boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ

आमेट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर 11 मेसे 8 चिकित्सको के पद है रिक्त

आमेट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर 11 मेसे 8 चिकित्सको के पद है रिक्त

 राजसमन्द (राव दिलीप सिंह) जिले में आमेट उपखण्ड मुख्यालय  स्थित राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर बिते 2 वर्षों से लगातार चिकित्सकों के पद रिक्त रहने से आम जनता को चिकित्सा सुविधा के लिए इधर उधर भटकना पड रहा है। तथा हर छोटी-बड़ी दुर्घटना होने की स्थिति मे लोगों को अन्य चिकित्सालयो पर रेफर होना पड़ रहा है। वही स्थानीय जनप्रतिनिधियों की बैरुखी से भी आमेट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर चिकित्सकों की नई भर्ती नहीं हो पा रही है। पूर्व सरकार में जहां पर महिला चिकित्सक सहित 6 पदों पर चिकित्सक अपनी सेवाएं दे रहे थे। परन्तु राज्य सरकार के बदलते ही महिला चिकित्सक,सर्जन सहित अन्य चिकित्सकों के स्थानांतरण होने से विगत 2 वर्षों से इस चिकित्सालय में एक भी नए चिकित्सक की नियुक्ति नहीं हो पाई। स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को पूर्व में पूरे राजस्थान में बेस्ट हॉस्पिटल का अवार्ड प्राप्त हुआ था। किंतु इस बेस्ट हॉस्पिटल में चिकित्सकों की कमी है जो इसके बेस्ट होने पर दाग है। इधर कुंभलगढ़ विधायक सुरेन्द्र सिंह राठौड़ ने राज्य सरकार पर क्षेत्र एवं क्षैत्रवासियो के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए कहा विगत 1 वर्ष से पूरा भारत कोरोना संक्रमण महामारी से जूझ रहा है फिर भी राज्य सरकार द्वारा  विगत 2 वर्षों में  स्थानीय चिकित्सालय के लिए ने एक भी चिकित्सक की नियुक्ति नहीं करके भेदभाव कर रही है।राज्य सरकार ने उन्हीं जगहों पर चिकित्सकों को लगाया । जहां पर सरकार समथंक विधायक हैं । विगत 2 वर्षों में राज्य सरकार द्वारा पांच बार चिकित्सकों के लिए भर्ती की गई। परन्तु कुंभलगढ़-आमेट विधानसभा क्षेत्र के किसी भी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रो पर चिकित्सकों के पद को नहीं भरा गया । इन केन्द्रों पर जनता को भगवान के भरोसे छोड़ दिया गया।राज्य सरकार द्वारा विगत 2 वर्षों में मांग के बावजूद भी कुंभलगढ़ विधानसभा क्षेत्र को हमेशा उपेक्षित रखा।विगत 2 वर्षों में पूर्व में जहां पर 6 चिकित्सक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कार्यरत है। वहीं पर 2 वर्षों के अंतराल में 4 चिकित्सकों के अन्य जगह पर स्थानांतरण होने के बाद यहां पर नया पद नहीं भरा गया। जिससे आने वाले मरीजों को अपना उपचार  कराने में काफी समस्या आ रही है। ऐसे में स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाला हर रोगी भगवान के भरोसे ही आता है। ऐसे में जिम्मेदारों व जनप्रतिनिधि का कर्तव्य बनता है कि वह इस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर अति शीघ्र चिकित्सकों की भर्ती करा आज जनता राहत पहुंचाये।

---------------------------

इनका कहना है ।

 मात्र 3 चिकित्सको में से वर्तमान में 1 चिकित्सक हमेशा फील्ड में रहता है।एक अन्य दंत चिकित्सक है। एक चिकित्सक के भरोसे ही अस्पताल के सारी चिकित्सकीय कार्य संपादित किए जा रहे हैं । विगत 2 वर्षों में आमेट के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर चिकित्सकों के 8 पद रिक्त पड़े हुए हैं। जिनमें कनिष्ठ विशेषज्ञ मेडिसिन के 4 पद,सर्जरी,स्त्री रोग,नेत्र रोग एवं बाल रोग के पद रिक्त हैं। वहीं चिकित्सा अधिकारी के 4 पद रिक्त पड़े हुए हैं। कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना के होने पर  सर्जरी हैतु एक भी चिकित्सक उपलब्ध नहीं है। अगर किसी महिला को किसी भी तरह के उपचार/परामर्श की जरूरत होती है तो महिला चिकित्सक का पद भी रिक्त पड़ा हुआ है ।नैत्र एवं छोटे बच्चों के लिए भी कोई चिकित्सक उपलब्ध नहीं है।

 डॉक्टर सीपी सूर्या, ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी  

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu