boltBREAKING NEWS

लम्पी रोग की रोकथाम के लिए जिला कलक्टर ने वीसी के माध्यम से दिए निर्देश

लम्पी रोग की रोकथाम के लिए जिला कलक्टर ने वीसी के माध्यम से दिए निर्देश

 भीलवाड़ा, BHN.  जिला कलक्टर  आषीष मोदी ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट परिसर स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र से जिले के समस्त उपखण्ड अधिकारियों, तहसीलदार, अधिशाषी अधिकारियों एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों के साथ विडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस दौरान पंचायत समितियों के प्रधान, सरपंच, पशुपालन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी, स्वयंसेवी संस्थाए व गौशाला संचालक मौजूद रहे।

बैठक में जिला कलक्टर ने सभी उपखण्ड अधिकारियों से उनके क्षेत्र में लम्पी रोग की स्थिति की जानकारी ली। साथ ही उन्होंने उपखण्ड अधिकारियों तथा विकास अधिकारियों से पशुओं के लिये बनाये गये आइसोलेशन सेंटर में चारा, पानी एवं छाया के उचित प्रबंधन करने के निर्देश दिये। उन्होंने दवाईयों की खरीद जल्द से जल्द सुनिश्चित कर पशुपालकों को औषधियों की किट वितरण करवाया जाना सुनिश्चित करने को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि नियमित रूप से जनप्रतिनिधि और भामाशाहों, स्वयंसेवी संस्थाओं, गैर सरकारी संगठनों से मिल रहे सहयोग से शीघ्र ही लम्पी रोग पर नियंत्रण पाया जा सकेगा ।

मृत पशुओं का वैज्ञानिक विधि से हो निस्तारण

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि रोगी पशुओं के उपचार हेतु नजदीकी पशु चिकित्सालय से सम्पर्क करें। पशु बाड़े में कीटनाशक दवा का छिड़काव करें। मृत पशु के शव का निस्तारण वैज्ञानिक विधि से ही करें। इसके लिए डेढ़ मीटर गड्ढा खोद कर मृत पशु के शव पर चूना या नमक डालकर कर दफना दें। पशु बाड़े में नियमित रूप से साफ-सफाई एवं हवा व रोशनी की पर्याप्त व्यवस्था रखें।

उन्होंने कहा कि रोगी पशुओं को खिलाने-पिलाने के बाद बचे हुए चारा-दाना व पानी को अन्य स्वस्थ पशुओं को नहीं खिलाएं-पिलाएं। स्वस्थ एवं रोगी पशुओं को चारा दाना एवं पानी साथ साथ न दें। स्वस्थ पशुओं से पहले रोगी पशुओं के दैनिक कार्य नहीं करें। रोग प्रकोप के दौरान पशुओं का क्रय-विक्रय नहीं करें। पशु बाड़े में पशुओं के गोबर व मूत्र को एकत्रित नहीं रखें।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मुश्ताक खान ने बताया कि 2 अक्टूबर से ग्राम सभाओं का आयोजन कर मुख्यमंत्री निशुल्क निरोगी राजस्थान योजना, मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना, दवा योजना, मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना आदि योजनाओं का प्रचार प्रसार चिकित्सा विभाग के कार्मिकों द्वारा किया जाएगा।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) डॉ. राजेश गोयल, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर)  उत्तम सिंह शेखावत, जिला परिषद सीईओ डॉ. शिल्पा सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।