boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

महाराष्ट्र से लौटकर आया डकैती का आरोपित चढ़ा पुलिस के हत्थे, भगवानपुरा के किराणा व्यापारी के साथ हुई थी वारदात

महाराष्ट्र से लौटकर आया डकैती का आरोपित चढ़ा पुलिस के हत्थे, भगवानपुरा के किराणा व्यापारी के साथ हुई थी वारदात

 भीलवाड़ा हलचल।  जिले की मांडल थाना पुलिस ने किराणा व्यापारी के साथ डकैती के मामले में फरार आरोपित छोटूपुरी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस  का कहना है कि यह आरोपित रायपुर थाने में भी वांछित है। इसके खिलाफ वहां डेयरी के वाहन चालक के साथ डकैती का आरोप है। 
थाना प्रभारी राजेंद्र गोदारा ने हलचल को केरिया निवासी नवरतनमल जैन ने 20 फरवरी 21 को रिपोर्ट दी कि वह, भगवानपुरा में अपनी किराणा की दुकान से रात आठ बजे भाई अशोक कुमार के साथ कार से अपने घर जा रहा था। केरिया नदी के पास एक बुलेट बाइक से तीन व दूसरी बाइक से दो व्यक्ति आये। बुलेट आगे लगाकर कार को रुकवा लिया और परिवादी व उसके भाई के साथ मारपीट कर लगभग सात लाख रुपये, बहीखाते व डायरियां रखा बैग लूटकर फरार हो गये। इस वारदात को लेकर पुलिस ने डकैती का मामला दर्ज किया था। 
थाना प्रभारी गोदारा ने बताया कि घटना की रात में ही मुख्य आरोपित मनीष उर्फ मुरली पुरी व उसके सहयोगी गौरव उर्फ शुभम मराठा, सुनील उर्फ सेठी, दीपक नायक को गिरफ्तार कर लूटे गये रुपये और वारदात में काम लिये वाहन जब्त किये थे। इस वारदात के बाद से ही भगवानपुरा निवासी छोटू पुरी पुत्र प्रेम पुरी गोस्वामी फरार चल रहा था, जिसे मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार कर लिया गया। 
गोदारा ने बताया कि छोटू पुरी वारदात के बाद महाराष्ट्र चला गया था। उसके वहां से लौटने की सूचना पर आज पुलिस ने उसे पकड़ा। उससे पूछताछ की जा रही है। 

जिस मालिक का चला रहा था वाहन, उसी के साथ वारदात की
गोदारा ने हलचल को बताया कि तीन माह पहले रायपुर इलाके में दूध सप्लाई में लगे वाहन चालक के साथ अपने साथियों के साथ मिलकर डकैती करना आरोपित छोटू पुरी ने कबूला है। जिस वाहन के चालक के साथ यह वारदात हुई, उसी वाहन वाहन पर आरोपित छोटू पुरी चालक था। वाहन मालिक से अनबन होने के कारण वाहन चलाना छोड़ दिया और अपने साथियों के साथ मिलकर डकैती की वारदात को अंजाम दिया। 
इस कार्रवाई को अंजाम देने वाली टीम में थाना प्रभारी गोदारा के साथ कांस्टेबल महेंद्र खोजी, सोराज व सत्यवीर शामिल हैं।