boltBREAKING NEWS

भारत जोड़ो यात्रा की बैठक में पायलट-गहलोत में दिखा टकराव, दूर-दूर बैठे, सचिन पहले चले गए

भारत जोड़ो यात्रा की बैठक में पायलट-गहलोत में दिखा टकराव, दूर-दूर बैठे, सचिन पहले चले गए

 मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट की तल्खी एक बार फिर देखने को मिली। बुधवार को दोनों नेता भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों को लेकर हुई बैठक में आमने-सामने आए। ऐसा पहली बार था कि जब 25 सितंबर को हुए सियासी बवाल के बाद दोनों नेता किसी बैठक में एक साथ पहुंचे हों।



हालांकि, इस बैठक में अशोक गहलोत और सचिन पायलट दूर-दूर बैठे दिखे। उनके बीच आपस में बात भी नहीं की। दोपहर करीब 12 बजे शुरू हुई बैठक में गहलोत देरी से पहुंचे थे। वहीं, पायलट बैठक खत्म होने से करीब आधा घंटे पहले ही चले गए। 

बैठक में तय किया गया कि समन्वय समिति के सदस्य 25 नवंबर को राजस्थान में मध्य प्रदेश बॉर्डर से लेकर हरियाणा बॉर्डर तक के 527 किलोमीटर रूट का जायजा लेंगे। अगर, इस दौरान कोई खामिया मिलती है तो उसे तत्काल दूर किया जाएगा। 

सात जिलों की इन 8 विधानसभा सीटों से गुजरेगी यात्रा 
भारत जोड़ो यात्रा प्रदेश के सात जिलों की 18 विधानसभा सीटों को कवर करेगी। इसमें झालावाड़ की झालरापाटन, कोटा की रामगंज मंडी, लाडपुरा, कोटा उत्तर और दक्षिण विधानसभा सीट शामिल हैं। इसके बाद यह यात्रा बूंदी जिले की केशवरायपाटन विधानसभा सीट से होते हुए टोंक जिले में प्रवेश करेगी। इस दौरान यात्रा देवली और उनियारा विधानसभा क्षेत्र से गुजरेगी।

इसी तरह भारत जोड़ो यात्रा सवाई माधोपुर विधानसभा इलाके से बामनवास और लालसोट पहुंचेगी और दौसा में प्रवेश करेगी। जिले की दौसा, लालसोट, सिकराय और बांदीकूई विधानसभा क्षेत्र से होते हुए अलवर पहुंचेगी। जिले की अलवर ग्रामीण, अलवर रामगढ़, राजगढ़ और लक्ष्मणगढ़ विधानसभा होते हुए राज्य से बाहर निकल जाएगी, यानी हरियाणा राज्य में प्रवेश करेगी। 



भारत जोड़ो यात्रा को लेकर क्या तैयारी? 

 

  • भारत जोड़ो यात्रा को लेकर राजस्थान कांग्रेस खास तैयारी कर रही है। कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में भारत जोड़ो यात्रा का सीधा प्रसारण किया जाएगा। हर जिले के मुख्यालय पर एलईडी स्क्रीन लगाईं जाएंगे। जहां बड़ी संख्या में लोगों के बैठने की व्यवस्था भी की जाएगी। 
  • भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने वाले 500 स्टेट यात्रियों का भी चयन कर लिया गया है। जो करीब 500 किलोमीटर की यात्रा में राहुल गांधी के साथ चलेंगे। इसके अलावा यात्रा के साथ हर जिले से डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, मजदूर और अन्य सभी समाज के लोगों को भी शामिल होंगे। 
  • अनुमान के मुताबिक राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा 3 दिसंबर को राजस्थान में प्रवेश करेगी। करीब 17 दिन यात्रा राज्य में रह सकती है। माना जा रहा है कि 20 दिसंबर तक भारत जोड़ो यात्रा के प्रदेश से बाहर निकल जाएगी। 
  • भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी की कई छोटी-बड़ी सभाएं भी होंगी। कोटा, दौसा और अलवर जिले में राहुल गांधी की बड़ी सभा कर सकते हैं। इसके अलावा जिन अन्य जिलों से भारत जोड़ो यात्रा गुजरेगी, वहां राहुल गांधी की छोटी-छोटी कई सभाएं भी हो सकती हैं।