boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

बैंक मैनेजर बनकर रिटायर्ड टीचर से पूछा ओटीपी, चार लाख 35 हजार रुपए उड़़ाए

बैंक मैनेजर बनकर रिटायर्ड टीचर से पूछा ओटीपी, चार लाख 35 हजार रुपए उड़़ाए

बनेड़ा (केके भंडारी)। साइबर ठगी दिनों-दिन बढ़ रही है। साइबर ठग आएदिन लोगों को शिकार बनाकर उनके खून-पसीने की कमाई को उड़ा रहे हैं। ऐसी ही एक वारदात बनेड़ा थाना क्षेत्र के सरदार नगर एसबीआई बैंक के खाताधारक के साथ हुई। ठग ने बैंक मैनेजर बनकर खाताधारक से ओटीपी पूछे और खाते से चार लाख 35 हजार रुपए उड़ा लिए। पीडि़त को अपने साथ हुई ठगी का पता जब चला जब वह बैंक में स्टेटमेंट लेने गया।
पुलिस को दी रिपोर्ट में सरदार नगर हाल मुकाम मांडल निवासी विनोद कुमार ने बताया कि वह रिटायर्ड टीचर है और उसका खाता सरदार नगर के एसबीआई बैंक में है। 27 मार्च को उसके पास एक कॉल आया। फोन करने वाले ने खुद को बैंक का सीनियर मैनेजर बताया और कहा कि आपका खाता बंद होने वाला है। इसे चालू रखने के लिए बैंक का खाता संख्या, एटीएम कार्ड नंबर और पिन नंबर बताना होगा। इस पर खाताधारक ने जानकारी दे दी। कुछ देर बाद उसके मोबाइल पर ओटीपी आया। दोबारा कॉल करके ओटीपी भी पूछ लिया। ऐसा कई बार किया। इसके बाद पीडि़त के खाते से चार लाख पैंतीस हजार रुपए निकाल लिए।
तीन दिन बाद ठगी का पता चला
पीडि़त 30 मार्च को बैंक से स्टेंटमेंट लेने पर उसे ठगी का पता चला। स्टेटमेंट के अनुसार पीडि़त के खाते से 10 बार में यह पैसा निकाला गया है। पीडि़त ने बताया कि पता चलने पर पीडि़त ने कॉल करके पैसा वापस करने को कहा। मगर ठग टालमटोल कर रहा है। खाते में रकम जमा करने और ओटीपी बताने का दबाव बना रहा है।
फोन पर न दें कोई भी जानकारी
साइबर क्राइम सेल के एक्सपर्ट का कहना है कि कोई भी बैंक खाते से संबंधित जानकारी फोन पर नहीं लेता। अगर ऐसा कोई कॉल आए तो जानकारी नहीं देनी चाहिए। इसके बारे में बैंक की शाखा में जाकर ही जानकारी दें।