boltBREAKING NEWS
  • जयपुर : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की प्रदेश के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- दोषियों को बख्शेंगे नहीं
  • भीलवाड़ा : जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने लोगों से की शांति की अपील, बोले- अफवाहों पर न दें ध्यान  
  • भीलवाड़ा : एसपी आदर्श सिधू ने की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील, कहा- पुलिस का सहयोग करें और कानून व्यवस्था बनाए रखें 
  •  

कोषालय, उपकोषालयों सहित 5 विभागों को समाप्त करने का विरोध, आरएए ने मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

कोषालय, उपकोषालयों सहित 5 विभागों को समाप्त करने का विरोध, आरएए ने मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

भीलवाड़ा BHN

कोषालय, उपकोषालय, निरीक्षण विभाग, आंतरिक ऑडिट व पेंशन विभाग को समाप्त किये जाने के प्रस्ताव का विरोध करते हुए आज जिला कलेक्ट्रेट में राजस्थान अकाउन्टेंट्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों व लेखाकर्मियों द्वारा मुख्यमंत्री के नाम अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर उत्तमसिंह शेखावत को जिलाध्यक्ष देवेन्द्र सोमानी के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा।

जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेन्द्र सिंह राठौड़ व उपाध्यक्ष गौरव सोनी ने विरोध प्रकट करते हुए बताया कि सरकार द्वारा वित्त के दुरूपयोग को रोकने वाले महत्वपूर्ण विभागों को बंद किये जाने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है जिनकी संवीक्षा के बिना समाप्त करने की कार्यवाही किये जाने से राज्य वित्तीय व्यवस्था पर दुष्प्रभाव पड़ेगा। जिला मंत्री निर्मला वैष्णव व उपाध्यक्ष मनीष बल्दवा ने कहा कि यदि सरकार द्वारा इस व्यवस्था को बंद कर लेखा संवर्ग के साथ कुठाराघात किया जाता है तो लेखा संवर्ग को मजबूरन आंदोलन की ओर अग्रसर होना पड़ेगा ।

जिलाध्यक्ष देवेन्द्र सोमानी ने बताया कि आईएफएमएस 3 में वर्षों से स्थापित एवं सफलतापूर्वक संचालित कोषालय व्यवस्था के स्थान पर नवीन पे एण्ड अकाउन्टस ऑफिस व्यवस्था लागु कर लेखा संवर्ग की भूमिका को भी सीमित किया जा रहा है जिससे वित्तीय अनियमितता बढ़ने के साथ-साथ राजकीय धन का नियमविरूद्ध उपयोग की संभावना बढ़ने से इंकार नहीं किया जा सकता है। चंदन गोयल, बरदीचंद ऐरवाल, अजीत देवल, सत्यनारायण बलाई, हरिशंकर विश्नोई, गोपालकृष्ण ईनाणी, दीपक माणम्या, सुरेश काष्ट, हर्षसिंह राठौड़, दीपक तिवाड़ी, बालकृष्ण भट्ट, कमलेश धोबी, अशोक ओझा, शारदा शर्मा, प्रिया बालोटिया, पिंकी नहेरिया, मंजू मीणा, सोनू सुवालका, राहुल शर्मा, मुरलीधर शर्मा, लक्ष्मीनारायण सोमानी मानसिंह राणावत, अभय संचेती, श्रीनिवास गुप्ता, सुरेश कोठारी, देवीलाल डांगरीवाल, गोपाल बियाणी, मनीषा शर्मा, दिनेश सैनी, जितेन्द्र सैनी, गौरव जांगिड़, रामावतार डूडी, सीमा कासोटिया, अनिता राठौड़, तिलकेश्वर धूपड़, ओम राव, आदि ने सरकार के महत्वपूर्ण कार्यालयों को बंद करने पर रोष जाहिर किया।