boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

बच्चों के सकारात्मक विकास के लिए ऐसे सजाएं उनका कमरा

बच्चों के सकारात्मक विकास के लिए ऐसे सजाएं उनका कमरा

हर माता-पिता के जीवन में सबसे महत्पूर्ण सपना होता है बच्चों की सही परवरिश और उनकी सफलता। इसके लिए उनके पढ़ने और सीखने के साथ उनके सही ढ़ग से रहने और खान-पान का ध्यान रखना भी बहुत जरूरी होता है। खासकर के कोरोना जैसी महामारी और बार-बार के लॉकडाउन का सबसे बुरा असर पड़ा है बच्चों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर। बच्चों के आउट डोर गेम्स पर रोक लगना और लंबे समय तक घरों में कैद रहना उनकी ग्रोथ के लिए सही नहीं है। ऐसे में हमें उनके कमरों को ऐसे व्यवस्थित करना चाहिए जो उनमें पॉजिटिविटी का संचार करे और उनकी ग्रोथ में मददगार हो। आइए जानते बच्चों के कमरों को व्यवस्थित करने के वास्तु टिप्स के बारे में...

1-घर में बच्चों के कमरे के लिए सबसे उपयुक्त दिशा पश्चिम की मानी जाती है। वास्तु के अनुसार अगर संभव होतो बच्चों का कमरा पश्चिम दिशा में ही बनाए।

2- बच्चों का बिस्तर कमरे के दक्षिण-पश्चिम हिस्से में रखना चाहिए और ध्यान रखें कि वो पूर्व-पश्चिम में सिर रख कर सोयें। इससे उनका मानसिक विकास तेजी से होता है।

3- बिस्तर को दरवाजे के एकदम सामने न रखें और कमरे के बीच का भाग या ब्रह्मस्थान को हो सके तो खाली रखें।

4- बच्चों के कमरों को हल्के रंगों आसमानी नीला, गुलाबी, क्रीम कलर से पेन्ट करवाए और दीवारों पर बहुत ज्यादा पोस्टर या आर्ट नहीं बनवाने चाहिए।

5- बच्चों के कमरें बाहर से सूरज की रोशनी और हवा आने का प्रबंध जरूर रखना चाहिए, इससे उनमें सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

6- बच्चों की स्टडी टेबल को पूर्व, उत्तर या उत्तर पूर्व दिशा में लगाना चाहिए। ये दिशाएं एकाग्रता बढ़ाने में मददगार होती हैं।

7- बच्चों के कमरे में टीवी, लैपटॉप आदि इलेक्ट्रानिक गैजटेस जितना संभव उतने कम ही रखें। ये दिमाग को भटकाने का काम करती है।

8- बच्चों का कमरे को व्यवस्थित रखना चाहिए और उनमें भी इस आदत का विकास करना चाहिए।

डिसक्लेमर

'इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।'

संबंधित खबरें