boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

अफीम एक्सप्रेस रवाना: कड़ी सुरक्षा के बीच 22 बोगियों में 113 टन से ज्यादा अफीम लेकर गाजीपुर के लिए रवाना हुई ट्रेन

अफीम एक्सप्रेस रवाना: कड़ी सुरक्षा के बीच 22 बोगियों में 113 टन से ज्यादा अफीम लेकर गाजीपुर के लिए रवाना हुई ट्रेन

चित्तौडग़ढ़ (हलचल)।  आम्र्स गार्ड की दो टुकडिय़ों व नारकोटिक्स विभाग के 15 जवानों के साथ अफीम एक्सप्रेस ट्रेन रविवार शाम 4.30 बजे गाजीपुर के लिए रवाना हुई। ट्रेन की 22 बोगियों में 113 टन से ज्यादा अफीम भरी है जिसकी कीमत करीब साढ़े 15 करोड़ रुपए है।
बोगियों के आगे और पीछे दो बोगियों में सुरक्षा के लिए सशस्त्र जवान तैनात हैं। रास्ते में आने वाले सभी थानों को अलर्ट कर दिया गया है। इससे पूर्व नारकोटिक्स विभाग के गोदामों में जमा अफीम रविवार सुबह करीब 40 ट्रकों से चंदेरिया रेलवे स्टेशन ले जाई गई। इन ट्रकों में चित्तौडग़ढ़ के प्रथम खंड, तृतीय खंड और भीलवाड़ा खंड के अफीम कंटेनर लोड किए गए। 
7 अप्रैल से शुरू हुई थी तौल
सात अप्रैल से शुरू हुई अफीम तुलाई का कार्य 25 व 26 अप्रैल को खत्म हुआ। शुरू में तौल ओवन सिस्टम से किया जा रहा था लेकिन 20 अप्रैल से कोरोना के बढ़ते केसेज को देखते हुए मैनुअल तौल करके काम जल्दी खत्म किया गया। तृतीय खंड से जमा अफीम को नीमच फैक्ट्री भेज दिया गया, जबकि प्रथम और द्वितीय खंड के अफीम को ऑफिस परिसर में बनाए गए सेंट्रल गोदाम में रखा गया। वहीं, चित्तौड़ से कुछ तहसीलों की अफीम का तौल भीलवाड़ा खंड में किया गया था।
देश का एकमात्र केंद्र
देश में चित्तौडग़ढ़ ही ऐसा केंद्र है, जहां से अफीम ट्रेन से गाजीपुर भेजी जाती है। विभाग की गाजीपुर फैक्ट्री में ले जाने के लिए रेलवे से स्पेशल मालगाड़ी बुक की जाती है। इस बार बुक ट्रेन में 22 डिब्बे हैं जिसमें पहली बार इलेक्ट्रिक इंजन लगाया गया है। प्रथम खंड को सात, द्वितीय खण्ड को सात व भीलवाड़ा खण्ड को 8 बोगी अलॉट की गई।
एक बोगी में 700 कंटेनर लोड किए
बताया गया कि नारकोटिक्स विभाग ने इस ट्रेन में प्रत्येक खंड को 8 बोगी में कंटेनर रखने के लिए कहा। एक बोगी में करीब 700 कंटेनर लोड किए गए। गाजीपुर फैक्ट्री में अफीम का लैब में परीक्षण किया जाएगा। फाइनल रिपोर्ट आने के बाद किसानों को शेष दस प्रतिशत भुगतान किया जाएगा।
30 लाख 232 रुपए में बुक की गई है ट्रेन
अफीम लेकर रवाना हुई ट्रेन को 30 लाख 232 रुपए में बुक किया गया है। डेमरेज चार्ज अलग से लगा। ट्रेन समय से रवाना नहीं होने पर प्रति घंटे के हिसाब से एक डिब्बे पर 150 रुपए का चार्ज लगाया जाता है।
कड़ी सुरक्षा के इंतजाम
ट्रेन के आगे, पीछे व बीच के कोच में सशस्त्र जवान तैनात किए गए हैं। रूट के सभी स्टेशन, पुलिस थानों व चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है। चालक व टीटी भी सुरक्षा घेरे में हैं। इससे पहले नारकोटिक्स कार्यालय से स्टेशन तक अफीम पहुंचाने के दौरान रास्ते में जगह-जगह पुलिस व नारकोटिक्स विभाग के जवान तैनात रहे।