boltBREAKING NEWS
  •  
  • भीलवाड़ा हलचल app को अपडेट करें
  •  

अब राजस्थान बीजेपी में कलह, बीजेपी की होर्डिंग से वसुंधरा राजे का फोटो हटा

 अब राजस्थान बीजेपी में कलह, बीजेपी की होर्डिंग से वसुंधरा राजे का फोटो हटा

जयपुर। राजस्थान के भाजपा नेताओं में खींचतान लगातार बढ़ती जा रही है। एक तरफ पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके समर्थक है, वहीं दूसरी तरफ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया व अन्य नेता हैं। भाजपा में अब होर्डिंग की राजनीति सामने आई है।

जयपुर स्थित प्रदेश मुख्यालय के बाहर दो दिन पहले तक एक बड़ा होर्डिंग लगा हुआ था, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जे.पी.नड्डा के साथ ही वसुंधरा, कटारिया व पूनिया की फोटो थी। तीन विधानसभा सीटों पर उप चुनाव के दौरान कटारिया ने महाराणा प्रताप के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिससे नाराज करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने होर्डिंग पर स्याही फेंक दी थी।

13 अप्रैल को स्याही पोतने के कारण खराब हुआ होर्डिंग हटा दिया गया था। मंगलवार को नया होर्डिंग लगाया गया है, जिससे वसुंधरा राजे की फोटो गायब है। वसुंधरा राजे का फोटो गायब होने को लेकर पार्टी में कई तरह के कयास लगाए जाने लगे। इस पर मीडिया प्रभारी विमल कटियार ने सफाई दी कि विधायक दल के नेता और अध्यक्ष का ही फोटो लगाने का निर्णय पार्टी ने लिया है। इसमें किसी तरह की राजनीति नहीं है। राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी ने जो फॉर्मेट तैयार किया है, उसी के आधार पर होर्डिंग में फोटो लगाए गए हैं।

पहले के होर्डिंग्स या पोस्टर पर सबके साथ वसुंधराराजे का फोटो

बीजेपी आफिस में पहले लगे सभी होर्डिंग्स पर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधराराजे सिंधिया, प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, गुलाब चंद्र कटारिया, राजेंद्र राठौड़ का फोटो एक साइड और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह का भी फोटो लगा था। 

बीजेपी ने कही ये बात

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधराराजे सिंधिया का फोटो हटाए जाने के पीछे बीजेपी प्रदेश यूनिट का तर्क है कि राष्ट्रीय नेतृत्व ने पार्टी आफिस पर लगने वाली होर्डिंग्स के लिए गाइडलाइन भेजी है। गाइडलाइन के अनुसार पीएम मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के फोटो एक साइड और दूसरी साइड प्रदेश अध्यक्ष और सदन में पार्टी के नेता का फोटो ही लगाई जाए। 

कुछ महीनों से पार्टी से वसुंधराराजे की दूरी बढ़ती जा रही

पार्टी सूत्रों की मानें तो पिछले कुछ महीनों से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधराराजे सिंधिया और राजस्थान भाजपा के बीच दूरियां बढ़ती दिख रही है। वसुंधरा राजे बीजेपी से दूरी बनाती दिख रहीं हैं। कोरोना काल में भाजपा जब अपना अभियान ‘सेवा ही संगठन’ चला रही थी तो वह ‘वसुंधरा राजे रसोई’ को चला रहीं थीं। इसी तरह सोशल मीडिया पर उनके समर्थक ‘टीम वसुंधरा राजे 2023’ का अभियान चला रहे हैं। इसमें राजे को नेक्स्ट चीफ मिनिस्टर की तरह प्रमोट किया जा रहा है। ट्वीटर हैंडल पर भी ‘आफिस आॅफ वसुंधराराजे’ हैंडल से कोविड प्रभावित लोगों की मदद वह दवा, बेड आदि से करती रहीं। 

 

 

 

 अब राजस्थान बीजेपी में कलह, बीजेपी की होर्डिंग से वसुंधरा राजे का फोटो हटा