boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

पांच साल से ज्यादा नौकरी पर नहीं रहेंगे संविदाकर्मी

पांच साल से ज्यादा नौकरी पर नहीं रहेंगे संविदाकर्मी

जयपुर। राजस्थान में संविदाकर्मियों को नियमित करने को लेकर सरकार के समक्ष संकट खड़ा हो गया है। प्रदेश में नियमित करने की मांग को लेकर संविदाकर्मी लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं। सरकार ने इनके लिए नए नियम बनाए हैं। प्रदेश में बने नए नियम के अनुसार, संविदाकर्मियों को नियमित करने से पहले कमेटी स्क्रीनिंग करेगी। यह नियम भी पांच साल से लगातार काम कर रहे संविदाकर्मियों पर लागू होगा। कार्मिक विभाग द्वारा जारी नए नियमों में संविदाकर्मियों की भर्ती से लेकर उन्हें नौकरी से हटाने तक के प्रावधान साफ किए गए हैं। अब संविदा पर केवल उन पदों पर भर्ती होगी, जो पद नियमित नहीं है। विभाग अब अपने स्तर पर अनुबंध पर कर्मचारी रख सकेंगे। प्रदेश में अनुबंध पर रखे कर्मचारी को तीन माह का नोटिस या वेतन देकर हटाया जा सकेगा। इसके अतिरिक्त यदि किसी प्रोजेक्ट पर संविदाकर्मी को नियुक्त किया गया है, तो प्रोजेक्ट पूरा होने पर पांच महीने का वेतन देकर उसकी सेवा समाप्त कर दी जाएगी।

60 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति को संविदा पर नहीं रखा जा सकेगा
प्रदेश में संविदा नियुक्तियों में अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, आर्थिक रूप से पिछड़ों को आरक्षण का लाभ दिया जाएगा। नए नियमों के अनुसार, 60 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति को संविदा पर नहीं रखा जा सकेगा। साल, 2002 के बाद जिसके तीसरी संतान हुई हैं, उसे संविदा पर नौकरी नहीं मिलेगी। इसके साथ ही संविदा पर काम करने वालों को प्रतिवर्ष पांच फीसद इंक्रीमेंट मिलेगा। स्वास्थ्य बीमा के 1500 रुपये, दुर्घटना बीमा के 500 रुपये और राष्ट्रीय पेंशन योजना के लिए आधा पैसा सरकार देगी। उल्लेखनीय है कि राज्य में विभिन्न विभागों में चार लाख संविदाकर्मी कार्यरत हैं। नए नियमों में किसी को नियमित करने पर ही संविदाकर्मी को स्क्रीनिंग के बाद नियमित करने का प्रावधान किया गया है, लेकिन उसकी पुरानी सेवा को नहीं गिना जाएगा।

संबंधित खबरें

welded aluminum boat manufacturers