boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app को अपडेट करें
  •  

जिले में  एक और नया ऑक्सीजन प्लांट मंजूर, व्यय होंगे 65 लाख रूपए

जिले में  एक और नया ऑक्सीजन प्लांट मंजूर, व्यय होंगे 65 लाख रूपए

 राजसमन्द । बढ़ती कोरोना महामारी के कारण व्याप्त ऑक्सीजन संकट के बीच राजसमन्द क्षेत्र के लिए सुकूनदायी खबर है। जिला मुख्यालय पर ऑक्सीजन के लिए हो रही मारामारी से निजात दिलाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी के अथक प्रयासों से स्वायत्त शासन विभाग के अधीन राजसमन्द नगर परिषद के जरिए शीघ्र ही यहां प्रतिदिन 100 सिलेंडर ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता का एक और नया प्लांट स्थापित होगा। इसके लिए तमाम सरकारी प्रक्रियाएं पूर्ण हो चुकी है तथा इसका काम जल्द शुरू होगा तथा आगामी कुछ दिनों में आरके जिला चिकित्सालय में आपूर्ति शुरू हो जाएगी।

नगर परिषद सभापति अशोक टांक ने बताया कोरोना महामारी का तेजी से प्रसार होने एवं बड़ी तादाद में संक्रमित रोगियों को ऑक्सीजन की आवश्यकता होने से ऑक्सीजन का संकट और भी गहरा गया है। पूर्व में जिला चिकित्सालय में रोजाना 34 सिलेंडर उत्पादन क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट कार्यरत है वहीं गत दिनों राज्य सरकार ने 66 सिलेंडर उत्पादन क्षमता का नया प्लांट स्वीकृत किया था जिसका काम तेजी से चल रहा है। इसके बावजूद बीते कुछ दिनों से कोरोना संक्रमितों के लिए ऑक्सीजन की चल रही मारामारी एवं इससे हो रही मुश्किलों को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी को सम्पूर्ण स्थिति से अवगत कराते हुए पुख्ता इंतजाम कराने का आग्रह किया गया। इस पर डॉ. जोशी ने जिला मुख्यालय पर हालात गम्भीर होना देखते हुए तत्काल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा एवं यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल से इस मुद्दे पर चर्चा कर ठोस कदम उठाने पर जोर दिया। इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने स्वायत्त शासन विभाग के अन्तर्गत नगर परिषद के जरिए पृथक से नया ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की मंजूरी दे दी। इसके तहत यूडीएच मंत्री धारीवाल के निर्देश पर विभाग ने हाल ही प्रदेश के अन्य शहरों के साथ राजसमन्द में नगर परिषद के माध्यम से नया प्लांट लगाने के लिए कार्ययोजना तैयार करने के साथ ही तमाम विभागीय प्रक्रियाएं हाथों-हाथ पूर्ण कर ली।

सभापति टांक ने बताया कि नव स्वीकृत प्लांट आरके अस्पताल में स्थापित होगा जिस पर 65 लाख रूपए व्यय होंगे। इसके लिए वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति के बाद निदेशालय स्तर पर निविदा प्रक्रिया भी पूरी हो गई है तथा मुम्बई की निजी फर्म को कार्यादेश भी दे दिए गए है। वैसे उक्त फर्म को राजसमन्द सहित राज्य के 59 नगरीय निकायों में नए स्वीकृत 105 प्लांट लगाने के लिए दो माह की समयावधि दी गई है लेकिन मौजूदा संकट के मद्देनजर उम्मीद है कि यह कार्य एक माह से भी कम समय में पूर्ण होकर उत्पादन शुरू हो जाएगा। एक वर्ष तक इस प्लांट का संचालन उक्त फर्म करेगी वहीं दो वर्ष तक उसकी वारंटी अवधि भी रहेगी। नगर परिषद आयुक्त जनार्दन शर्मा ने बताया कि प्लांट में प्रतिदिन 100 सिलेंडर (7 क्यू मी) ऑक्सीजन उत्पादन होगा जिसकी आपूर्ति आरके अस्पताल में 60 से अधिक बेड पर हो सकेगी जिससे बड़ी राहत मिलेगी। उल्लेखनीय है कि सरकार ने मौजूदा संकट के दौर में जनहित में अहम कदम उठाते हुए प्रदेशभर के विभिन्न शहरों में नए प्लांट के लिए 31.66 करोड़ रूपए की मंजूरी के साथ तेज गति से कार्यादेश जारी कर ऐतिहासिक कार्य किया है।

इधर, कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, नगर परिषद सभापति अशोक टांक, उप सभापति चुन्नीलाल पंचोली आदि ने कहा कि गहलोत सरकार ने कोरोना संकट काल में गत दिनों आरके अस्पताल में 66 सिंलेडर क्षमता के प्लांट की मंजूरी देने के बाद अब 100 सिलेंडर उत्पादन क्षमता के प्लांट की नई सौगात दी है जो क्षेत्र के लिए सुकून का विषय है। सरकार आहत को राहत देने के लिए पूरी तत्परता से कार्य कर रही है। उन्होंने इसके लिए विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी के सहयोग के लिए धन्यवाद भी जताया। नगर परिषद पार्षद मांगीलाल टांक, हेमंत रजक, बंशीलाल कुमावत, कमला गायरी, नारायण गायरी, हिम्मत कीर, राजकुमारी पालीवाल, कमलेश पहाड़िया, लुबना सिलावट, मोनिका खटीक, हिमानी नंदवाना, फूलेश खत्री, चम्पालाल माली, हेमंत गुर्जर, भूरालाल कुमावत, रूबीना बी, पुष्कर श्रीमाली, सुमित्रा नंदवाना, रोहित मीणा, प्रमोद रेगर, जेबा शाहीन, शालिनी कच्छावा, पुष्पा पोरवाड़ आदि ने भी नया ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत होने पर हर्ष व्यक्त किया है।