boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

देश के प्रख्यात कलाकारों की प्रस्तुती के साथ उदयपुर चैप्टर स्मृतियां ईकॉन्सर्ट के 20 वें संस्करण का समापन

देश के प्रख्यात कलाकारों की प्रस्तुती के साथ उदयपुर चैप्टर स्मृतियां ईकॉन्सर्ट के 20 वें संस्करण का समापन

 राजसमन्द (राव दिलीप सिंह) शनिवार की शाम संगीत प्रेमियों के साथ साथ विश्वविख्यात संगीतज्ञों के लिए भी कुछ खास थी। दक्षिण और उत्तर भारतीय संगीत की जुगलबंदी के साथ 15 वर्षिय नवोदित प्रतिभा कौस्तुभ की तबले और शास्त्रीय संगीत की प्रस्तुती से श्रोता मंत्रमुग्ध हो गये। स्मृतियां ईकाॅन्सर्ट उदयपुर चैप्टर के दर्शकों को कौस्तुभ मणिपुश्प कुंज ने रोमांचित कर दिया। ऑनलाइन टैलेंट हंट ‘प्रतिभा‘ के विजेता अजमेर की इस विलक्षण प्रतिभा ने अपनी प्रस्तुती से दर्शकों की खुब तालियां बटोरी।

राजस्थान के स्थानीय कलाकारों को विश्व स्तर पर प्रस्तुती का अवसर प्रदान करने के लिए टैलेंट हंट ‘प्रतिभा‘ की शुरूआत की गयी। राजस्थान के उदयपुर, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, भीलवाड़ा और अजमेर जिलों से इस हेतु प्रतिभाओं को आमंत्रित किया गया था। इन 100 से अधिक प्रतिभाओं ने भजन सम्राट अनुप जलोटा, पद्म श्री कत्थक गुरु शोवना नारायण, तबला वादक पंडित चरणजीत चतुरलाल और भारतीय प्रसिद्ध बांसुरी वादक पंडित रोनू मजूमदार के समक्ष अपनी प्रस्तुती दी। जिन्होंने 6 प्रतिभागियों अजमेर से कौस्तुभ मणिपुश्प कुंज और नवदीप सिंह झाला, उदयपुर से  नीरज मिस्त्री, विनय कडेल, मो. तबरीज और आरीज़ एवं राजसमंद से द राजसमंद गु्रप के  हर्षित पुरबिया, निमिषा पगारिया, रक्षा पगारिया और कोमल नागरची का अंतिम दौर में प्रस्तुती हेतु चयन किया जिसमें कौस्तुभ को विजेता घोषित किया गया। कौस्तुभ हिंदुस्तानी क्लासिकल वोकल और इंस्ट्रूमेंटल तबला कलाकार हैं जिन्होंने चार साल की उम्र में अपनी संगीत यात्रा शुरू की थी। उन्होंने पहले भी जिला, राज्य, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई पुरस्कार जीते हैं।

समारोह में देश के प्रख्यात संगीत उस्तादों ने भी प्रस्तुती दी। डॉ। मैसूर मंजूनाथ, पं गौरव मजूमदार, विदवान बीसी मंजूनाथ और प्रांशु चतुर लाल  ने दक्षिण और उत्तरभारतीय संगीत रागों की बहुप्रतीक्षित जुगलबंदी प्रस्तुत की। उत्तर और दक्षिण संगीत के भावपूर्ण संलयन को वायलिन, सितार, मृदगंम और तबले पर इन कलाकारों ने प्रस्तुत कर रोमांचित कर दिया।  

इस गौरवमयी और भारत के विख्यात एवं श्रेष्ठ कलाकारों के साथ मंच साझा करते हुए कौस्तुभ ने हिंदुस्तान जिंक और पंडित चतुरलाल मेमोरियल सोसाइटी को इस अविस्मरणीय सफल आयोजन के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि ‘‘महामारी की स्थिति के दौरान इस प्रकार का आयोजन अद्वितीय है। मैं इस अवसर के लिए आभारी और सम्मानित हूं जिसके कारण विश्व प्रसिद्ध कलाकारों के समक्ष ऑडिशन और प्रस्तुती संभव हुई। मैं उनकी सराहना, आशीर्वाद और मार्गदर्शन के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं। यह मेरे लिए सपने के सच होने जैसा है।‘‘

हिन्दुस्तान जिं़क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूण मिश्रा ने कहा कि हिंदुस्तान जिंक हमेशा सीएसआर की पहल के  तहत् अन्य परियोजनाओं के साथ ही स्थानीय प्रतिभाओं को बढ़ावा देने और सांस्कृतिक कार्यक्रमों को प्रोत्साहित करने में अग्रणी रहा है। इसी क्रम में नवीन पहल के तहत् कंपनी द्वारा राजस्थान के स्थानीय कलाकारों को विश्वस्तरीय मंच प्रदान करने का अवसर देने हेतु टेलैंट हंट ‘प्रतिभा‘ को जनवरी 2021 में स्मृतियां के लॉन्च किया गया।

भारतीय शास्त्रीय लोक संगीत और नृत्य हमेशा हमारी संस्कृति और विरासत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहे हैं। हिंदुस्तान जिंक ने हमेशा नवोदित प्रतिभाओं को प्रोत्साहित किया और उन्हें  कला को सीखने और विकसित करने के लिए विभिन्न प्लेटफार्म प्रदान कर प्रोत्साहित किया। प्रतिभा टैलेंट हंट एक ऐसी अनूठी पहल है जिसे हमने अपने आस पास के स्थानीय गाँवों और समुदायों से छिपी हुई प्रतिभाओं की खोज की है।  कौस्तुभ जैसी अद्भुत प्रतिभा इसकी सफलता को सुनिश्चित करता है। कौस्तुभ को उज्ज्वल भविष्य हेतु शुभकामनाएं।

30 शानदार वर्षों को चिह्नित करते हुएए पंडित चतुर लाल महोत्सव ने हिंदुस्तान जिंक के साथ मिलकर स्मृति संस्करण का आयोजन किया। कंसर्ट श्रृंखला राजस्थान स्टेट माइंस एंड मिनरल्स लिमिटेड द्वारा सह प्रायोजित है।डिजिटल पार्टनर के  रूप में आईसीसीआर और इण्डियन रागा एवं   हॉस्पिटैलिटी पार्टनर रैडिसन ब्लू प्लाजा दिल्ली एयरपोर्ट द्वारा प्रायोजित है।

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu