boltBREAKING NEWS
  •   दिन भर की वीडियो न्यूज़ देखने के लिए भीलवाड़ा हलचल यूट्यूब चैनल लाइक और सब्सक्राइब करें।
  •  भीलवाड़ा हलचल न्यूज़ पोर्टल डाउनलोड करें भीलवाड़ा हलचल न्यूज APP पर विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे विजय गढवाल  6377364129 advt. [email protected] समाचार  प्रेम कुमार गढ़वाल  [email protected] व्हाट्सएप 7737741455 मेल [email protected]   8 लाख+ पाठक आज की हर खबर bhilwarahalchal.com  

कृषि आदान विक्रेताओं ने देखी कृषि विज्ञान केन्द्र की सजीव इकाईयाँ

कृषि आदान विक्रेताओं ने देखी कृषि विज्ञान केन्द्र की सजीव इकाईयाँ

 

  भीलवाड़ा।  आत्मा कार्यालय,  में संचालित एक वर्षीय कृषि आदान विक्रेता डिप्लेामा कार्यक्रम के 40 प्रशिक्षणार्थियों को कृषि विज्ञान केन्द्र का भ्रमण करवाया गया। पाठ्यक्रम समन्वयक पूसा लाल शर्मा ने बताया कि जिले के 40 कृषि आदान विक्रेताओं को एक वर्षीय डिप्लोमा कार्यक्रम में कृषि से जुड़ी सभी तकनीकीयों में निपुण किया जा रहा है। पाठ्यक्रम में विभिन्न विषयों जैसे कृषि जलवायु, मृदा विज्ञान, पशुपालन, शस्य विज्ञान, उद्यान विज्ञान, कृषि यन्त्रिकरण, कीट एवं रोग विज्ञान, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, फसल बीमा योजना, मृदा स्वास्थ्य योजना, बीज, कीट एवं मण्ड़ी अधिनियम, उर्वरक अधिनियम आदि को शामिल किया गया है। 
कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं अध्यक्ष डाॅ. सी. एम. यादव ने बताया कि प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद बेरोजगार युवा कृषि विभाग द्वारा खाद, बीज एवं रासायनिक दवा बेचने का लाइसंेस प्राप्त कर अपना रोजगार स्थापित कर सकते है साथ ही तकनीकी जानकारी प्राप्त कर किसानों को फसल उत्पादन में आने वाली समस्याओं का निदान भी कर सकते है। डाॅ. यादव ने प्रशिक्षणार्थियों से चर्चा करते हुए बताया कि केन्द्र पर स्थापित सजीव इकाईयों पशुपालन, मुर्गीपालन, बकरीपालन, मछलीपालन, नर्सरी, बीज उत्पादन, वर्मीकम्पोस्ट, प्राकृतिक खेती एवं उद्यानिकी को किसान भाई देख कर अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू कर आजीविका बढ़ा रहे है।
शस्य वैज्ञानिक डाॅ. के. सी. नागर ने उन्नत बीज, आधुनिक कृषि तकनीक, समन्वित कृषि प्रणाली, खरपतवार एवं जल प्रबन्धन, संरक्षित खेती एवं प्राकृतिक खेती की तकनीकी से अवगत करवाते हुए के केन्द्र पर स्थापित सजीव इकाईयों का भ्रमण करवाया।