boltBREAKING NEWS

फॉलोअप कैंप चढ़ा हंगामे की भेंट, नौबत जूतमपैजार होने तक पहुंच गई

फॉलोअप कैंप चढ़ा हंगामे की भेंट, नौबत जूतमपैजार होने तक पहुंच गई

मांडल चंद्रशेखर तिवाड़ी
प्रशासन गांवों के संग अभियान के तहत मांडल पंचायत समिति में गुरुवार को मांडल, धुंवाला और नीम का खेड़ा के लिए आयोजित अंतिम फॉलोअप शिविर हंगामे की भेंट चढ़ गया। हुआ यूं कि शिविर एक तरफ संपन्न होने वाला था कि पट्टों को लेकर धुंवाला पंचायत के सरपंच पुत्र और ग्राम विकास अधिकारी के बीच विवाद हो गया। इस बीच ईश्वर जाट के लंबे समय से पंचायत नहीं खुलने, ग्रामीणों के काम नहीं करने के सरपंच पुत्र पर आरोप लगाने पर सरपंच पुत्र श्यामलाल तेली ने ईश्वर पर अवैध पट्टे बनाने के लिए पंचायत पर दबाव बनाने का आरोप लगाया तो मामला बढ़ गया। दोनों पक्षों में विवाद इतना बढ़ा कि दोनों पक्ष हाथों में जूते लेकर एक दूसरे की ओर बढ़े पर बीच बचाव से हाथापाई होते होते बच गई। 
इससे पूर्व प्रधान शंकरलाल कुमावत, तहसीलदार मदन परमार व अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में आयोजित शिविर में मांडल पंचायत ने 176 आवेदकों को पट्टे वितरित किये। शिविर में मांडल, धुंवाला और नीमखेड़ा सरपंच सहित विभिन्न सरकारी विभागों के अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे। तहसीलदार मदन परमार ने मांडल ब्लॉक में अब तक लगे शिविरों की प्रगति रिपोर्ट सात दिनों में तैयार करने के निर्देश सभी विभागों को दिए। शिविर प्रभारी एवं तहसीलदार परमार ने बताया कि शिविर में ग्राम पंचायत धुंवाला ने 32 व नीमखेड़ा पंचायत ने 20 पट्टे वितरित किये।