boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए हेल्दी डाइट संग अपनाएं ये तरीके, मिलेगा फायदा

कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए हेल्दी डाइट संग अपनाएं ये तरीके, मिलेगा फायदा
  • कोरोना काल में वायरस से बचने के लिए मास्क और सेनेटाइजर की आवश्यक्ता हो रही होती है लेकिन इस वायरस से लड़ने के लिए आपके शरीर का स्वस्थ्य होना भी जरूरी है. वायरस के खतरनाक प्रभाव से बचने के लिए आप नियमित रूप से अच्छी डाइट लेते रहे. साथ ही समय-समय पर अपने हाथों को पानी से धोते रहे.

कोरोना वायरस से बचने के लिए हेल्दी डाइट है जरूरी.( सांकेतिक फोटो )

किसी बिमारी से लड़ने के लिए दवाईयों के साथ शरीर का स्वस्थ्य होना बेहतर साबित होता है. कोरोना काल के इस दौर ये बात हमें अच्छी तरफ समझ आ गई है. संक्रमण के इस खतरनाक दौर में शरीर की इम्यूनिटी का बेहतर होना कोरोना से लड़ने के लिए एक हाथियार साबित हो रहा है. अच्छा खानपान लेकर हम भी अपनी इम्यूनिटी को बेहतर कर सकते है. व्यक्ति के जन्म से पहले ही उसकी इम्यूनिटी बनने लगती है. इसे जेनेटिक या मेटरनल इम्यूनिटी कहते हैं. बच्चे को मां के दूध से इम्यूनिटी मिलती है. इसके बाद सही खानपान से भी हमें इम्यूनिटी मिलती है. एक्सपर्ट के अनुसार, कोरोना वायरस से बचाव के लिए आपको कुछ चीजों को ले सकते है- विटामिन-सी, विटामिन-डी और जिंक.

स्वस्थ्य रहने के लिए काढ़ा का इस्तेमाल करे

इन दिनों लोग के द्वारा बाजार में मिल रहे काढ़े का खूब इस्तेमाल किया जा रहा है. हल्के खांसी-जुकाम होने पर ज्यादातर लोग काढ़ा पीकर राहत महसूस कर रहे हैं. काढ़ा पीने से गले में खराश कम होना, खांसी में कमी आना, काढ़े से इम्यूनिटी बढ़ना, शरीर के अंदर गर्माहट महसूस होना, मोटापा घटता है. काढ़े का मतलब सिर्फ हल्दी, अदरक, दालचीनी, काली मिर्च, मुलेठी आदि सबको पानी में मिलाकर उबालना नहीं होता. जबकि पेट में अल्सर, किडनी की समस्या तथा 5 बरस से कम उम्र के बच्चों को इससे नहीं देना चाहिए.

 

कोरोना मरीज का डाइट टाइम-टेबल

कोरोना मरीजों को इससे उभारने के लिए निश्चित डाईट देते रहना चाहिए. सुबह 6 बजे तक उठना चाहिए. उठने के बाद एक गिलास गुनगुने पानी में आधे नीबू का रस निकालकर पिएं, इससे शरीर डिटॉक्स होगा. हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि शरीर में पानी की मात्रा कभी कम नहीं होनी चाहिए. इसलिए हर दिन 7 से 8 गिलास पानी जरूर पिएं. यह पानी सामान्य या गुनगुना हो सकता है. इससे पानी की कमी नहीं होगी और विटामिन-सी भी मिलता रहेगा.

इसके बाद नाश्ते में सुबह 8 से 9 के बीच करना चाहिए. इसमें 1 गिलास इलायची मिल्क या 1 गिलास लस्सी और 1 कटोरी दलिया, बेसन का चीला के साथ धनिया पत्ते की हरी चटनी, 1 या 2 अंडे के अलावा आटे वाली ब्रेड और दूध लें. इसके बाद मरीज को 2 घंटे तक आराम करने दे. सुबह 11 से 12 के बीच ग्रीन टी या मॉर्निंग टी या 1 गिलास नीबू पानी या काढ़ा पीना, 1 मौसमी फल और हर दिन 1 आंवला, 4 से 5 खजूर, 1 चम्मच च्यवनप्राश आदि इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजें जरूर खाएं

दोपहर के लंच 1 से 2 बजे के बीच करे इसमें वेज पुलाव या बिरयानी या खिचड़ी (इसमें चावल, दाल के अलावा पालक, लौकी, टमाटर भी हो. इसके अलावा 1 से 2 रोटी, 1 कटोरी चना दाल या मूंग दाल और 1 कटोरी मौसमी हरी सब्जी जिसमें तेल और मसाले का इस्तेमाल कम किया गया हो. शाम 4 से 5 बजे के बीच लस्सी या छाछ या चना सत्तू ड्रिंक और 1 कटोरी रोस्टेड मखाने, पोहा ले. रात 7 से 8 बजे के बीच डिनर कर लें. इसमें पालक या वेज या टमाटर का सूप 1 कटोरी चावल या 1 से 2 रोटी या 1 उपमा या 2 इडली के साथ 1 कटोरी दाल लें. रात 9 से 10 बजे के बीच 1 गिलास गुनगुने दूध में 1 छोटा चम्मच हल्दी डालकर पिएं.

इन तरीकों के अपनाकर आप अपनी इम्यूनिटी को बेहतर कर सकते है. इससे शरीर में ताकत का अहसास होगा. साथ ही कोरोना या अन्य रोगों से लड़ने के लिए आपको मदद मिलेगी.