boltBREAKING NEWS
  •   दिन भर की वीडियो न्यूज़ देखने के लिए भीलवाड़ा हलचल यूट्यूब चैनल लाइक और सब्सक्राइब करें।
  •  भीलवाड़ा हलचल न्यूज़ पोर्टल डाउनलोड करें भीलवाड़ा हलचल न्यूज APP पर विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे विजय गढवाल  6377364129 advt. [email protected] समाचार  प्रेम कुमार गढ़वाल  [email protected] व्हाट्सएप 7737741455 मेल [email protected]   8 लाख+ पाठक आज की हर खबर bhilwarahalchal.com  

ब्यावर-आसींद ,मांडल -आसींद खंड के 2 लेन पेव्ड शोल्डर निर्माण का लोकार्पण,उदयपुर में बोले गडकरी- जयपुर-दिल्ली के बीच शीघ्र इलेक्ट्रिक हाईवे बनेगा

ब्यावर-आसींद ,मांडल -आसींद खंड के 2 लेन पेव्ड शोल्डर निर्माण का लोकार्पण,उदयपुर में बोले गडकरी- जयपुर-दिल्ली के बीच शीघ्र इलेक्ट्रिक हाईवे बनेगा

 भीलवाडा /उदयपुर,  । केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को राजस्थान में विभिन्न सड़क परियोजनाओं की सौगात देते हुए ऐलान किया है कि जयपुर-दिल्ली के बीच शीघ्र इलेक्ट्रिक हाईवे बनेगा। दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे के साथ ही यह इलेक्ट्रिक हाई-वे एक नई लेन पर बनाया जाएगा। जयपुर से दिल्ली के बीच देश में ई-हाइवे का यह पहला प्रयोग होगा।भीलवाड़ा जिले को दो रोड प्रोजे€ट की सौगात दी। उन्होंने मांडल से आसींद तथा आसींद से Žयावर दो लेन पेव्ड शोल्डर निर्माण प्रोजे€ट का लोकार्पण किया। 87 किमी लंबाई केइन प्रोजे€ट के निर्माण पर 392 करोड़ रुपए खर्च हुए है

गडकरी आज उदयपुर में महाराणा प्रताप हवाई अड्डे के समीप एक निजी रिसोर्ट में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा, उपमुख्यमंत्री दीया कुमारी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और चित्तौड़गढ़ सांसद सीपी जोशी सहित विभिन्न जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में गडकरी ने राजस्थान में 2500 करोड़ रुपये लागत की 17 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

गडकरी ने कहा कि उन्होंने पानी में उतरने वाले हवाई जहाज की संकल्पना की थी और साबरमती में साकार किया। राजस्थान पर्यटन शहर है और यहां झीलें भी हैं। यहां भी पर्यटन की दृष्टि से पानी में भी उतर सकने वाले हवाई जहाज चलाने पर विचार किया जा सकता है। एयरपोर्ट के साथ रिवर पोर्ट पर भी विचार किया जा सकता है। उन्होंने अमेरिका के पहले राष्ट्रपति जॉन एफ. कैनेडी के कहे गए वाक्य का उदाहरण देते हुए कहा कि जहां भी रोड नेटवर्क विकसित होता है, वहां नया शहर बसता है। उन्होंने उदयपुर के नए बाईपास को लेकर कहा कि इससे उदयपुर में एक्सपोर्ट की सुविधा बढ़ेगी, जिससे उद्योगों को लाभ होगा और नए रोजगार सृजित होंगे।

गडकरी ने यह भी कहा कि हम रोड नेटवर्क बना रहे हैं लेकिन इसके साथ हमें फ्यूल ट्रांसफ़ॉर्मेशन पर भी सोचना होगा। पेट्रोल-डीजल से हटकर बायो फ्यूल व वैकल्पिक फ्यूल की तरफ बढ़ना होगा। उन्होंने ई-हाइवे की अवधारणा पर कहा कि सड़क के ऊपर से गुजरती इलेक्ट्रिक लाइन से तीन बसों जितनी लम्बी बस जुड़ी होगी। इन बसों का सफर यात्रियों हवाई जहाज के सफर का अहसास कराएगा। इसका किराया भी तुलनात्मक रूप से कम होगा।

गडकरी ने कार्यक्रम में चित्तौड़गढ़-उदयपुर खंड के सिक्स लेन निर्माण, ब्यावर-आसींद खंड के दो लेन पेव्ड शोल्डर निर्माण, आसींद-मांडल खंड के 2 लेन पेव्ड शोल्डर निर्माण, ब्यावर-गोमती खंड बाघाना से मादा की बस्सी 4 लेन निर्माण, भंवरासिया से मोडी-कुराबड़ सड़क एमडीआर-150 के चौड़ीकरण का लोकार्पण किया।गडकरी ने गागरिया-मुनाबाव खंड के 2 लेन पेव्ड शोल्डर निर्माण, सांचौर शहर में एलिवेटेड राजमार्ग निर्माण, साकरोदा-मेनार सड़क के चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य, बालूखल से अमलवाडा-अली-मौखमपुरा सड़क के चौड़ाईकरण कार्य, घणोली-देलवाड़ा सड़क के चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य, चेनपुरा फाटक, झिलाई फाटक टोंक, रीको फाटक भरतपुर, हिण्डौन फाटक, हरसोली फाटक, डबल फाटक अलवर, सांचोर फाटक पर सेतुबंधन परियोजना के अंतर्गत रेलवे क्रॉसिंग पर सात पुलों के निर्माण का शिलान्यास किया।

इससे पूर्व, राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने केन्द्रीय मंत्री गडकरी का स्वागत करते हुए कहा कि वे उनसे जितनी बार मिलते हैं, कार्य के साथ नए आइडिया भी मिलते हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान में डबल इंजन की सरकार रोड नेटवर्क के साथ अन्य जरूरतों की दिशा में भी कार्य कर रही है।