boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

इन बीमारियों के लिए दवा समान है चीकू, जानें-इसके अद्भुत फायदे

इन बीमारियों के लिए दवा समान है चीकू, जानें-इसके अद्भुत फायदे

 लाइफस्टाइल डेस्क। आधुनिक समय में सेहतमंद रहने के लिए सही दिनचर्या का पालन, उचित खानपान और रोजाना व्यायाम अनिवार्य है। लापरवाही बरतने पर कई बीमारियां दस्तक देती हैं। विशेषज्ञ हमेशा सेहतमंद रहने के लिए संतुलित आहार लेने की सलाह देते हैं। साथ ही डाइट में ताजे फलों और सब्जियों को शामिल करने के लिए कहते हैं। फलों में सेब, केला नारंगी, चीकू, अनार का सेवन रोजाना करें। खासकर चीकू सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। यह फल कई बीमारियों में दवा समान है। इसमें पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम और मैग्नीशियम पाया जाता है। मैग्नीशियम रक्त वाहिकाओं को सुचारू रूप से कार्य करने में सहयोग करता है। वहीं, पोटैशियम रक्त चाप को कंट्रोल करता है। साथ ही रक्त संचरण सही से होता है। इसके अलावा, चीकू एनीमिया में भी फायदेमंद होता है। इसमें आयरन पाया जाता है। आइए, इस फल के अन्य फायदे को जानते हैं-

वजन घटाने में सहायक

जानकारों की मानें तो चीकू में फैट कम और फाइबर अधिक रहता है। इसके लिए चीकू को बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में कारगर बताया गया है। आप चीकू को अपने ब्रेकफास्ट में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा, दिन में किसी समय चीकू का सेवन कर सकते हैं।

पाचन तंत्र होता है मजबूत

चीकू के सेवन से पाचन प्रक्रिया मजबूत होती है। इसमें पॉलीफेनॉल तत्व पाया जाता है, जो पाचन तंत्र को सक्रिय रखने में अहम भूमिका निभाता है। साथ ही इसमें कई अन्य गुणकारी तत्व पाए जाते हैं, जो पेट के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके लिए रोजाना चीकू का सेवन अवश्य करें।

आखों के लिए वरदान

चीकू में विटामिन-ए और सी अधिक मात्रा में पाया जाता है। विटामिन-ए आंखों के लिए वरदान साबित होता है। साथ ही इसके सेवन से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है। इसके लिए अपनी डाइट में चीकू को अवश्य शामिल करें। इसके सेवन से कई बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।