boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

नहीं मिली एंबुलेंस हाथ ठेले पर लाया उपचार के लिए बनेड़ा अस्पताल, मौत

नहीं मिली एंबुलेंस हाथ ठेले पर लाया उपचार के लिए बनेड़ा अस्पताल, मौत

बनेड़ा( के के भंडारी मनीष देराश्री) कस्बे में आज एक महिला को घर से अस्पताल ले जाने और अस्पताल से शमशान तक पहुंचाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिली तो परिजनों ने उसे हाथ ठेले पर पहले अस्पताल और उसके बाद शमशान पहुंचाया। बताया गया कि बनेड़ा कस्बे में चारभुजा जी के मंदिर के निकट रहने वाली एक महिला पिछले कुछ दिनों से बीमार थी और उसे होम क्वॉरेंटाइन किया हुआ था, आज उसकी तबीयत बिगड़ी और अस्पताल ले जाने के लिए परिजनों ने एंबुलेंस को फोन किया लेकिन महिला के भाई को एंबुलेंस की ओर से वहां आने से मना कर दिया अपनी बहन की हालत बिगड़ती देख भाई ने किसी का हाथ ठेला लिया और उस पर बहन को लादकर करीब डेढ़ किलोमीटर दूर अस्पताल पहुंचाया, अस्पताल पहुंचने पर भी चिकित्सकों द्वारा उसे नहीं देखे जाने का परिजनों ने आरोप लगाया और इस बात को लेकर वहां कहासुनी भी हुई है । बाद में जब महिला को देखा गया तो उसे चिकित्सक ने मृत घोषित कर दी, महिला की मौत के बाद भी किसी का दिल नहीं पसीजा और उसे श्मशान तक पहुंचाने के लिए गाड़ी उपलब्ध नही कराई, फिर परिजनों ने हाथ ठेले से ही महिला के शव को डेढ़ किलोमीटर दूर घर लाए और बाद में उसी हाथ ठेले पर लादकर मोक्ष धाम तक ले गए जहां उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

 108 एंबुलेंस भी मात्र ड्राइवर के भरोसे

108 एंबुलेंस भी मात्र ड्राइवर के भरोसे चल रही हैं । पिछले काफी समय से 108 में दिन के समय कंपाउंडर उपलब्ध नहीं हैं, जिसका खामियाजा इमरजेंसी के समय आम जनता को भुगतना पड़ता हैं । 

नहीं मिली एंबुलेंस हाथ ठेले पर लाया उपचार के लिए बनेड़ा अस्पताल, मौत