boltBREAKING NEWS
  •   दिन भर की वीडियो न्यूज़ देखने के लिए भीलवाड़ा हलचल यूट्यूब चैनल लाइक और सब्सक्राइब करें।
  •  भीलवाड़ा हलचल न्यूज़ पोर्टल डाउनलोड करें भीलवाड़ा हलचल न्यूज APP पर विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे विजय गढवाल  6377364129 advt. [email protected] समाचार  प्रेम कुमार गढ़वाल  [email protected] व्हाट्सएप 7737741455 मेल [email protected]   8 लाख+ पाठक आज की हर खबर bhilwarahalchal.com  

शिक्षक ही तराशता है ग्रामीण प्रतिभा को-जिला प्रमुख भूपेन्द्र सिंह

शिक्षक ही तराशता है ग्रामीण प्रतिभा को-जिला प्रमुख भूपेन्द्र सिंह


चित्तौड़गढ़। आज के दौर में प्रतिभा चाहे ग्रामीण हो या शहरी इसे तराशने का कार्य शिक्षक ही करता है और यदि प्रतिभा ग्रामीण हो तो शिक्षकों की भूमिका और बढ़ जाती है, क्योंकि ग्रामीण परिवेश में इतने संसाधन ग्रामीण स्तर एवं विद्यालय स्तर पर उपलब्ध नहीं हो पाते हैं। ऐसे समय में शिक्षक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए बालकों को उनके लक्ष्य प्राप्ति तक ले जाता है। उक्त विचार जिला प्रमुख भूपेन्द्र सिंह बड़ौली ने राउप्रावि ठुकरावा द्वारा आयोजित पंचम ब्लॉक स्तरीय प्रअ वाकपीठ के उद्घाटन अवसर पर अपने स्वयं के गाँव और स्वयं का उदाहरण देते हुए व्यक्त किये। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता भाजपा जिलाध्यक्ष मिट्ठूलाल जाट ने सम्पूर्ण भारत एवं विश्व में शिक्षकों का उदाहरण दिया साथ ही विकसित भारत के संकल्प को दोहराते हुए शिक्षकों की अहम भूमिका की अपेक्षा की। विशिष्ठ अतिथि सुधीर जैन ने भी विचार व्यक्त किये। उद्घाटन सत्र में सभी अतिथियों का एसीबीईओ शम्भूलाल सोमानी, अध्यक्ष नारायणसिंह चुण्डावत, किशनलाल सालवी, संस्था प्रधान रतनलाल सालवी, दिनेश सालवी, रविन्द्र बैरवा, गोपाल स्वरूप त्रिपाठी, सुरेश खोईवाल, हंसराज सालवी, रवि मोहनपुरिया, दिलीप लखारा, लीलाराम धोबी, माधुलाल, हरिओमसिंह, सुरेन्द्र सिंह राणावत, बगदुराम जटिया, गोपाल दशोरा, सत्यप्रकाश शर्मा, अनिता मेहता, चंदा तेली, लीला जाट, सीमा चौधरी, ममता मीणा, भोपालसिंह राव, मंजु जाट, सुमित्रा यादव आदि ने स्वागत किया। संस्था प्रधानों द्वारा प्रथम सत्र में आरकेएसएमबीके पर सत्यनारायण जोशी, सूर्यनमस्कार पर पारस टेलर, जगदीश खटीक, शिक्षा में नवाचार पर गणेश नारायण माली, प्रअ की भूमिका पर अरूण देव त्रिपाठी, उल्लास एप पर दिनेशचन्द्र सालवी, सरकार की विभिन्न योजनाएँ विषय पर लीला जाट ने वार्ता दी।