boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

पुलिस पर फिर फायरिंग, जवाबी कार्रवाई में हिस्ट्रीशीटर लवली कंडारा की मौत

पुलिस पर फिर  फायरिंग, जवाबी कार्रवाई में हिस्ट्रीशीटर लवली कंडारा की मौत

जोधपुर । हिस्ट्रीशीटर और पुलिस के बीच हुई क्रास फायरिंग में अपराधी लवली कंडारा की गोली लगने से मौत हो गई। 25 साल का लवली कंडारा हिस्ट्रीशीटर मोंटू कंडारा का भाई था, उस पर पर कई मुकदमे दर्ज थे। पुलिस और हिस्ट्रीशीटर में आमने-सामने फायरिंग में थानेदार की अंगुली के भी जख्मी होने की जानकारी आ रही है। वहीं, हिस्ट्रीशीटर की गाड़ी में तीन अन्य लोग भी थे, जिनको पुलिस ने दबोच लिया, जबकि एक अन्य भागने में सफल रहा। घटना की जानकारी मिलने पर जोधपुर पुलिस कमिश्नर जोस मोहन स्वयं घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस कमिश्नर जोश मोहन ने बताया कि जोधपुर के एक वांछित अपराधी को पकड़ने के लिए पुलिस को बुधवार शाम को फायरिंग करनी पड़ी।

इस तरह हुई मुठभेड़

रातानाडा थाना के वंचित मुलजिम लवली कंडारा के जोधपुर केंद्रीय कारागृह के पास होने की सूचना थाना अधिकारी लीलाराम को मिली थी, जिस पर लीलाराम पुलिस जाब्ते के साथ वहां पहुंचे। पुलिस को देख कर लवली अपने साथियों के साथ वहां से भाग गया। इसके बाद पुलिस ने उसका पीछा किया। ग्रीन गेट के पास लवली ने पुलिस पर फायर किया, पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। इसके बाद सारण नगर डिगाडी के बीच में पुलिस और बदमाशों के बीच फिर फायरिंग हुई। इस फायरिंग में एक गोली लवली के पेट में लगने की जानकारी सामने आई है। घायल अवस्था में पुलिस ने उसे अस्पताल पहुंचाया, लेकिन इस बीच उसकी मौत हो गई। प्रारंभिक स्तर पर उसके साथ रहे तीन बदमाशों को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। जबकि एक भागने में कामयाब हो गया है। घटना के बाद सारण नगर मुख्य मार्ग के पास पुलिस का भारी बल तैनात है

आपराधिक रिकार्ड का वांछित है लवली कंडारा

लवली कंडारा जोधपुर के हिस्ट्रीशीटर मोंटू कंडारा का भाई है और स्वयं बनाड़ थाने का हिस्ट्रीशीटर है। इसके अलावा जोधपुर के रातानाडा सहित अन्य थानों में भी उस पर कई मामले दर्ज हैं, जिनमे की वह वांछित था। इसी के चलते रातानाडा थाना अधिकारी को लवली के उनके थाना क्षेत्र में होने की इतना मिली थी जिसके बाद इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया था।

अस्पताल में जुटे लोग

शाम के समय हुए इस घटना क्रम के बाद घायल हिस्ट्रीशीटर को नांदड़ी फाटा से मथुरा दास माथुर अस्पताल उपचार के लिए लाया गया था, जिसके बाद उसे मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस एनकाउंटर की जानकारी पूरे शहर में फैलने के साथ ही बड़ी संख्या में लोग एमडीएम अस्पताल के ट्रामा के बाहर जमा होने लग गए। पुलिस भी स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

संबंधित खबरें