boltBREAKING NEWS

हर घर तिरंगा मुहिम पर सियासत तेज, राहुल ने बिना नाम लिए RSS को बताया देशद्रोही संगठन

हर घर तिरंगा मुहिम पर सियासत तेज, राहुल ने बिना नाम लिए RSS को बताया देशद्रोही संगठन

 राहुल गांधी ने कहा, इतिहास गवाह है, 'हर घर तिरंगा' मुहिम चलाने वाले, उस देशद्रोही संगठन से निकले हैं, जिन्होंने 52 सालों तक तिरंगा नहीं फहराया।

देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है. बीजेपी और केंद्र सरकार की ओर से देश में इसके लिए हर घर तिरंगा अभियान की शुरुआत की घोषणा की गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अन्य बीजेपी नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर फोटो बदलकर तिरंगा लगाया है. इस बीच कर्नाटक दौरे पर पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने हर घर तिरंगा अभियान को लेकर बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर निशाना साधा है.

राहुल गांधी ने अपनी कर्नाटक यात्रा के दौरान कर्नाटक खादी ग्रामोद्योग के कर्मियों से भी मुलाकात की. बाद में एक ट्वीट में उन्होंने कहा, कर्नाटक खादी ग्रामोद्योग के सभी दोस्तों से मिलकर बहुत खुशी हुई.’ आरएसएस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है कि हर घर तिरंगा अभियान चलाने वाले एक ऐसे संगठन से निकले हैं जिसने 52 साल तक तिरंगा नहीं फहराया. उन्होंने कहा, स्वतंत्रता संग्राम के समय से वे कांग्रेस पार्टी को रोक नहीं पाए और आज भी नहीं रोक पाएंगे.

बीजेपी ने भी कांग्रेस पर साधा निशाना

बीजेपी ने बुधवार को सोशल मीडिया प्रोफाइल पर देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की हाथ में तिरंगा लिए तस्वीर डीपी (डिस्प्ले पिक्चर) के तौर पर लगाए जाने के लिए कांग्रेस को आड़े हाथों लिया. बीजेपी ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को परिवार से बाहर सोचना चाहिए और अपने नेताओं को तिरंगे के साथ अपनी तस्वीर लगाने की अनुमति देनी चाहिए. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, कोई बात नहीं है. कम से कम तिरंगा तो है.इसके बाद उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, हर मुद्दे पर वंशवाद की राजनीति नहीं होनी चाहिए…उन्होंने तिरंगे के साथ अपने नेता की तस्वीर लगाई है जो देश के पहले प्रधानमंत्री थे. तिरंगा गरीब का भी है और 135 करोड़ भारतीयों का भी है.

राहुल ने किया कर्नाटक दौरा

वहीं कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस में एकता और प्रेमभाव का सार्वजनिक प्रदर्शन करते हुए प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार पार्टी के वरिष्ठ नेता सिद्धारमैया के 75वें जन्मदिन के मौके पर बुधवार को उनसे गले मिले और उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं. दोनों नेताओं के बीच इस प्रकार के प्रेमभाव को देखकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी खुशी जताए बिना नहीं रह सके.

सिद्धारमैया को शिवकुमार द्वारा सम्मानित किए जाने के बाद समारोह में उपस्थित कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, आज मुझे मंच पर सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार को गले मिलते देखकर खुशी हुई. राहुल गांधी ने कहा कि शिवकुमार ने कांग्रेस संगठन के लिए काफी काम किया है. उन्होंने एक प्रकार से चुनावी बिगुल बजाते हुए कहा, कांग्रेस पार्टी कर्नाटक में भाजपा और आरएसएस को हराने के लिए पूरी तरह से एकजुट है.