boltBREAKING NEWS

आचार्य श्रीरामदयालजी महाराज के सानिध्य में मनाया जाएगा राष्ट्रपर्व से रामपर्व तक 

आचार्य श्रीरामदयालजी महाराज के सानिध्य में मनाया जाएगा राष्ट्रपर्व से रामपर्व तक 

 भीलवाड़ा हलचल।  महोत्सव का आगाज राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस से होगा ओर समापन 4 फरवरी को रामपर्व यानी स्वामी श्रीरामचरणजी महाप्रभु के 303वें प्राकट्य दिवस पर होगा। राष्ट्रभक्ति से लेकर रामभक्ति तक से ओतप्रोत अन्तरराष्ट्रीय श्रीरामस्नेही सम्प्रदाय आचार्य स्वामीजी श्रीरामचरण महाप्रभु प्राक्ट्य 303वें दस दिवसीय महोत्सव एवं विराट आध्यात्मिक सत्संग का आगाज 26 जनवरी गणतंत्र दिवस एवं बंसत पंचमी (माघ शुक्ला पंचमी) के अवसर पर भीलवाड़ा के माणिक्यनगर स्थित रामद्वारा में होगा। रामस्नेही सम्प्रदाय के पीठाघीश्वर आचार्य श्रीरामदयालजी महाराज के सानिध्य मेें होने वाले महोत्सव का समापन 4 फरवरी को माघ शुक्ला चतुर्दशी को स्वामी श्रीरामचरणजी महाप्रभु के प्राकट्य दिवस पर होगा। दस दिवसीय महोत्सव के तहत सबसे पहले 26 जनवरी सुबह 8.30 बजे रामस्नेही चिकित्सालय में गणतंत्र दिवस समारोह मनाते हुए राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाएगा। संतों के प्रवचन एवं आचार्य श्रीरामदयालजी महाराज का आशीवर्चन गणतंत्र दिवस से 4 फरवरी तक प्रतिदिन सुबह 9 से 11 बजे तक रामद्वारा में होगा। पहले दिन गुरूवार को सुबह 11.15 बजे से सम्पूर्ण वाणीजी पाठ का शुभारंभ होगा। महोत्सव के तहत प्रतिदिन रामद्वारा में सूर्यास्त के समय संध्या आरती होगी। महोत्सव के तहत 3 फरवरी रात 8 बजे से मध्यरात्रि तक रात्रि जागरण का आयोजन रामद्वारा में होगा। महोत्सव के समापन दिवस 4 फरवरी को सुबह 8.30 बजे से प्राइवेट बस स्टेण्ड स्थित विजयवर्गीय भवन से शोभायात्रा शुरू होगी। शोभायात्रा मुख्य मार्गो से होते हुए रामद्वारा तक पहुचेंगी। महोत्सव आयोजन समिति ने सभी धर्मप्रेमियों से दस दिवसीय आयोजन के तहत होने वाले सभी कार्यक्रमों में शामिल होकर उन्हें सफल बनाने एवं धर्मलाभ प्राप्त करने की अपील की है।