boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल के नाम पर किसी को जबरन विज्ञापन नहीं दें और धमकाने पर सीधे पुलिस से संपर्क करें
  •  
  •  

नया भूमि आवंटन नियम नव उद्यमियों के अनुकूल - मंत्री  सखलेचा

नया भूमि आवंटन नियम नव उद्यमियों के अनुकूल - मंत्री  सखलेचा

   सिंगोली दिनेश जोशी।सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री  ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा है कि मध्यप्रदेश सरकार की मंशा है कि नव उद्यमियों की पूंजी का बड़ा भाग तकनीकी और उपकरण खरीदने में लगे न कि जमीन खरीदने में। उन्होंने कहा कि हाल ही में लागू किए गए औद्योगिक भूमि तथा भवन आवंटन एवं प्रबंधन नियम का मकसद भी यही है। मंत्री  सखलेचा मंगलवार को मंडीदीप में भूमि आवंटन नियम और ऑनलाइन नीलामी प्रक्रिया विषय पर भोपाल और सागर संभाग के उद्यमियों तथा जिला उद्योग केन्द्र के अधिकारियों की कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। कार्यशाला का आयोजन जिला उद्योग केन्द्र भोपाल और उद्योग परिसंघ मंडीदीप द्वारा किया गया था।

 

 मंत्री सखलेचा ने कहा कि उनकी सरकार की मंशा है कि नव उद्यमी अपना एक-एक मिनट उत्पादक गतिविधियों में लगाए सरकार उनके लिए मित्रवत पालिसी बना रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने तय किया है कि अब पालिसी पाँच साल में नहीं बनेगी बल्कि उद्योगों की जब भी जरूरत होगी आवश्यक बदलाव किए जाते रहेंगे। मंत्री श्री सखलेचा ने इस दौरान उद्यमियों द्वारा भूमि आवंटन नियमों को लेकर किए गए प्रश्नों का मौके पर ही समाधान किया।

 लद्यु उद्यम मंत्री ने कहा कि 5 उद्यमियों के क्लस्टर को भी अब आसानी से जमीन मिल सकेगी और अविकसित जमीन ई-नीलामी से देने की नीति के पीछे सरकार की मंशा है कि एक इंच भी जमीन खाली न रहे और पूरे प्रदेश में उद्योगों का जाल फैल जाए। उन्होंने कहा कि 13 क्लस्टर आधारित इकाईयों पर त्वरित गति से काम चल रहा है और नई नीति से नव उद्यमी बड़ी संख्या में आकर्षित हुए हैं।

  मंत्री   सखलेचा ने उद्यमियों से अपील की है कि दुनिया में चीनी माल के बाजार में 25 फीसदी से अधिक गिरावट के दृष्टिगत वे अपनी वर्क फोर्स को अच्छा पारिश्रमिक देकर और तकनीकी का उपयोग कर अपनी उत्पादन लागत को कम कर अपने माल को अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुँचाएं। उन्होंने कहा कि लद्यु उद्योग निगम को छोटी इकाईयों के लिए कच्चे माल और बाजार उपलब्ध कराने के लिए भी तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश के प्रौद्योगिकी विकसित करने वाले 36 लैब को भी उद्योगों को तकनीकी हस्तांतरण के लिए जोड़ा गया है।

   सखलेचा ने सब्सिडी पालिसी को उदार बनाने के साथ ही ब्याज दरों को न्यूनतम रखने और आद्योगिक क्षेत्रों के अन्य 4 किलोमीटर की परिधि में कामगारों की बस्ती विकसित करने पर सरकार लगातार काम कर रही है। इससे पहले मंत्री  सखलेचा ने एसोसिएशन आफ आल इंडस्ट्रीज परिसर मंडीदीप में कामगारों के लिए बनाए गए आधुनिक फीजियो थैरेपी सेंटर का रिबन काटकर उद्घाटन किया। कार्यक्रम को आद्योगिक परिसंघ के अध्यक्ष  राजीव अग्रवाल,  मनोज मोदी और एमएसएमई के संयुक्त संचालक   संजय पाठक ने भी संबोधित किया।