boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

जनसेवा ही होगा मूल ध्येय -गणेश पालीवाल

जनसेवा ही होगा मूल ध्येय -गणेश पालीवाल

राजसमन्द (राव दिलीप सिंह) राजसमन्द विधानसभा के आगामी उप चुनाव को लेकर दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों में टिकट के लिए इन दिनों दावेदार अपना पक्ष पार्टी पटल पर पेश कर रहे है। भाजपा में आधा दर्जन से अधिक दावेदार टिकट की दौड़ में शामिल है जो पार्टी नेतृत्व के समक्ष अपना पक्ष मजबूती से रखने के साथ ही फील्ड में भी जुटे है हालाकि अभी तक इस आशय के साफ संकेत न तो किसी सम्भावित उम्मीदवार को मिले है और न ही अन्य कहीं से कोई अधिकृत सूचना आई है। इसके चलते चहुंओर सिर्फ कयासों का बाजार काफी गर्म हो चला है। ये सभी दावेदार अपनी दावेदारी सशक्त करने के लिए अपने कई आधार भी शीर्ष नेतृत्व के सम्मुख पेश कर रहे है तथा कोई इसमें कसर नहीं छोड़ना चाहता।

इसी सन्दर्भ में भाजपा से टिकट के लिए प्रबल दावेदार माने जा रहे गणेश पालीवाल से हमनें बातचीत कर जाना कि आखिर उनकी दावेदारी के पीछे मजबूत आधार क्या है, मौका मिला तो चुनाव में कैसे पार पाएंगे तथा जीतने पर विकास के लिए क्या काम करेंगे। इसी को लेकर प्रस्तुत है उनसे हुई बातचीत के प्रमुख अंश -

सवाल:- प्रबल दावेदारी को लेकर आपके पक्ष में मजबूत आधार क्या है ?  

जवाब:- मैं बीते 25 सालों से पार्टी से सक्रिय रूप से जुड़ा हूं तथा अब तक जो भी पद या अन्य दायित्व मिले है, उनका निर्वहन पूर्ण निष्ठा व समर्पण से किया है। संगठन का काम चाहे ग्राम या मण्डल स्तर का रहा हो या अन्य प्रकार की संगठनात्मक गतिविधियां रही हों, मैंने सभी काम जी-जीन से जुट कर किए है और यही सब कुछ मेरा आधार है। मुझे जिला, प्रदेश एवं केन्द्रीय नेतृत्व पर पूरा भरोसा है क्योंकि संगठन की रीति-नीति भी यही है कि बूथ स्तर के कार्यकर्ता को भी पूरी तरजीह मिलती है। भाजपा में यह कोई मायने नहीं रखता कि कौन कितने बड़े या छोटे परिवार से है, अमीर है या गरीब है और इसका जीता जागता उदाहरण स्वयं हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी है।

सवाल:- आपको टिकट मिलता है तो संगठनात्मक दृष्टि से चुनावी नैया कैसे पार लगाएंगे ?

जवाब:- भाजपा एक परिवार है जो राष्ट्रवाद से ओतप्रोत व सुसंस्कारित है। हम इस परिवार के सभी सदस्यों यानि कार्यकर्ताओं, नेताओं व पदाधिकारियों के साथ तालमेल बिठाकर काम करते हुए जीत सुनिश्चित करेंगे। सबका साथ-सबका विकास की तर्ज पर हम चलते आए है तथा आगे भी चलते रहेंगे। संगठन के सभी वरिष्ठजनों, जनप्रतिनिधियों एवं युवा कार्यकर्ताओं सभी से समन्वय बनाकर चलेंगे तथा चुनाव में निश्चित ही जीत का परचम फहराएंगे।

सवाल:- यदि जनता आपको चुनाव में विजयी बनाकर मौका देती है तो विकास की दृष्टि से  प्राथमिकताएं क्या रहेगी ?

जवाब:- चुनावों में जीत के बाद भाजपा का मूल ध्येय जनसेवा ही रहता है। हम इसी राह पर चलेंगे। हमारा फोकस आमजन से जुड़े मुद्दों पर रहेगा। बिजली, पानी, शिक्षा, चिकित्सा, सड़क आदि से जुड़ा आधारभूत ढांचा मजबूत करने पर जोर देंगे ताकि आमजन को अधिक राहत मिल सके। विकास के लिहाज से ऐसे काम हाथ में लेंगे जो चिरस्थायी होंगे जो कि वर्तमान में ज्वलंत मुद्दे बने हुए है। देश में राजसमन्द को खास पहचान दिलाने वाले मार्बल व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए मार्बल मण्डी घोषित कराना प्राथमिकता रहेगी। मार्बल को उद्योग का दर्जा मिलेगा तो कारोबार को राहत पहुंचेगी। खारी फीडर को चौड़ा कराएंगे ताकि दुगुनी मात्रा में पानी झील में पहुंचे, झील लबालब रहने पर पेयजल सुविधा बढ़ेगी वहीं पर्यटन भी विकसित होगा। खारी फीडर के कमाण्ड एरिया से वंचित गांवों को जोड़कर लाभान्वित कराएंगे जो अर्से से इसकी बाट जोह रहे है। जिला मुख्यालय पर मेडिकल कॉलेज खुलवाना प्राथमिकता रहेगी। झील किनारे रिंगरोड़ सहित राजसमन्द व रेलमगरा क्षेत्र के विभिन्न लम्बित जनहित के कार्य भी प्राथमिकता से कराएंगे। साथ ही कृषि व कृषकों से जुड़ी समस्याओं एवं सरकारी जटिल प्रक्रिया में सरलीकरण कराकर राहत दिलाने के प्रयास किए जाएंगे।       

परिचय:- एक नजर

 जिला मुख्यालय से सटे पीपरड़ा गांव के रहने वाले गणेश पालीवाल भाजपा में पिछले ढाई दशक से सक्रिय है तथा वे सक्रिय कार्यकर्ता एवं ग्राम इकाई अध्यक्ष से लेकर मण्डल उपाध्यक्ष, मण्डल महमंत्री एवं युवा मोर्चा उपाध्यक्ष जैसे अन्य कई पदों पर रहने के साथ ही संगठनात्मक गतिविधियों से जुड़े अन्य दायित्व भी निर्वहन करते आ रहे है। वे वर्तमान में भाजपा राणा राजसिंह ग्रामीण मण्डल राजसमन्द के अध्यक्ष है तथा ग्रामीण क्षेत्र में संगठन के कार्यक्रमों, चुनावों सहित तमाम गतिविधियों का प्रभावी संचालन करने के साथ ही संगठन के विस्तार व सशक्तिकरण के लिए काम कर रहे है वहीं उनकी पत्नी सीतादेवी वर्तमान में पीपरड़ा पंचायत में सरपंच है। गणेश की पृष्ठभूमि मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्र की रही है तथा अपनी लगातार सक्रियता से ग्रामीण अंचल में गहरी पैठ बनाई है हालाकि पार्टी सम्बन्धी क्रियाकलापों से उन्होंने शहरी क्षेत्र में भी प्रभाव फैलाया है। स्थानीय वरिष्ठ नेताओं एवं जनप्रतिनिधियों के करीब रहकर पार्टी गतिविधियों में सतत सक्रिय रहे है तथा संगठनात्मक संरचना को भली-भांति समझ कर अपनी नेतृत्व क्षमता भी बढ़ाई है। खास बात यह कि वे पार्टी में अंदरूनी गुटबाजी से इतर सभी नेताओं के साथ समभाव की स्थिति में रहकर निर्विवाद रहे है। पार्टी नेताओं के साथ चुनाव एवं अन्य गतिविधियों से निरन्तर जुड़ाव रखने के कारण क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है तथा किसी हद तक कार्यकर्ता व मतदाता तक उनकी सीधी पहुंच भी बनी है। स्थानीय होना भी उनका मजबूत पक्ष है तथा वे उप चुनाव को लेकर भाजपा से अपनी प्रबल दावेदारी पेश रहे है।

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu