boltBREAKING NEWS
  • जयपुर : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की प्रदेश के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- दोषियों को बख्शेंगे नहीं
  • भीलवाड़ा : जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने लोगों से की शांति की अपील, बोले- अफवाहों पर न दें ध्यान  
  • भीलवाड़ा : एसपी आदर्श सिधू ने की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- पुलिस का सहयोग करें और कानून व्यवस्था बनाए रखें 
  •  

एनसीबी का कर्मचारी बता व्यापारी को एनडीपीएस एक्ट में फंसाने की धमकी, मांगे तीस लाख, पकड़े गए

एनसीबी का कर्मचारी बता व्यापारी को एनडीपीएस एक्ट में फंसाने की धमकी, मांगे तीस लाख, पकड़े गए

जोधपुर.

दो लोगों ने स्वयं को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो(एनसीबी) का कर्मचारी बता एक व्यापारी को एनडीपीएस एक्ट में फंसाने की धमकी देकर  तीस लाख वसूलने की योजना बना ली। वे व्यापारी से पैसे वसूल कर पाते उससे पहले  पुलिस के हत्थे चढ़ गए। अब पुलिस मामले की जांच करने में जुटी है। पुलिस फिलहाल इस मामले में अधिक जानकारी देने से कतरा रही है। पुलिस का कहना है कि व्यापारी ने आरोप लगाया है कि एनसीबी के एक अधिकारी के लिए वसूली करने के नाम पर मुझे झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर पैसे मांगे गए। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए दोनों युवक एनसीबी के कर्मचारी है। उनसे पूछताछ की जा रही है। शाम तक पूरे मामले का खुलासा होने की उम्मीद है।

जोधपुर का एक मार्बल व्यापारी खरीदारी के लिए राजसमंद जा रहा था। पाली से आगे निकलने पर उसे दो युवकों ने पकड़ लिया। दोनों ने स्वयं को एनसीबी का कर्मचारी बताया। उन्होंने व्यापारी को धमकाया कि यदि तीस लाख रुपए नहीं दिए गए तो एनडीपीएस एक्ट में फंसा देंगे। व्यापारी के विरोध करने पर दोनों ने उसके साथ मारपीट की। बाद में दोनों उसे उठा कर अपने साथ ले गए।

व्यापारी ने दोनों को पैसे देने के लिए अपने परिजनों से बात की। परिजनों ने एक बार पांच लाख रुपए का इंतजाम किया और व्यापारी सहित दोनों को पाल रोड पर अशोक उद्यान के समीप बुलाया। वहां पहुंचने से पूर्व उन्होंने चौपासनी हाउसिंग बोर्ड पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दे दी। ऐसे में पुलिस पहले से सतर्क हो गई और मौके पर नजर रखे रही।

दोनों युवक एक कार में व्यापारी को लेकर अशोक उद्यान पहुंचे। वहां उसके परिजनों ने दोनों युवकों को बातचीत में उलझाए रखा। इस दौरान पुलिस टीम ने दोनों को दबोच लिया। पुलिस ने स्वीकार किया है कि इस तरह का मामला सामने आया है। जांच जारी है। जांच पूरी होने के बाद ही मामले का पूरी तरह से खुलासा हो सकेगा।