boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे bhilwarah[email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

टास्क फोर्स समिति की बैठक संपन्न

टास्क फोर्स समिति की बैठक संपन्न

भीलवाड़ा (हलचल)। आईपीई ग्लोबल विकास क्षेत्र की सलाहकार बहुराष्ट्रीय संस्था है जो कि विभिन्न देशों और भारत के कई राज्यों के साथ मिलकर सकारात्मक बदलाव लाने की दिशा में कार्य कर रही है। राजस्थान में उड़ान परियोजना के अन्तर्गत किशोरी गर्भावस्था को रोकने के लिये 360 डिग्री दृष्टिकोण के साथ क्रियान्वयन कर रही है। उड़ान परियोजना त्रिस्तरीय रणनीति के अन्तर्गत शिक्षा विभाग के साथ मिलकर बालिकाओं को माध्यमिक विद्यालयों में नामांकन करवाना एवं उनकी शिक्षा को सतत बनाये रखना, शिक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग के मिलकर किशोरियों में यौन एवं प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति ज्ञान, रवैया और आचरण में सुधार लाने एवं स्वास्थ्य विभाग के साथ कार्य करते हुए विभिन्न गर्भनिरोधक माध्यमों की पहुंच महिलाओं तक सुनिश्चित करने के लिए कार्य कर रही है।
उड़ान परियोजना के अन्तर्गत भीलवाड़ा जिले के बालिका शिक्षा, बाल विवाह, एवं किशोर गर्भावस्था को लेकर जिले के पांच ब्लॉक- मांडल, सुवाणा, शाहपुरा, बिजौलिया एवं बनेड़ा के चयनित गांवों में विभिन्न माध्यमों जिसमें माता-पिता, प्रभुत्वशाली व्यक्तियों, पंचायत प्रतिनिधियों, किशोरियों, युवाओं आदि से बातचीत कर इन मुद्दों का मूल्यांकन किया गया तथा मूल्यांकन का विश्लेषण कर रिपोर्ट तैयार की गई। आईपीई ग्लोबल की जिला छात्रवृत्ति मित्र इमराना खानम द्वारा सामुदायिक सहभागिता के सहयोग से किये गये मुल्यांकन एवं मूल्यांकन के परिणामों एवं उन परिणामों के आधार पर गाँव में परिवर्तन लाने हेतु एक 16 सदस्यीय टास्क फोर्स समिति का गांव स्तर पर गठन किया गया।
चयनित समस्त ग्रामों में टास्क फोर्स समिति की बैठक का आयोजन किया गया जिसमें सामुदायिक सहभागिता के सहयोग से किये गये मूल्यांकन एवं परिणामों को साझा किया गया।
बैठक के अंत में निष्कर्ष निकला कि यदि सामुदायिक सहभागिता के सहयोग से समय-समय पर मूल्यांकन कर इन मुद्दों पर चर्चा हो एवं निगरानी रखी जाये तो बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने, बाल विवाह को रोकने एव किशोर गर्भावस्था को कम किया जा सकता है। बैठक में उड़ान परियोजना से गोविंद सिंह एवं राजदीप सिंह ने भी विचार रखे।