boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

लोग मर रहे हैं करोड़ों खर्च हो रहे हैं चल रहा है खेल तमाशा, विदेशी खिलाड़ी ने कसा तंज

लोग मर रहे हैं करोड़ों खर्च हो रहे हैं चल रहा है खेल तमाशा, विदेशी खिलाड़ी ने कसा तंज

मेलबर्न।। राजस्थान रॉयल्स के तेज गेंदबाज एंड्रयू टे ने आइपीएल से अपना नाम कोविड-19 महामारी की वजह से वापस ले लिया। अब उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि, जब भारत में इतनी बड़ी स्वास्थ्य समस्या चल रही है उस स्थिति में फ्रेंचाइजी क्रिकेट पर इतने पैसे कैसे खर्च कर सकती है। उन्होंने कहा कि, अगर आइपीएल से कोविड-19 महामारी के कारण पीड़ित लोगों का तनाव कम हो रहा या उम्मीद की कोई किरण दिख रही तो इसे जारी रहना चाहिए। टे ने कहा कि, इसे भारतीय दृष्टिकोण से देखें, तो ये कंपनियां और फ्रैंचाइजी, सरकार ऐसे समय में आइपीएल पर इतने पैसे कैसे खर्च कर रही हैं, जब देश में लोगों को अस्पताल नहीं मिल पा रहा है।

टे ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा कि, अगर खेल के जारी रहने से लोगों का तनाव दूर होता है या आशा की एक झलक दिखती है जैसे सुरंग के उस पार प्रकाश होता है। अगर ऐसा है तो मुझे लगता है कि इसे जारी रखना चाहिए। लेकिन मैं मानता हूं कि हर किसी का सोचने का एक तरीका नहीं है और मैं सभी के विचारों का सम्मान करता हूं। उन्होंने कहा कि आइपीएल में खिलाड़ी सुरक्षित हैं लेकिन उनके मन में यह सवाल रहता है कि वो कब तब सुरक्षित रहेंगे। इस 34 साल के खिलाड़ी ने भारत में कोरोना मामलों के बढ़ने के कारण अपने देश में प्रवेश निषेध होने की आशंका से आइपीएल बीच में ही छोड़ दिया।

टे ने कहा कि उनके घरेलू शहर पर्थ में भारत से जाने वालों के पृथकवास के बढ़ते मामलों के कारण उन्होंने यह फैसला लिया। टाय ने रॉयल्स के लिए अभी तक एक भी मैच नहीं खेला था और उन्हें एक करोड़ रुपये में खरीदा गया था। उन्होंने कहा कि बबल में रहने की थकान भी एक कारण है। उन्होंने कहा कि, मैंने सोचा कि देश में प्रवेश नहीं मिले, उससे पहले ही रवाना हो जाऊं। बबल में लंबा समय बिताना काफी थकाऊ है। अगस्त से अब तक मैं सिर्फ 11 दिन बबल से बाहर रहा हूं और अब घर जाना चाहता हूं।