boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करें
  •  
  •  

शिक्षक तबादलों में संवर्गों में विभेद करना, सौतेला व्यवहार

शिक्षक तबादलों में संवर्गों में विभेद करना, सौतेला व्यवहार

 

 

 राजसमन्द (राव दिलीप सिंह) प्रदेश के शिक्षा विभाग में चल रहा 14 जुलाई से 14 अगस्त तक का "तबादला मास" आखिर तृतीय श्रेणी शिक्षकों एवं प्रबोधको को निराश व हताश ही कर रहा है, जिसके कारण लंबे समय से वनवास झेल रहे शिक्षकों तथा उनके परिजनों में चिंता व आक्रोश का माहौल है ! प्रदेश की शैक्षणिक व्यवस्था में शिक्षा, शिक्षार्थी एवं शिक्षकों के विभिन्न संवर्ग निर्धारित कर विद्यालय से निदेशालय तक विभिन्न पद सृजित किए हैं जिनमें पूर्व प्राथमिक शिक्षक, तृतीय श्रेणी शिक्षक लेवल 1 व 2, प्रबोधक, द्वितीय श्रेणी शिक्षक, व्याख्याता, प्रधानाध्यापक, उप प्राचार्य, प्राचार्य सहित ब्लॉक, जिला व मंडल स्तर पर विभिन्न अधिकारियों के पद निर्धारित हैं !प्रदेश में आज तक भी शिक्षा विभाग के इन निर्धारित विभिन्न संवर्गो व पदों की स्थानांतरण नीति निर्धारण नहीं होने के कारण, सत्ता परिवर्तन के साथ ही भारी उलटफेर तथा उठापटक शुरू हो जाती है ! जिसमें मनमर्जी, राजनीति तथा चहेतों को प्राथमिकता व तवज्जो दी जाती रही है, जो शिक्षा, शिक्षार्थी एवं शिक्षकों के लिए न्याय संगत नहीं है ! हाल ही में प्रदेश सरकार में दूसरी बार "तबादला मास" 14 जुलाई से 14 अगस्त प्रक्रियाधीन है जिसमें विशेषकर तृतीय श्रेणी शिक्षकों के साथ सौतेला व्यवहार कर, उन्हें तबादला प्रक्रिया से वंचित रखा जा रहा है ! जिसके कारण प्रदेशभर में तृतीय श्रेणी शिक्षकों से संबंधित विभिन्न शिक्षक संगठन, विरोध प्रदर्शन, ज्ञापन, सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर ट्विटर अभियान या स्थानांतरण की मांग कर रहे हैं !

राजस्थान शिक्षक संघ पंचायती राज संघ जिला शाखा राजसमंद आमेट उपखंड अधिकारी निशा सहारण को मुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री के नाम 2 दिन पूर्व ज्ञापन सौंपा गया संगठन के जिलाध्यक्ष महेंद्र सिंह चुंडावत ने मांग करते हुए कहा कि तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण से प्रतिबंध हटाया जाए राज्य कार्मिकों एवं शिक्षकों के स्थानांतरण से प्रतिबंध हटाया मगर हर बार की तरह इस बार भी तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण पर रोक बरकरार रखते हुए केवल द्वितीय श्रेणी शिक्षकों के ऑनलाइन आवेदन स्वीकार किए हैं। जिला सभा अध्यक्ष मनोज कुमार शर्मा ने कहा की प्राथमिक एवं माध्यमिक शिक्षा के विद्यालयों में कार्यरत तृतीय श्रेणी शिक्षकों शारीरिक शिक्षकों पुस्तकालय अध्यक्षों एवं प्रयोगशाला सहायक के स्थानांतरण किया जाए। विभाग में कार्यरत शिक्षकों के सम्मान विषय सम्मान पद के आधार पर पारस्परिक स्थानांतरण सत्र पर्यंत किए जाने की मांग की। संगठन के जिला मंत्री दिनेश चंद्र खटीक ने स्थानांतरण की पारदर्शी एवं स्थाई नीति बनाकर नीति अनुसार स्थानांतरण किए जाने की मांग की। ज्ञापन तेनु के अवसर पर संगठन के जिलाध्यक्ष महेंद्र सिंह चुंडावत, मनोज कुमार शर्मा दिनेश चंद्र खटीक राम चरण सिंह चुंडावत राजा राम यादव पुष्कर दास बैरागी संजू शर्मा छोटू लाल जीनगर गिरिराज मीणा भल्लू सिंह बसंत कुमार आदि तृतीय श्रेणी शिक्षक  उपस्थित थे।