boltBREAKING NEWS

राष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह के तहत ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’’ पर संवेदीकरण कार्यक्रम

राष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह के तहत ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’’ पर संवेदीकरण कार्यक्रम

भीलवाड़ा। महिला अधिकारिता विभाग द्वारा राष्ट्रीय बालिका दिवस सप्ताह के अन्तर्गत ‘‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’’ पर संवेदीकरण कार्यक्रम में बाल विवाह की रोकथाम व गर्भ धारण पूर्व व प्रसव पूर्व तकनीकी निदान अधिनियम 1994 पर संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया।

महिला अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक श्री नगेन्द्र तोलम्बिया ने विभाग से संबंधित महिला एवं बालिकाओं से जुड़ी योजनाओं व कानूनों के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध करायी तथा उड़ान योजना पर हेल्थ व हाईजीन को ध्यान में रखते हुये सेनेट्री नैपकीन के बारे में जोर दिया। उन्होंने बताया कि गंदे कपड़े के उपयोग के कारण महिला व बालिकाओं में कई प्रकार की गंभीर व लाईलाज बीमारियों से ग्रसित हो जाती है। साथ ही बालविवाह जैसी सामाजिक बुराई को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाने व जागरूकता बढ़ाने पर जोर दिया।
विभाग से संरक्षण अधिकारी श्री जगदीश जी चौधरी ने बाल विवाह पर विस्तृत जानकारी उपलब्ध करायी व महिलाओं से संबंधित योजनाओं के बारे में बताया। बालकल्याण समिति के अध्यक्ष श्री फारूख ने बताया कि बाल विवाह व दहेज प्रथा एक सामाजिक बुराई है। श्री बंशीलाल ने बताया कि दहेज प्रथा एक सामाजिक बुराई है व सामूहिक विवाह के ऊपर जोर दिया। महिला व बालिकाओं से सम्बन्धित आवश्यक हेल्पलाईन नम्बर के बारे में चर्चा के साथ ही बताया कि बाल विवाह की जानकारी देने वाले व्यक्ति की पहचान को गोपनीय रखा जाता है।

 नगर परिषद् की पूर्व सभापति श्रीमती मंजु पोखरना ने महिलाओं व बालिकाओं से जुड़ी केन्द्र व राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में अवगत कराया। साथ ही उन्होने बताया कि महिलाओं को स्वयं आत्मनिर्भर बन स्वयं का व अपने देश का विकास करना चाहिये। इस दौरान इन्दिरा महिला शक्ति केन्द्र की टीम व महिला सुरक्षा व सलाह केन्द्र, वन स्टोप सखी सेन्टर की टीम उपस्थित रही व महिलाओं व बालिकाओं पर हो रही हिंसा के उन्मूलन के लिए चलाये जा रहे प्रयासो के बारे में बताया गया। इन्दिरा महिला शक्ति केन्द्र द्वारा महिलाओं के आर्थिक व सामाजिक सशक्तिकरण के लिए विभाग द्वारा चलायी जा रही योजनाओं के बारे में बताया गया। इन्दिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना, शिक्षा सेतु इन्दिरा महिला कौशल संवर्धन योजना के बारे में बताया गया।