boltBREAKING NEWS

VIDEO शैक्षिक कार्यों के अलावा गैर शैक्षणिक कार्यों से शिक्षकों को मुक्त करें सरकार- प्रदेशाध्यक्ष शर्मा

VIDEO शैक्षिक कार्यों के अलावा गैर शैक्षणिक कार्यों से शिक्षकों को मुक्त करें सरकार- प्रदेशाध्यक्ष शर्मा

भीलवाड़ा मूलचन्द पेसवानी 

राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) की भीलवाड़ा जिला एवं प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक भीलवाड़ा जिले के शाहपुरा में आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय गांधीपुरी में गुरूवार को आयोजित हुई। बैठक का शुभारंभ राष्ट्र गान से किया गया। जिला अध्यक्ष परेश तिवाड़ी की अध्यक्षता एवं प्रदेशाध्यक्ष नवीन शर्मा के मुख्य आतिथ्य में आयोजित बैठक में शिक्षकों और छात्रों की वर्तमान दौर की ज्वलंत समस्याओं पर चर्चा की गई। जिसमें शिक्षकों को गैर शैक्षिक कार्यों में लगाना और फिर परिणाम की उम्मीद करना यह शिक्षकों के साथ कुठाराघात है। उन्होंने राजनीतिक प्रताड़ना के आधार पर शिक्षकों के तबादले होने पर लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करने का भी निर्णय लिया है। 
जिला मंत्री सुरेश बड़वा एवं सभा अध्यक्ष तेज बहादुर सिंह ने प्रदेश अध्यक्ष के समक्ष भीलवाड़ा जिले की समस्या एम.डी.एम.राशि भुगतान, पदोन्नति प्रकरणों से अवगत कराते हुए शीघ्र समाधान की मांग की।  प्रदेशाध्यक्ष नवीन शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार शिक्षकों के साथ चाहे कितना ही कुठाराघात करे लेकिन हम संगठन और शिक्षा के दायित्व का पूर्ण निष्ठा के साथ निर्वाह करते हुए भारत राष्ट्र को शिक्षा के क्षेत्र में उत्तरोत्तर प्रगति दिलाने का प्रयास करेंगे। उन्होने प्रदेश में स्थानांतरण नीति बनाकर शिक्षकों का पारदर्शी स्थानांतरण करने, चुनाव कार्य में बीएलओ के रूप् में 90 प्रतिशत शिक्षकों को लगाने, 2004 के बाद नियुक्त कर्मचारियों को सभी परिलाभ दिये जाने, कुक कम हेल्पर के मानदेय में वृद्धि करने तथा बालकों को एम.डी.एम. के तहत सुखा राशन ही वितरण करवाने जिससे नामांकन में ठहराव हो सके, जैसी व्यवस्था कराने की बात को रखा। इसके लिए अतिशीघ्र प्रतिनिधि मंडल मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री से मुलाकात कर समाधान का प्रयास किया करेगा। संभाग उपाध्यक्ष भंवरसिंह राठौड़, जिला संगठन मंत्री प्रकाश माणमिया एवं जयकांत पत्रिया ने भी बैठक में अपने विचार रखें। कार्यक्रम का संचालन प्रभारी शिवचरण तिवाड़ी ने किया। उपशाखा अध्यक्ष महेश शर्मा, मंत्री अमर सिंह चैहान एवं जिला उपाध्यक्ष सांवरिया जाट ने अतिथियों का स्वागत सत्कार किया। बैठक में पंकज सोनगरा, नवरत्न बगड़िया, शिव कुम्हार ,पवन  छीपा, हनुमान शर्मा सहित जिले की सभी उपशाखाओं के अध्यक्ष, मंत्री एवं कार्यकारिणी सदस्यों ने भाग लिया।
राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) के प्रदेशाध्यक्ष नवीन शर्मा ने बाद में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि प्रदेश में शिक्षकों के तबादले अनावश्यक रूप् से नहीं किये जाने चाहिए। इसके लिए सरकार को नीति व नियम बनाने चाहिए। संगठन की ओर से दिये मांग पत्र में कहा गया है कि जहां आवश्यकता है तथा जिनको आवश्यकता है उनको प्राथमिकता से स्थानांतरण किया जाना चाहिए। इसके लिए सुस्पष्ट तबादला नीति बननी चाहिए। वर्तमान में तबादले करने की घोषणा से सभी शिक्षक आशंका के साथ नये शिक्षा सत्र में प्रवेश कर रहे है कि कब किसी का तबादला प्रभावशाली लोगों के प्रभाव से हो जाए इससे शिक्षकों की कार्य क्षमता पर प्रतिकूल असर पड़ता है। उन्होंने कहा कि राजनीतिक प्रताड़ना से शिक्षकों के तबादले किये जाते है तो शिक्षक संघ पूरजोर तरीके से वैधानिक व लोकतांत्रिक तरीके से विरोध दर्ज करायेगा। उन्होंने बताया कि शिक्षकों की मांगों के संबंध में आज एक मांग पत्र तैयार किया गया है जिसके संबंध में शिक्षा मंत्री व शिक्षा निदेशक से मुलाकात की जायेगी।