boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करें
  •  
  •  

टरनेट स्पीड में भारत फिर फिसड्डी साबित

टरनेट स्पीड में भारत फिर फिसड्डी साबित

नई दिल्ली। भारत "डिजिटिल इंडिया" की दिशा में तेजी से कदम रहा है। लेकिन भारत की मोबाइल और ब्रॉडबैंड स्पीड डिजिटल इंडिया के सपने में बाधा बन रही है। पिछले साल के आंकड़ों पर गौर करें, तो इस साल भारत की मोबाइल और ब्रॉडबैंड इंटरनेट स्पीड मामूली बढ़ी है। Ookla की ग्लोबल इंडेक्स रिपोर्ट के मुताबिक मोबाइल इंटरनेट स्पीड के मामले में जून माह में भारत को 137 देशों के बीच 122वां पायदान हासिल हुआ है। जबकि इस लिस्ट में नेपाल और पाकिस्तान जैसे देश भारत से कहीं आगे खड़े नज़र आते हैं।

इस साल जून माह में भारत की औसत मोबाइल डाउनलोडिंग स्पीड 17.84Mbps रही है। वही इस दौरान पाकिस्तान 19.61Mbps के साथ 114वें पायदान पर काबिज रहा। जबकि 22.08Mbps के साथ नेपाल को 105वां स्थान हासिल हुआ। नेपाल ने पिछले माह के मुकाबले रैकिंग में 14 पायदान का सुधार किया है। 

टॉप 5 मोबाइल डाउनलोडिंग स्पीड वाले देश

यूनाइटेड अरब अमीरात 193.51Mbps

  • साउथ कोरिया 180.48Mbps
  • कतर 171.76Mbps
  • नार्वे 167.60Mbps
  • साइप्रस 161.80Mbps

अगर फिक्स्ड इंटरनेट स्पीड की बात करें, तो भारत की जून माह में 181 देशों के बीच 70वीं रैंकिंग रही है। इस दौरान औसत डाउनलोडिंग स्पीड 58.17Mbps रही। जो कि मई माह की 55.65Mbps से ज्यादा है। फिक्स्ड ब्रॉडबैंड इंटरनेट स्पीड की रैकिंग के मामले में नेपाल और पाकिस्तान भारत से पीछे हैं। इस लिस्ट में पाकिस्तान में 164वां स्थान मिला है। जबकि नेपाल 115वें स्थान पर है।

टॉप 5 फिक्स्ड ब्रॉडबैंड स्पीड वाले देश

  • Monaco - 260.74Mbps
  • सिंगापुर - 252.68Mbps
  • हांग-कांग - 248Mbps
  • रोमानिया - 220.68Mbps
  • डेनमार्क - 217.18Mbps

अगर ग्लोबल मोबाइल इंटरनेट स्पीड की बात करें, तो जून माह में औसत डाउनलोडिंग स्पीड 55.34Mbps रही। जबकि अपलोडिंग स्पीड 12.69Mbps थी। जबकि फिक्स्ड ब्रॉडबैंड स्पीड के मामले में औसत डाउनलोडिंग स्पीड 106.61Mbps रही। जबकि अपलोडिंग स्पीड 57.67Mbps रही।