boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

ऑनलाइन विधिक जागरूकता शिविर: बाल विवाह निषेध अभियान का आगाज

ऑनलाइन विधिक जागरूकता शिविर: बाल विवाह निषेध अभियान का आगाज

राजसमंद (राव दिलीप सिंह)। बाल विवाह निषेध अभियान बाल विवाह को कहे ना का संचलन किया जा रहा है। अभियान का आगाज 3 अप्रैल को सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व जिला एवं सेशन न्यायाधीश मनीष कुमार वैष्णव ने किया।
वैष्णव ने बताया कि बाल विवाह एक सामाजिक कुरीति है। इसका मुख्य कारण अशिक्षा है। इसके उन्मूलन के लिए शिक्षा एवं जागरूकता की आवश्यकता हैं। बाल विवाह रोकथाम हेतु बाल विवाह निषेध अधिनियम 2006 बनाया गया है। जिसके तहत 21 वर्ष से कम बालक एवं 18 वर्ष से कम बालिका का विवाह करवाना बाल विवाह की श्रेणी में आता है जो एक कानूनी अपराध है। इसमें सहयोग करने वाले पंडित, हलवाई, बैडबाजा वाले, टेंट वाले इत्यादि भी अपराध के भागीदार होते हैं। इसमें 2 वर्ष तक का कठोर करावास एवं 1 लाख रुपए तक का आर्थिक दंड हो सकता है। बाल विवाह होने की स्थिति में  बाल विवाह शून्यीकरण की न्यायिक प्रक्रिया से भी अवगत करवाया।