boltBREAKING NEWS

किसी भी एक वक्त का खाना न खाने से हो सकते हैं सेहत को ये सारे नुकसान

 किसी भी एक वक्त का खाना न खाने से हो सकते हैं सेहत को ये सारे नुकसान

  आज के दौर में हमारी जिस तरह की व्यस्त और मुश्किल दिनचर्या है, खाना ना खा पाना और कुछ ऐसा खाना जो हमें पता है कि हमारे लिए अच्छा नहीं, बहुत ही आम है। 24 घंटे फूड डिलीवरी के ऑप्शन ने काफी हद तक खाने की आदत बिगाड़ने का काम किया है। हालिया रिसर्च के अनुसार, एक अच्छी और एक्टिव लाइफस्टाइल के लिए भोजन का समय और सामग्री की सही योजना बनाना बहुत जरूरी है। जिसके बारे में आज हम यहां जानने वाले हैं।

   ब्रेकफास्ट (नाश्‍ता)

सबसे महत्वपूर्ण खाना होने के कारण, ‘अपना ब्रेकफास्ट एक राजा की तरह करना’ एक सही सलाह है, जो अक्सर हमारे बड़े-बूढ़े हमें देते हैं। यह जानना बेहद जरूरी है कि सुबह के समय हमारा ब्लड शुगर का लेवल उपयुक्त माने जाने वाले स्तर से कम होता है और शरीर का ऊर्जा खत्म हो चुकी होती है। सही वक्त पर और हेल्दी ब्रेकफास्ट करने से से बॉडी को एक्टिव और वजन को मेनटेन रखा जा सकता है। इससे मेटाबॉलिज्म भी सुधरता है।

दोपहर का भोजन

दोपहर के खाने को एक जरूरी भोजन माना जा सकता है, क्योंकि यह जरूरी पोषक तत्वों के साथ शरीर को तरोताजा करने में मदद करता है और रोजमर्रा के काम करने की हमें ऊर्जा देता है। काम के दबाव, मीटिंग का देर तक चलना, ऑफिस की डेडलाइन या फिर वजन कम करने के फेर में दोपहर का भोजन ना करना आम होता है। वेट कंट्रोल इंफॉर्मेशन नेटवर्क के अनुसार जो लोग अक्सर ही खाना छोड़ देते हैं, उनका वजन उन लोगों की तुलना में ज्यादा बढ़ जाता है, जो दिन में थोड़ा-थोड़ा खाते हैं।

स्नैक्स

स्नैक्स सही मायने में भूख को नियंत्रित करने में कारगर होता है, जोकि हमारे खाने के तय समय से पहले ओवरईटिंग से हमें बचाता है। स्नैक्स हमें तरोताजा रखते हैं। काम पर ज्यादा फोकस करने में मदद करते हैं और ऊर्जा के स्तर को गिरने से बचाते हैं। लेकिन स्नैक जरूरी है इस चक्कर में अनहेल्दी खाना बिल्कुल सही नहीं। शकरकंद की चाट, साबुत फल, ग्रीन स्मूदी, चिल्ला जैसे हेल्दी ऑप्शन चुनें।

रात का खाना

रात का खाना भी शरीर के लिए उतना ही जरूरी है, जितना बाकी भोजन। रात का खाना सेहतमंद होना जरूरी है, क्योंकि शरीर को अगले 8-10 घंटों के लिए भूखा रहना है। साथ ही रात में ग्लूकोज के स्तर को बनाए रखने के लिए भी यह जरूरी है। रात में रोटी- दाल, ग्रीन स्मूदी, शिमला मिर्च, मटर, आलू, सांभर, सोयाबीन, टोफू, फूलगोभी जैसी चीज़ें खाएं। 

1. पशु-आधारित प्रोडक्ट्स की जगह वनस्पति आधारित प्रोडक्ट की ओर रुख करें।

2. साबुत अनाज का सेवन करें।

4. ताजा और कच्ची खाद्य सामग्री लें।

5. कीटनाशकों और केमिकल वाले भोजन की तुलना में ऑर्गेनिक फूड का सेवन करें।

(Mr. Gagan Dhawan, Founder and CEO, The New Me से बातचीत पर आधारित)