boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

हुगली में पीएम मोदी बोले- बंगाल में असल परिवर्तन के लिए बनानी है भाजपा की सरकार

हुगली में पीएम मोदी बोले- बंगाल में असल परिवर्तन के लिए बनानी है भाजपा की सरकार

कोलकाता।l: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को बंगाल में हुगली के डनलप मैदान पहुंचे। यहां दिलीप घोष ने पीएम का स्वागत किया। पीएम मोदी ने भारत माता की जय से अपने संबोधन की शुरुआत की। पीएम ने कहा कि मेरे साथ बोलिए भारत माता की जय। इस दौरान मोदी ने वंदे मातरम के नारे भी लगवाए। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोलकाता से लेकर दिल्ली तक आपकी यह ऊर्जा बहुत बड़ा संदेश दे रही है। बंगाल अब परिवर्तन का मन बन चुका है। पश्चिम बंगाल अपने तेज विकास के संकल्प को सिद्ध करने के लिए एक बड़ा कदम उठा रहा है। पिछली बार मैं आप को गैस संपर्क का उपहार देने आया था, आज मेट्रो और रेल की अनेक परियोनजाओं का शिलान्यास और उद्घाटन होना है।

उन्होंने कहा कि साथियों दुनिया में जितने देश गरीबी से बाहर आए और गरीबी मिटाने में सफल हुए। ऐसे देश में एक बात बहुत कामन देखी जाती है। देश ने सही समय में बड़ी संख्या में आधारभूत ढांचे विकसित किए हैं। आधुनिक रेलवे से लेकर आधुनिक सड़कें बनी हैं। हमारे देश में भी यह काम दशकों पहले होना था। अब हमे एक पल भी गंवाना नहीं है। इसी सोच के साथ आज देश में आधुनिक इंफ्रास्टेक्चर के निर्माण पर जोर दिया जा रहा है। युवाओं को रोजगार, टूरिज्म पर जोर दिया जा रहा है। इसीलिए पश्चिम बंगाल में भी भारत सरकार की प्राथमिकता है

उनके मुताबिक, हाइवे, रेलवे, एयरवे, वाटरवे और हर तरह के संपर्क पर जोर दिया गया है। बंगाल में भी जोर दिया गया है। अब रेलवे को लेकर पश्चिम बंगाल में संभावनाओं के द्वार खुल रहे हैं। पूर्वी डेडिकेटेड कॉरिडोर का बड़ा लाभ बंगाल को मिलेगा। इसी तरह से विशेष किसान रेल शुरू की गई है। आज बंगाल के छोटे किसानों को तेजी सेे उसका लाभ मिल रहा है। सौवीं किसान रेल शालाीमार से चलाई गई। मुंबई, पुणे समेत देश के विभिन्न बाजार को सीधी पहुंच मिली है। हावड़ा, उत्तर 24 परनगा, हुगली के लिए आज खुशी का समय है। मेट्रो रेलवे से दक्षिणेश्वर जुड़ रहा है। चंदननगर समेत यह पूरा क्षेत्र, भारत की संस्कृतिक, ज्ञान विज्ञान का तीर्थ क्षेत्र है।अनेकों विभूतियों का नाता इस धरती से है। मुझे हैरानी है कि इतने वर्षों में इस ऐतिहासिक क्षेत्र में अपने हाल पर छोड़ दिया है। यहां के आधारभूत संरचना को बेहाल रहने दिया गया है। 

मोदी ने कहा कि बंकिम चंद्र चटर्जी का आवास बदहाल है। यह अन्याय है। इस अन्याय के पीछेे बहुत बड़ी राजनीति है। यह राजनीति तुष्टीकरण की है। यही राजनीति मां दुर्गा की पूजा और विसर्जन से रोकती है। वोट बैंक की राजनीति के लिए अपनी संस्कृति का अपमान करने वालों को कभी माफ नहीं करेगी। बंगाल में भाजपा की सरकार बनेगी। भाजपा सोनार बांग्ला के निर्माण के लिए काम करेगी। ऐसा बंगाल जहां सभी को सम्मान होगा। विकास सभी का होगा, तुष्टीकरण किसी का नहीं होगा। तोलाबाजी से बंगाल मुक्त होगा, रोजगार और स्वरोजगार होगा। बंगाल बहुत आगे था, लेकिन जिसने यहां राज किया वह आज बंगाल को कहां पहुंचा दिया। मां, माटी और मानुष की बात करने वाले लोगों विकास के सामने दीवार बन कर खड़े हो गए हैं। तोलेबाजी से टीएमसी नेताओं की शानोशौकत बढ़ती जा रही है और लोग गरीब होतेे जा रहे हैं। बंगाल के लाखों गरीब को किसान सम्मान निधि, आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं से लाखों लोग बंगाल के वंचित हैं।

उन्होंने कहा कि विकास कार्यों को कैसे रोका जाए, इसका एक और उदाहरण है। जन जीवन मिशन चल रहा है। गांवों तक हर व्यक्ति को नल से जल पहुंचाने का कार्य किया जा राहा है। माताओं व बहनों को पानी के लिए दूर न जाना पड़ेेे। प्रदूषित पानी बच्चों को नहीं पीना पड़े हैं। डेढ से पौनेे दो करो़ड़ घरों में से सिर्फ दो लाख घरों में ही नल से जल की सुविधा है। देश में अभियान चलने के बावजूद, नहीं दिया जा रहा है। तीन करो़ड़ से अधिक लोगों के देश भर में नल सेे जल पहुंचा है। केंद्र सरकार ने पूरा जोर लगाया, लेकिन अब तक पौन दो करोड़ घरों में से महज नौ लाख घरों ही नल से जल पहुंच सका है।हर घर जल पहुंचाने के लिए 1700 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम टीएमसी सरकार को भारत सरकार ने दी। उसमें से छह सौ नौ करोड़ रुपये ही खर्च किया है, बाकी रुपये दबा कर बैठ गई है। बंगाल सरकार को गरीबों की जरा भी परवाह नहीं है। बंगाल की बेटी को पानी मिलना चाहिए या नहीं मिलना चाहिए। बंगाल में भाजपा की सरकार सिर्फ सत्ता में परिवर्तन के लिए नहीं बल्कि असल परिवर्तन के लिए बनानी है। यहां कमल खिलाना इसीलिए जरूर ही है कि बंगाल में पूरा परिवर्तन आ सके। यह हुगली अपने आप में बहुत बड़ा उदाहरण है। अव्यवस्था ने बंगाल को कहां पहुंचा दिया। हुगली उद्योग का हब रहा है, यहां हुगली के दो किनारे पर बड़ेृ-बड़े जूट व स्टील की मिलें थी। लोकगीत गाती थी, कमान के लिए कोलकाता गए हैं। बंगाल के बाहर ओडिशा, बिहार, असम, यूपी तक गाया जाता था। इस हुगली के निवासियों को दूसरे राज्यों मे जाना पड़ता है। 

आपने बंगाल में सरकार बनाना आपने ठान लिया है। बंगाल की जूट मिलें देश की अधिकांश जरूरतों को पूरा करती थी। अब तो गेहूं और चीनी की पैकेजिंग में जूट के बोरों का इस्तेमाल हो रहे है। यहां के आलू और धान के किसानों को कौन लूट रहा है। जब तक यहां फूड प्रोसेसिंग के कारखाने नहीं लेंगे। जब तक उन्हें अपनी पैदावार बेचने की आजादी नहीं होगी, तब तक उनका कल्याण नहीं होगा। कट-कट का जो सांस्कृति बना है, सिंडिकेट बना है। वह सब करने नहीं देता है। विदेशों में रहने वाले बंगाल के लोग यहां के लिए कुछ करना चाहते हैं, लेकिन यहां सिंडिकेट और कट नहीं होने दे रहा है। मकान किराए पर लेेेेनेके लिए भी कट और सिंडिकेट को पैसा देना होता है। तोलाबाजों का राज रहेगा, तब तक बंगाल का विकास संभव नहीं है। बंगाल का विकास तब तक संभव नहीं है, तब संभव नहीं बंगाल में कानून का राज स्थापित नहीं होता। पीएम मोदी ने अपने भाषण के अंत में भी भीड़ से वंदे मातरम के नारे लगवाए और करीब 32 मिनट बोलने के बाद अपना भाषण समाप्त किया है।

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu