्गठन का किया गया था। ऐसा पहली बार हुआ है कि मंत्रिमंडल में सभी 30 पद भरे गए हैं। साथ ही प्रदेश में 2 साल बाद होने वाले विधानसभा के मद्देनजर जनता का मूड जानने और उनके कामों का निस्तारण करने के लिए तमाम मंत्री ज्यादा समय तक जनता के बीच रहेंगे।

बताया जाता है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तमाम मंत्रियों को निर्देश देंगे कि वे अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में रहकर लोगों की दुख-दर्द साझा करें और उनकी परेशानियों को हल करें। साथ ही अपने-अपने विभागों की उपलब्धियों को भी जनता के बीच लेकर जाएं जिससे जनता को अपने कामकाज के लिए भटकना नहीं पड़े।

जिलों के प्रभार मिलेंगे
हालांकि नए मंत्रिमंडल गठन और मंत्रिपरिषद की पहली बैठक के बाद मंत्रियों को जिलों के प्रभार दिए जाएंगे। जिलों का आवंटन भी मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद होगा, जिसके बाद मंत्री-अपने -अपने प्रभार वाले जिलों का दौरा करेंगे।

संबंधित खबरें