boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

तीन साल बाद फिर 50 रुपए में मिलेगी 250 ग्राम चाय की पत्ती

तीन साल बाद फिर 50 रुपए में मिलेगी 250 ग्राम चाय की पत्ती

 भीलवाड़ा । जिले में तीन साल बाद अब एक फिर से राशन की दुकानों पर उपभोक्ताओं को चाय पत्ती मिल सकेगी। इसके लिए रसद विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के शासन सचिव की ओर से दिए गए निर्देशों के बाद प्रदेश के सभी जिला रसद अधिकारी विभागीय अधिकारियों के माध्यम से चाय पत्ती की मांग एकत्र करने में जुटे हैं। यह मांग संकलित होते ही जयपुर भिजवाई जाएगी, जहां से चाय पत्ती की आपूर्ति तय कर निगम के माध्यम से राशन की दुकानों तक पहुंचाई जाएगी।

पहले भी जिले में खाद्य सामग्री के साथ रसद विभाग की ओर से राशन की दुकानों पर चाय पत्ती व अन्य सामग्री उपलब्ध कराई जाती थी, लेकिन अगस्त 2018 में चाय पत्ती सप्लाई की निविदा समाप्त हो जाने के बाद से उपभोक्ताओं को इन दुकानों से रियायती दामों पर चाय पत्ती नहीं मिल रही थी।


जिले में सभी राशन डीलर उपभोक्ताओं को गेहूं, चीनी के साथ जल्द ही चाय की पत्ती भी उपलब्ध कराएंगे। जिले में राशन की दुकानें हैं। इनके संचालकों को आपूर्ति विभाग में चाय पत्ती खरीदने के लिए पैसा जमा कराना होगा। इसके बाद राज ब्रांड की चाय पत्ती सप्लाई देने वाले थोक विक्रेता चाय की पत्ती डीलर को उपलब्ध कराएंगे।

50 रुपए में मिलेगी 250 ग्राम चाय की पत्ती
राशन डीलर 250 ग्राम चाय पत्ती उपभोक्ताओं को 50 रुपए में उपलब्ध कराएंगे। इसके बदले विभाग की ओर से राशन डीलर को 5 रुपए कमीशन दिया जाएगा। जितनी मांग आएगी, उतनी ही मात्रा में चाय की पत्ती उपलब्ध कराई जाएगी। विभागीय आदेश के अनुसार राशन डीलर राज्य सरकार के अधिकृत राज ब्रांड की ही चाय पत्ती बेच सकेंगे। इसकी बिक्री किराने की दुकानों पर नहीं होगी। इसके लिए भी विभाग पूरी मॉनिटरिंग करेगा। रसद विभाग समय-समय पर इसकी गुणवत्ता की जांच भी करेगा।

तीन साल से इंतजार कर रहे उपभोक्ता
राज्य सरकार ने रसद विभाग के माध्यम से आम जनता को सस्ती दर पर खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने के लिए योजना शुरू की थी। ताकि, लोगों को राशन की दुकानों पर बाजार से सस्ती दर पर चाय पत्ती, नमक व अन्य जरूरी सामग्री मिल सके। लेकिन सरकार ने निविदाएं खत्म होने के बाद में यह प्रक्रिया बंद कर दी थी। जानकारी के अनुसार सितंबर 2017 में नमक, नवंबर 2017 में मसाले, अगस्त 2018 में चाय पत्ती व जुलाई 2018 में अगरबत्ती सप्लाई के टेंडर समाप्त हो गए थे। इसके बाद राशन की  दुकानों पर यह सामग्री नहीं पहुंचाई गई।

संबंधित खबरें