boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

डीजल-पेट्रोल सस्ता पाने के लिए लोग मध्य प्रदेश के लोग UP तो बिहार के लोग जा रहे हैं नेपाल

डीजल-पेट्रोल सस्ता पाने के लिए लोग मध्य प्रदेश के लोग UP तो बिहार के लोग जा रहे हैं नेपाल

डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दामों ने राज्यों की सीमाएं तोड़ दी है. दो पैसे बचाने के लिए लोग एक राज्य से दूसरे राज्य का रूख कर रहे हैं. मध्य प्रदेश के लोग जो यूपी बॉर्डर के करीब रहते हैं, यूपी जाकर गाड़ियों में पेट्रोल-डीजल डलवा रहे हैं. इससे उन्हें प्रति लीटर करीब 10-11 रुपये की बचत हो रही है. राजस्थान के वैसे लोग जो मध्य प्रदेश से सटे इलाकों में रहते हैं, पेट्रोल-डीजल भरवाने के लिए मध्यप्रदेश का रूख कर रहे हैं.

राजस्थान में मध्य प्रदेश के मुकाबले प्रति लीटर एक से तीन रुपये तक दाम कम है. नेपाल में पेट्रोल भारत से करीब 23 रुपये सस्ता है. इसके कारण यूपी-बिहार के सीमावर्ती इलाकों के लोग पेट्रोल लेने नेपाल जा रहे हैं. बता दें कि नेपाल में बिक रहा सस्ता पेट्रोल और डीजल भारत से ही जाता है. नेपाल में भारतीय मुद्रा के हिसाब से डीजल की कीमत 58.88 रुपये और पेट्रोल की कीमत 69.50 रुपये प्रति लीटर है. भारतीय सीमा क्षेत्र स्थित रक्सौल में डीजल 86.22 रुपये और पेट्रोल 92.91 रुपया प्रति लीटर बिक रहा है.

 

नये साल में अब तक 23 बार बढ़े हैं पेट्रोल-डीजल के दाम

देश की राजधानी दिल्ली में एक जनवरी से अब तक पेट्रोल 6.87 रुपये महंगा हो गया है. ऐसे ही डीजल 7.10 रुपये महंगा हो चुका है. नये साल से अब तक 23 किस्तों में पेट्रोल-डीजल के दामों में इजाफा हुआ है.

इन राज्यों में इतना है वैट 

  • झारखंड : 22%या 17 रु/ली दोनों में से जो अधिक हो, इसके अलावा ‍‍~1/ लीटर सेस.

  • बिहार : 26% या 16.65 रुपये दोनों में से जो अधिक हो (अपरिवर्तनीय कर के रूप में वैट पर 30% अधिभार)

  • उत्तर प्रदेश : 26.80% या 18.74 रुपये दोनों में से जो अधिक हो.

  • पश्चिम बंगाल : 25% या 13.12 प्रति लीटर दोनों में से जो अधिक हो व अन्य टैक्स.

मुद्दा गंभीर, केंद्र और राज्य सरकार कीमतों पर करें चर्चा : वित्त मंत्री

तेल की लगातार बढ़ रही कीमतों से जनता परेशान है और विपक्ष सरकार पर हमलावर है. इस बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि यह एक गंभीर और अहम मुद्दा है. केंद्र और राज्य सरकारों को उपभोक्ताओं को उचित स्तर पर खुदरा ईंधन उपलब्ध कराने के लिए बात करनी चाहिए. सीतारमण ने कहा कि बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतों के कारण वह ‘धर्म संकट’ की स्थिति में हैं. यह एक ऐसा मामला है जिसमें हर कोई एक जवाब सुनना चाहता है कि कीमत में कटौती कब की जायेगी.

तेल की कीमतों में वृद्धि पर राहुल और प्रियंका ने साधा केंद्र पर निशाना

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वॉड्रा ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को लेकर शनिवार को सरकार पर निशाना साधा. राहुल ने पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में वृद्धि का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘महंगाई का विकास!’. कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि भाजपा सरकार को सप्ताह के उस दिन का नाम ‘अच्छा दिन’ कर देना चाहिए जिस दिन डीजल-पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी न हो. महंगाई की मार के चलते बाकी दिन आमजनों के लिए ‘महंगे दिन’ हैं.

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu