boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करे या 7737741455 पर जानकारी दे, तथाकथित लोगो से सावधान रहें । 
  •  
  •  
  •  

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनेगा उत्तरी भारत का लॉजिस्टिक गेटवे - प्रधानमंत्री मोदी

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनेगा उत्तरी भारत का लॉजिस्टिक गेटवे - प्रधानमंत्री मोदी

नोएडा । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ग्रेटर नोएडा के जेवर में एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट की आधारशिला रखी। पीएम मोदी हेलीकॉप्टर से करीब 1.45 बजे कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। जहां हेलीपैड पर उतरने के बाद वह सीधे शिलान्यास स्थल पहुंचे। इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ समेत तमाम स्थानीय नेताओं ने पीएम मोदी का स्वागत किया। इसके बाद पीएम मोदी ने नोएडा एयरपोर्ट के मॉडल को देखा और फिर मंच पर पहुंचकर नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया।

शिलान्यास के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज इस एयरपोर्ट की भूमि पूजन के साथ ही जेवर भी अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर अंकित हो गया है। इसका बहुत बड़ा लाभ दिल्ली एनसीआर और पश्चिमी यूपी के करोड़ों लोगों का होगा। मैं इसके लिए आप सभी को बधाई देता हूं। 21वीं सदी का नया भारत आज एक से बढ़कर एक बेहतरीन आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है। बेहतर सड़कें, बेहतर रेल नेटवर्क, बेहतर एयरपोर्ट यह सिर्फ एक प्रोजेक्ट ही नहीं होते यह पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं। उन्होंने कहा कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कनेक्टिविटी की दृष्टि से भी एक बेहतरीन मॉडल बनेगा। यहां आने जाने के लिए टैक्सी से लेकर मेट्रो रेल तक हर तरह की कनेक्टिविटी होगी।

पूरे क्षेत्र के विकास को नई गति मिलेगी

उन्होंने कहा कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट उत्तरी भारत का लॉजिस्टिक गेटवे बनेगा। यह पूरे क्षेत्र को नेशनल स्तर पर मास्टर प्लान का एक सशक्त प्रतिबिंब बनाएगा। एयरपोर्ट विमानों के रखरखाव रिपेयर ऑपरेशन का देश का सबसे बड़ा सेंटर होगा। यहां 40 एकड़ में मेंटेनेंस रिपेयर और ओवरहाल सुविधा बनेगी, जो देश और विदेश के विमानों को सर्विस देगी और सैकड़ों युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराएगी। आज हम अपने 85 प्रतिशत विमानों को एमआरओ सेवा के लिए विदेश भेजते हैं। हर वर्ष 15000 करोड़ रुपये खर्च होते हैं। इससे इस पूरे क्षेत्र के विकास को एक नई गति मिलेगी। एक नई उड़ान मिलेगी। हम सभी यह जानते हैं जिन राज्यों की सीमा समंदर विकास के लिए उसकी बड़ी ताकत काम आती है। यूपी जैसे लाइन लॉक राज्यों के लिए यह भूमिका एयरपोर्ट की होती है। इंटरनेशनल एयरपोर्ट अंतरराष्ट्रीय बाजारों को सीधे कनेक्ट करेगा। यहां के छोटे किसान फल, सब्जी और मछली जैसी चीजों को सीधे एक्सपोर्ट कर पाएंगे।

यूपी को जोड़ने वाले रेल कॉरिडोर से उत्तर प्रदेश की नई पहचान बनेंगी

उन्होंने कहा कि हवाई अड्डे के निर्माण के दौरान रोजगार के हजारों अवसर बनते हैं। हजारों की आवश्यकता होती हैं। पश्चिमी यूपी के लोगों को यह एयरपोर्ट नए रोजगार की देगा। हम सबने देखा कि माता वैष्णो देवी की यात्रा हो या केदारनाथ की यात्रा, हेलीकॉप्टर सेवा से जुड़ने के बाद वहां निरंतर बढ़ोतरी हो रही है। पश्चिमी यूपी के प्रसिद्ध आस्था से जुड़े बड़े केंद्रों के लिए नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट यही काम करने वाला है। डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से आज उत्तर प्रदेश देश से कनेक्ट क्षेत्रों में परिवर्तित हो रहा है। पश्चिमी यूपी में भी लाखों करोड़ों के बजट पर तेजी से काम चल रहा है। रैपिड रेल कॉरिडोर एक्सप्रेस वे हो, मेट्रो कनेक्टिविटी हो, पूर्वी और पश्चिमी समंदर से यूपी को जोड़ने वाले रेल कॉरिडोर उत्तर प्रदेश की नई पहचान बनेंगी।

पहले की सरकार ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश को नजरअंदाज किया

उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को अंधकार में बनाए रखा। पहले की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को झूठे सपने दिखाए। वही उत्तर प्रदेश आज राष्ट्रीय नहीं अंतरराष्ट्रीय छाप छोड़ रहा है। आज देश और दुनिया के निवेशक कहते हैं कि उत्तर प्रदेश यानी उत्तम सुविधा निरंतर निवेश उत्तर यूपी की अंतरराष्ट्रीय पहचान को एयर कनेक्ट इनाम दे रही है। आने वाले 3 सालों में जब एयरपोर्ट काम करना शुरू करेगा तो यूपी 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला राज्य बन जाएगा। पहली सरकारी ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास को नजरअंदाज किया। दो दशक पहले यूपी की भाजपा सरकार ने इस प्रोजेक्ट का सपना देखा था, लेकिन बाद में दिल्ली और लखनऊ में खींचतान के चलते उलझा रहा। उन्होंने कहा कि पहले की सरकार ने लिखकर दिया था कि इस एयरपोर्ट को बंद करा दिया जाए।

संबंधित खबरें