boltBREAKING NEWS

कांग्रेस चिंतन शिविर से पहले बड़ा हाईवोल्टेज ड्रामा

कांग्रेस चिंतन शिविर से पहले बड़ा हाईवोल्टेज ड्रामा

उदयपुर/  कांग्रेस पार्टी का चिंतिन शिवर कल यानी शुक्रवार से शुरू होने वाला है। कांग्रेस पार्टी के इस चिंतन शिविर को लेकर पहले से ही चर्चाओं का बाजार गर्म है। लेकिन शिविर शुरू होने से एक दिन पहले यानी गुरुवार को यहां एक सबसे बड़ा हाईवोल्टेज ड्रामा भी हो गया। वैसे तो कांग्रेस के स्थानीय नेता दिल्ली और अन्य प्रदेशों से आने वाले पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं की आवभगत और शिविर की तैयारियों में जुटे थे लेकिन यह ड्रामा उस वक्त हो गया जब यहां पहुंच गये भाजपा के सांसद। 

जी हां, काफी देर तक चले ड्रामे के बाद पुलिस भाजपा के राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा को अपने साथ ले गई। लेकिन उससे पहले जो कुछ हुआ वो बेहद ही दिलचस्प रहा। कांग्रेस के नवसंकल्प चिंतन शिविर के एक दिन पहले जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत उदयपुर में तैयारियों का जायजा ले रहे थे। इस बीच भाजपा नेता किरोड़ीलाल मीणा भी उदयपुर पहुंच गये। प्रेस और मीडिया को सूचना दी गई कि भाजपा नेता होटल हिस्टोरिया रॉयल में एक संवाददाता सम्मेलन करेंगे। लेकिन इससे पहले की मीडिया वहां पहुंचती, वहां पुलिस पहुंच गई। 

होटल में ड्रामा

पुलिस ने होटल में ही भाजपा सांसद की घेराबंदी कर दी और होटल के चप्पे-चप्पे पर पहरा बैठा दिया गया। किरोड़ीलाल मीणा ने कहा कि होटल में पुलिस अधिकारियों ने उनसे कहा कि वे उदयपुर से चले जाएं। इस पर किरोड़ीलाल मीणा ने कहा,  'मैं क्यों चला जाऊं। किस कानून के तहत आप मुझे यहां से भेजना चाहते हैं। मैं अपने कार्यकर्ता के पिता की तबीयत पूछने के लिए आया हूं। इस पर मौजूद अधिकारियों ने कहा कि हमें ऊपर से आदेश हैं, आप यहां नहीं ठहर सकते हैं।'

दोनों पक्षों की काफी गहमागहमी के बाद भी पुलिस ने उन्हें घेरे रखे। इसके बाद उन्होंने अपने समर्थकों के साथ होटल में ही भोजन किया। इसके थोड़ी देर बाद एक और तस्वीर सामने आई। इस तस्वीर को इस पूरे ड्रामे का क्लाइमेक्स भी कहा जा सकता है। इस तस्वीर में नजर आया कि पुलिस भाजपा सांसद को होटल से अपनी गाड़ी में बैठा कर ले गई।

सीएम अशोक गलोत पर गंभीर इल्जाम 
 
जाने से पहले किरोड़ीलाल मीणा ने मीडिया के सामने कहा कि पुलिस उनके साथ जबरदस्ती कर रही है। वो यहां अपने परिचित से मिलने आए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस का चिंतन शिविर जिस होटल में हो रहा है वो पूरी तरह से अवैध है। उसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी पैसा लगा है। उन्होंने कहा, 'मैं सोनिया गांधी से अपील करता हूं कि वे ऐसी होटल में कांग्रेस का शिविर आयोजित न करें जिसमें गहलोत का पैसा लगा हो।'

 दोपहर ढाई बजे बाद किरोड़ीलाल मीणा होटल से बाहर आए और उन्होंने पहले तो पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस मुझे जबरन भेजना चाहती है। इसके बाद उन्होंने कांग्रेस शिविर को लेकर कहा कि शिविर जिस होटल में हो रहा है वो पूरी तरह से अवैध है। इसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पैसा भी लगा हुआ है। उन्होंने सोनिया गांधी से अपील की कि वे उस होटल में शिविर न करे, जिसमें मुख्यमंत्री का पैसा लगा हो। इसके बाद वे पुलिस की गाड़ी में बैठकर चले गए