boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

 दिव्यांग दुल्हे से दगा -2.40 लाख लेकर रचाई थी शादी, दस दिन बाद ही गहने ले भागी लुटेरी दुल्हन 

 दिव्यांग दुल्हे से दगा -2.40 लाख लेकर रचाई थी शादी, दस दिन बाद ही गहने ले भागी लुटेरी दुल्हन 

 भीलवाड़ा प्रेमकुमार गढ़वाल।  अभी शादी हुये दस दिन ही हुये थे कि नई नवेली दुल्हन ज्वैलरी लेकर फरार हो गई। लुटेरी दुल्हन का शिकार  जिले के खेमाणा गांव का एक दिव्यांग युवक बना, जिससे इस लुटेरी दुल्हन, उसके कथित भाई व मां ने 2 लाख 40 हजार रुपये लेकर यह ब्याह करवाया था। इतना ही नहीं, सुनियोजित तरीके से इस वारदात को अंजाम देने के लिए लुटेरी दुल्हन व उसके कथित परिजनों ने फर्जी दस्तावेज तक तैयार किये थे।  दुल्हे ने लुटेरी दुल्हन व उसके परिजनों को अपने स्तर पर तलाशने के काफी प्रयास भी किये, लेकिन जब उनका कहीं पता नहीं चला तो उसने पुलिस से मदद की गुहार लगाते हुये रायपुर थाने में केस दर्ज करवाया है। 

रायपुर थाना प्रभारी प्रेम सिंह ने हलचल को बताया कि खेमाणा गांव निवासी  लक्ष्मण बैरवा पैर से दिव्यांग है। उसके घर में बुजुर्ग मां है। लक्ष्मण की शादी नहीं हो रही थी। ऐसे में उसने समाज के ही कुछ लोगों से अपनी शादी करवाने और कोई लड़की हो तो बताने के लिए कहा था।  
इसके बाद लक्ष्मण के मोबाइल पर जनवरी माह में कॉल आया था। कॉलकर्ता ने लक्ष्मण से कहा कि आप रिश्ते के लिए कोई बात कर रहे थे। हमारे पास एक लड़की है। देखना चाहो तो। इस पर लक्ष्मण ने कॉलकर्ता से कहा कि आप खेमाणा गांव आ जाना। घर देख लेना। इसके बाद एक लड़की, एक युवक व एक महिला खेमाणा आई। इनमें से लड़की ने खुद को दुल्हन सुगना, जबकि युवक ने लड़की का भाई कालू व महिला ने खुद को लड़की की मां मोहनी बताया। इन्होंने लक्ष्मण का घर वगैरा देखकर ये लोग सुगना की शादी लक्ष्मण से करने को तैयार हो गये। 
इसके बाद जनवरी में ही स्टांप पर लिखा-पढ़ी कर लक्ष्मण व सुगना की शादी करवा दी। लड़की पक्ष के लोगों ने लक्ष्मण से 2 लाख 40 हजार रुपये लेकर यह शादी संपन्न करवाई। शादी के बाद से लक्ष्मण व सुगना बतौर पति-पत्नी साथ रह रहे थे। शादी के दस दिन बाद ही 24 जनवरी को सुगना लक्ष्मण के घर से ढाई तोला सोना और 200 ग्राम चांदी के जेवर लेकर बाजार जाकर आने की बात कहकर घर से निकली और फरार हो गई। 
यकायक नई नवेली दुल्हन के घर से जाने और लौटकर वापस नहीं आने से लक्ष्मण व उसके परिजन सकते में आ गये। उन्होंने अपनेस्तर पर लड़की व उसकी कथित मां व भाई की तलाश भी की, लेकिन इन तीनों का कहीं कोई पता नहीं चला। ऐसे में लक्ष्मण बैरवा ने जांच पड़ताल की तो लड़की का आधार कार्ड भी फर्जी निकला। 
उधर, अथक प्रयास के बाद भी लुटेरी दुल्हन व उसके कथित परिजनों का कहीं कोई सुराग हाथ नहीं लगने पर मंगलवार को लक्ष्मण रायपुर थाने पहुंचा और लुटेरी दुल्हन, उसके कथित भाई और मां के खिलाफ रायपुर थाने में केस दर्ज करवाया है। पुलिस अब इल लुटेरी दुल्हन व उसके कथित परिजनों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। 

खुद को बताया चित्तौडग़ढ़ जिले का निवासी
थाना प्रभारी सिंह ने बताया कि लक्ष्मण देखने जब लुटेरी दुल्हन व उसके परिजन खेमाणा आये बौर बातचीत की तो उन्होंने अपने आप को चित्तौडग़ढ़ जिले का निवासी बताया, लेकिन यह पता भी गलत निकला। 

आधार कार्ड पर नाम किसी का और फोटो किसी का
अपने साथ हुये धोखेबाजी के इस खेल को लेकर परेशान लक्ष्मण ने लुटेरी दुल्हन व उसके परिजनों की तलाश के साथ-साथ उनके द्वारा दिये गये आधार कार्ड की जांच करवाई। जांच में आधार कार्ड फर्जी निकला। इस कार्ड पर फोटो लुटेरी दुल्हन का लगा था, जबकि नाम-पता किसी और का निकला। 

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu