boltBREAKING NEWS

पुर स्कूलों की जर्जर हालत को लेकर राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन, दी आंदोलन की चेतावनी

पुर स्कूलों की जर्जर हालत को लेकर राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन, दी आंदोलन की चेतावनी

भीलवाड़ा । पुर में राजकीय स्कूलों की बिल्डिंगों में आ रही दरारों से जर्जर हालत में होने को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार पर्यावरण सुरक्षा एवं भ्रष्टाचार निवारण संगठन द्वारा संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष बालू सिंह जाला जिला संरक्षक सत्यनारायण व्यास, प्रेम कुमार बिश्नोई, जिला अध्यक्ष रतनलाल आचार्य युवा जिला अध्यक्ष मुकेश सोनी के नेतृत्व में उपनगर पुर की राजकीय स्कूलों की जर्जर हालात का निरीक्षण किया जाकर हालत बहुत खराब होने से स्कूल भवनों के गिरने की संभावना से कभी भी कोई जानलेवा दुर्घटना घटित हो सकती है। इसे लेकर आज संगठन द्वारा राज्यपाल राजस्थान सरकार के नाम जरिये एडीएम सिटी को ज्ञापन सोपा तथा मांग की कि पुर के तीनों राजकीय स्कूलों जिनमें राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय पुर, राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय हॉस्पिटल रोड , राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय नागौरी मोहल्ला की जर्जर हालात को नगर विकास न्यास को आदेशित कर जल्द से जल्द मरम्मत आवश्यकतानुसार निर्माण करवाया जाकर इस समस्या से निजात दिलाई जावे।

संगठन के जिला अध्यक्ष रतनलाल आचार्य ने बताया कि इन राजकीय भवनों में आई दरारों के समय मुख्यमंत्री द्वारा दौरा किया जा कर इनकी हालत नाजुक होने से तत्कालीन जि‍ला कलेक्‍टर को मरम्मत करवाने का आदेश दिया था लेकिन आज दिन तक प्रशासन द्वारा स्कूलों में कुछ भी मरमत या निर्माण नहीं किया गया जिससे यहां पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं तथा शिक्षकों को कभी भी किसी भी दुर्घटना का शिकार होना पड़ सकता है।  अतः जल्द से जल्द इन स्कूलों का प्रशासन द्वारा निरीक्षण कर मरम्मत करवाई जावे अन्यथा संगठन द्वारा पुर ग्राम वासियों के सहयोग से प्रशासन व सरकार के खिलाफ एक बड़ा आंदोलन किया जाएगा जिसकी समस्त जिम्मेदारी प्रशासन की वह सरकार की होगी।
ज्ञापन देते समय प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गोपाल राव जिला महासचिव महावीर व्यास जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष माधव लाल बिश्नोई जिला उपाध्यक्ष सुरेश चंद्र तिवारी, महावीर सेन, जिला सचिव गोपाल पलोड , सदस्य भंवरलाल छिपा ,राकेश खोईवाल, अभिषेक जोशी किशन तेली, संजय अटारिया, रतन लाल रेगर, सांवरमल माली, प्रीतम बिश्नोई, कालू माली, अरुण विश्नोई, मदन आचार्य ,गोविंद आचार्य, सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।