boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे bhilwarahalchal@gmail.com
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

सड़क सुरक्षा काव्य सम्मेलन में कवियों ने रचनायें प्रस्तुत कर बांधा समां

सड़क सुरक्षा काव्य सम्मेलन में कवियों ने रचनायें प्रस्तुत कर बांधा समां

 भीलवाड़ा (पंकज-हलचल)। जिला परिवहन विभाग के तत्वावधान में मनाये गये 32वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के समापन के अवसर पर चित्रकूट धाम में आयोजित तीन दिवसीय मेले के दौरान सड़क सुरक्षा कवि सम्मेलन के संयोजन-संचालन का दायित्व कवि एस.के. लोहानी ख़ालिस को दिया गया जिसमें उन्होंने जिला परिवहन अधिकारी डॉ. वीरेंद्र सिंह राठौड़ एवं सूत्रधार एस.के. जैन की सहमति से शहर के चुनिंदा 15 कवियों को आमंत्रित किया। जिला परिवहन अधिकारी राठौड़ ने बताया कि कवि सम्मेलन का शुभारंभ डॉ. अवधेश जौहरी की सुमधुर सरस्वती वंदना से हुआ। तत्पश्चात कवियों ने सड़क सुरक्षा विषय पर आधारित स्वरचित रचनायें प्रस्तुत की जिन्हें श्रोताओं ने खूब सराहा| काव्य पाठ के दौरान पूर्व आरटीओ अनिल कुमार जैन ने कविताएं, डीटीओ-शाहपुरा ओमप्रकाश बैरवा ने "मेरे प्यारे मानो कहना मेरा, हेलमेट नहीं बोझ इसे पहनो जरा",  कवि ख़ालिस ने "ओ निर्मोही जरा संभलकर आना-जाना जी, तुम जीवन में खुशियाँ ही खुशियाँ लाना जी" एवं व्यंग्य "जो लोग बड़ी लापरवाही से, उनींदे-अलसाए से, दिन-रात नशे-पते में बिना ठीक से सीखे वाहन चलाते हैं, रॉंग पार्किंग लगाते हैं, अव्यवस्था फैलाते हैं", योगेन्द्र शर्मा ने "ये सुरक्षा का कवच है जागरण है सावधानी के लिए अभियान सुनलो, जिंदगी का आवरण है ध्यान से सम्पूर्ण हिन्दुस्तान सुन लो", लाजवंती शर्मा ने "माना कि तुम्हें जल्दी है पर क्या अपना कोई मोल नहीं है, जरा नजाकत से सम्भालो जीवन मखौल नहीं है", रंजनासिंह चाहर ने "ओ पिया सुनलो मेरी बात, सड़क नियमों को समझना रे, दारू पीके मत चलाना गाड़ी सिर पे हेलमेट लगाना रे", डॉ. महावीरप्रसाद जोशी ने "यदि चौराहे की सड़क हो क्रोधातुर और दिखावे बत्ती लाल,जब तक उसका मन न हो हरा रोक रखेंगे अपनी चाल", महेंद्र शर्मा ने "चाहे सफर थोड़ा लेट हो पर मन में संकल्प ग्रेट हो, फोर-व्हीलर पर सीटबेल्ट और टू-व्हीलर पर हेलमेट हो", अरुण शर्मा अजीब ने "चेत-चेत म्हारा ड्राईवर बन्ना,चेत्यां सरसी बन्ना चेत रे", ओम उज्जवल ने "सड़क सुरक्षा रो अभियान सफल करणो है आपांने,क बातां सीख लो भाया थैं घणी काम आवेली", डॉ अवधेश जौहरी ने "हेलमेट पहनकर चलो भैया सब, सीट बेल्ट लगाकर ही कार चलाइये, गति पे नियंत्रण हो प्रगति आमंत्रण हो, यातायात के नियम पढिए और पढाईये", महावीर पारीक ने "करें सुरक्षा आपकी औरों की भी साथ,आज करें संकल्प हम उठाके अपना हाथ", नरेंद्र वर्मा ने "जो सावधान नहीं रहे, रायता फैलेगा सडकों पर", रामनिवास रोनी ने "न शह की न मात की बात करेंगे,जब भी करें यातायात की बात करेंगे", डॉ. उषा अग्रवाल ने "सड़क सुरक्षा जीवन के लिए होती है,सडकों पर अक्सर दुर्घटना होती है" और बालक निखिल सोनी ने अपनी उत्कृष्ट रचनाएँ प्रस्तुत की। इस अवसर पर सभी कवियों को लॉयन्स क्लब एसोसिएशन के पदाधिकारी जैन एवं के.एल. गिल्होत्रा द्वारा प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। वहीं मेले के समापन समारोह में परिवहन विभाग की ओर से नव मानव सृजनशील चेतना समिति के कवि ख़ालिस सहित सभी आमन्त्रित कवियों को प्रतीक-चिन्ह व प्रशस्ति-पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया।

 

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu